बिहार: शिवभक्तों की गाड़ी पर पथराव, महिला श्रद्धालुओं को भी नहीं बख्शा

मौक़े पर पहुँची पुलिस पर भी उपद्रवियों ने पथराव किया। स्थिति नियंत्रित करने के लिए पुलिस काे लाठीचार्ज करना पड़ा फिर जाकर किसी तरह मामला शांत हुआ।

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कांटी थाना क्षेत्र में सोमवार (अगस्त 12, 2019) को डीजे बजाने से रोकने को लेकर विशेष समुदाय के लोगों ने शिवभक्तों के साथ मारपीट की। जानकारी के मुताबिक घटना के दौरान न केवल जमकर मारपीट और पत्थरबाजी हुई बल्कि लोगों की बाइक और साइकलें भी फूँक दी गई। साथ ही कुछ मुस्लिम युवकों द्वारा डीजे की गाड़ी को भी तोड़ डाला गया। जिसका वीडियो आप खबर के नीचे दिए लिंक में देख सकते हैं। पूरी घटना में पाँच लोग गंभीर रूप से घायल होने की खबर है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो मामला शांत कराने के लिहाज से मौक़े पर पहुँची पुलिस पर भी उपद्रवियों ने पथराव किया, जिसमें कुछ पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। स्थिति नियंत्रित करने के लिए पुलिस काे लाठीचार्ज करना पड़ा फिर जाकर किसी तरह मामला शांत हुआ। पूरे मामले के मद्देनजर फिलहाल तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। तनावपूर्ण स्थिति के कारण जिलाधिकारी एसएसपी समेत भारी संख्या में पुलिस कैंप कर रही। इलाके में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कांटी थाना क्षेत्र के दामोदरपुर चकमुरमुर में 500 की संख्या में महिलााएँ जलभरी कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए निकली थीं कि इसी बीच डीजे बजाने को लेकर दो पक्षों में कहासुनी के बाद मारपीट होने लगी। कुछ असामाजिक तत्वों ने जलभरी गाड़ी के साथ तोड़-फोड़ किया और श्रद्धालुओं के साथ मारपीट की। देखते ही देखते दोनों पक्षों के लोग बड़ी संख्या में जुट गए। पत्थरबाजी होने लगी। मुस्लिम पक्ष के लोगों ने डीजे की गाड़ी को तोड़ डाला और लोगो को पिटाई कर दी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने बताया कि जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है उसपर नामजद एफआईआर किया जाएगा। जो भी लोग शामिल है उसपर कड़ी करवाई की जाएगी। घटना से संबंधी वीडियो आप नीचे ऑपइंडिया के यूट्यूब लिंक पर जाकर देख सकते हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अमानतुल्लाह ख़ान, जामिया इस्लामिया
प्रदर्शन के दौरान जहाँ हिंसक घटना हुई, वहाँ AAP विधायक अमानतुल्लाह ख़ान भी मौजूद थे। एक तरफ केजरीवाल ऐसी घटना को अस्वीकार्य बता रहे हैं, दूसरी तरफ उनके MLA पर हिंसक भीड़ की अगुवाई करने के आरोप लग रहे हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,919फैंसलाइक करें
26,833फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: