Tuesday, April 16, 2024
Homeदेश-समाजमंदिर में तोड़फोड़: AAP MLA इमरान हुसैन ने दिया मॉब का साथ, किसी को...

मंदिर में तोड़फोड़: AAP MLA इमरान हुसैन ने दिया मॉब का साथ, किसी को नहीं रोका – चश्मदीद का दावा

अगर दरवाजे बंद नहीं किए जाते तो वो लोग अंदर घुसकर सबकी हत्या कर देते। वो लोग लगातार पत्थर फेंक रहे थे और गालियाँ भी दे रहे थे - मंदिर के पुजारी

दिल्ली के चाँदनी चौक स्थित हौजकाजी के एक मंदिर में पत्थर बरसाने और तोड़ फोड़ करने वाली इस्लामी भीड़ को आम आदमी पार्टी के विधायक इमरान हुसैन का समर्थन होने की बात सामने आई है। इस घटना के दौरान मूर्तियों को विखंडित कर दिया गया था और अल्लाहु अकबर के नारे भी लगाए थे। चश्मदीदों के मुताबिक विधायक हुसैन भी इस सांप्रदायिक भीड़ के समर्थन में मौके पर पहुॅंचे थे। फिलहाल इलाके में हालात सामान्य है, लेकिन पूरे घटनाक्रम को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुप्पी हैरान करने वाली है। टाइम्स ऑफ इंडिया के पत्रकार राज शेखर झा के अनुसार, इस मामले में 3 बदमाशों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उनमें से एक कथित तौर पर नाबालिग है। राज शेखर ने बताया कि समुदाय विशेष के स्थानीय लोगों के समर्थन और बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा होने के बाद क्षेत्र में तनाव बढ़ गया था।

खबर के मुताबिक, चांदनी चौक इलाके में लाल कुआँ में 30 जून को दोपहर 12 बजे के करीब इस्लामी भीड़ ने दुर्गा माता मंदिर पर धावा बोलकर मूर्तियों को विखंडित कर दिया। इस भीड़ में तकरीबन 300 से 400 लोग शामिल थे। जब स्थानीय हिंदुओं ने भीड़ को रोकने की कोशिश की, तो इस्लामी भीड़ ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया।

इस मामले में एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। इसके मुताबिक, यह अकस्मात घटी घटना नहीं थी। जो तथ्य सामने आ रहे हैं उससे लगता है कि सुनियोजित तरीके से घटना अंजाम दी गई। बड़ी संख्या में दूसरे मजहब को इकट्ठा करने के लिए एक समुदाय विशेष के शख्स की मौत की झूठी खबर पहले व्हाट्सएप ग्रुपों के जरिए फैलाई गई। इससे जाहिर है कि इस क्षेत्र में हिंदुओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर हिंसा की योजना पहले से ही बनाई जा रही थी।

इस बीच, ‘जन की बात’ के सीईओ प्रदीप भंडारी ने एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें एक चश्मदीद ने बताया कि समुदाय विशेष के नशे में धुत कुछ युवक उनके घर के नीचे इकट्ठा हो गए थे और जब आस-पास के लोगों ने उन्हें मंदिर के अंदर जाने से रोकने की कोशिश की तो उन्होंने करीब 400 लोगों को हमला करने के लिए बुला लिया। चश्मदीद का कहना है कि इस दौरान आप विधायक इमरान हुसैन भी वहाँ आए और उन्होंने इस्लामी भीड़ का समर्थन किया।

प्रदीप भंडारी ने एक और वीडियो शेयर किया है, जिसमें मंदिर के पुजारी कह रहे हैं कि अगर दरवाजे बंद नहीं किए जाते तो वो लोग अंदर घुसकर सबकी हत्या कर देते। वो लोग लगातार पत्थर फेंक रहे थे और गालियाँ भी दे रहे थे।

पुलिस ने इस्लामी युवकों द्वारा मंदिर पर हमले की पुष्टि की है। केंद्रीय मंत्री और चांदनी चौक से भाजपा सांसद डॉ हर्षवर्धन ने मंगलवार (जुलाई 2, 2019) सुबह घटनास्थल का दौरा किया और शांति की अपील करते हुए घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि इस घटना को अंजाम देने वालों को माफ नहीं किया जा सकता। हर्षवर्धन का कहना है कि उन्हें बताया गया है कि पुलिस पहले से ही इस मामले में कार्रवाई कर रही है। दोषियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और सजा दी जाएगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सोई रही सरकार, संतों को पीट-पीटकर मार डाला: 4 साल बाद भी न्याय का इंतजार, उद्धव के अड़ंगे से लेकर CBI जाँच तक जानिए...

साल 2020 में पालघर में 400-500 लोगों की भीड़ ने एक अफवाह के चलते साधुओं की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी थी। इस मामले में मिशनरियों का हाथ होने का एंगल भी सामने आया था।

‘मोदी की गारंटी’ भी होगी पूरी: 2014 और 2019 में किए इन 10 बड़े वादों को मोदी सरकार ने किया पूरा, पढ़ें- क्यों जनता...

राम मंदिर के निर्माण और अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से लेकर नागरिकता संशोधन अधिनियम को अधिसूचित करने तक, भाजपा सरकार को विपक्ष के लगातार कीचड़ उछालने के कारण पथरीली राह पर चलना पड़ा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe