Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजचांदनी चौक मंदिर तोड़फोड़: मोहम्मद ज़ुबैर और अनस गिरफ़्तार, एक का पहले से है...

चांदनी चौक मंदिर तोड़फोड़: मोहम्मद ज़ुबैर और अनस गिरफ़्तार, एक का पहले से है आपराधिक रिकॉर्ड

पुलिस ने बाकियों की भी गिरफ़्तारी का आश्वासन दिया है।

दिल्ली के चावड़ी बाजार इलाक़े में मंदिर में तोड़फोड़ मचाने के मामले में पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ़्तार किया है, उनमें से एक ऐसा आरोपित भी है, जिस पर पहले से ही आपराधिक मामले दर्ज हैं। गिरफ़्तार आरोपितों में से मोहम्मद ज़ुबैर और मोहम्मद अनस में से एक ऐसा है, जो पहले भी चोरी-चकारी के आरोप में गिरफ़्तार हो चुका है। ख़बर के अनुसार मंदिर में अब पहले की भाँति पूजा-अर्चना शुरू हो चुकी है और स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। पुलिस ने पूरे क्षेत्र को किले में तब्दील कर दिया है और सादे ड्रेस में भी निगरानी के लिए जवानों को तैनात किया गया है। गिरफ़्तार आरोपितों में एक नाबालिग भी शामिल है।

दरअसल, रविवार (जून 30, 2019) की रात समुदाय विशेष के कुछ लोग घुस आए और उन्होंने तोड़-फोड़ मचाई। उन्होंने भगवान शिव, भगवान गणेश व अन्य देवताओं की प्रतिमाओं को विखंडित कर दिया। यह घटना हौज़ काजी की है। यह घटना का वीडियो पूरे सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसमें देखा जा सकता है कि मंदिर में प्रतिमाओं के आगे लगे ग्लास तक को नहीं बख़्शा गया और उसे भी तोड़ डाला गया। इसके बाद समुदाय के लोगों ने भड़काऊ एवं उत्तेजक नारे लगाए। उन्होंने ‘अल्लाहु अकबर’ चिल्लाते हुए सड़कों पर भी आतंक पैदा किया।

कल मंगलवार को हालात को सामान्य करने के लिए पुलिस अधिकारियों ने अमन कमिटी की बैठक बुलाई, जिसमें समाज के कई प्रबुद्ध नागरिक शामिल हुए। इस बैठक में विभिन्न समुदायों के प्रतिनिधि शामिल हुए। समुदाय विशेष के प्रतिनिधि ने मंदिर को दोबारा बनवाए जाने की बात कही। हिन्दू समाज के प्रतिनिधि ने पुलिस को सकारात्मक रोल निभाने के लिए धन्यवाद अदा किया। भाजपा नेता विजय गोयल और आम आदमी पार्टी नेता इमरान हुसैन ने भी बैठक में हिस्सा लिया। पुलिस ने बाकियों की भी गिरफ़्तारी का आश्वासन दिया है।

हालाँकि, दिल्ली के चाँदनी चौक स्थित हौजकाजी के एक मंदिर में पत्थर बरसाने और तोड़ फोड़ करने वाले समुदाय विशेष के लोगों को आम आदमी पार्टी के विधायक इमरान हुसैन का समर्थन होने की बात सामने आई है। एक चश्मदीद ने बताया कि नशे में धुत कुछ दूसरे समुदाय के युवक उनके घर के नीचे इकट्ठा हो गए थे और जब आस-पास के लोगों ने उन्हें मंदिर के अंदर जाने से रोकने की कोशिश की तो उन्होंने करीब 400 लोगों को हमला करने के लिए बुला लिया। चश्मदीद का कहना है कि इस दौरान आप विधायक इमरान हुसैन भी वहाँ आए और उन्होंने इस्लामी भीड़ का समर्थन किया।

केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने इस पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल वोट बैंक की राजनीति के कारण इस घटना को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe