Monday, October 25, 2021
Homeदेश-समाजबेटी की कब्र पर आने वाला था दाऊद इब्राहिम, 10 शूटर कर रहे थे...

बेटी की कब्र पर आने वाला था दाऊद इब्राहिम, 10 शूटर कर रहे थे इंतजार… जानें कैसे बच निकला

कभी दाऊद गिरोह का सदस्य रहा एजाज बाद में छोटा राजन के गैंग में शामिल हो गया था। बाद में पैसे के बँटवारे को लेकर छोटा राजन से मतभेद होने के बाद उसने अपना अलग गिरोह बना लिया और नीदरलैंड में रहकर ड्रग तस्करी वगैरह का धंधा चला रहा था।

22 साल बाद बीते 8 जनवरी को गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला पटना से पकड़ा गया था। मुंबई पुलिस ने पटना पुलिस की मदद से उसे दरभंगा जाते वक्त पकड़ा था। फरारी के दौरान एजाज ने कई बार रूप-रंंग बदला। अपनी फर्जी पहचान के हिसाब से जीवनशैली भी बदली। असली पहचान छिपाने के लिए हिंदू नामों का इस्तेमाल किया। पूछताछ के दौरान एजाज ने मुंबई पुलिस को कई अहम जानकरियॉं दी हैं। इसमें से कई डी गैंग के सरगना दाऊद इब्राहिम से जुड़ी हैं।

मुंबई मिरर की रिपोर्ट के अनुसार एजाज ने पुलिस को बताया है कि साल 1998 में वह छोटा राजन के राइटहैंड
विक्की मल्होत्रा की 10 लोगों की टीम का हिस्सा था। इस टीम में फरीद तनाशा, बालू डोकरे, विनोट मटकर, संजय घाटे और बाबा रेड्डी जैसे लोग शामिल थे। इस टीम ने दाऊद को मार गिराने के लिए कराची की एक दरगाह के बाहर कई दिनों तक इंतजार किया था।

एजाज ने बताया कि दाऊद की बेटी मारिया की मौत के बाद छोटा राजन ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान तैयार किया। इसके लिए विक्की मल्होत्रा के नेतृत्व में शूटरों की एक टीम ने कराची की उस दरगाह के बाहर दाऊद का इंतजार किया। यहाँ दाऊद अपनी बेटी की कब्र पर आने वाला था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मिर्जा दिलशाद बेग ने आखिरी वक्त में इसकी जानकारी दाऊद को दे दी और यह प्लान फेल हो गया। मिर्जा नेपाल का सांसद और दाऊद का करीबी सहयोगी था। बकौल एजाज, इससे छोटा राजन इतना नाराज हुआ कि उसी साल मिर्जा को मार गिराया गया।

गौरतलब है कि कभी दाऊद गिरोह का सदस्य रहा एजाज बाद में छोटा राजन के गैंग में शामिल हो गया था। बाद में पैसे के बँटवारे को लेकर छोटा राजन से मतभेद होने के बाद उसने अपना अलग गिरोह बना लिया और नीदरलैंड में रहकर ड्रग तस्करी वगैरह का धंधा चला रहा था।

लकड़ावाला ने मुंबई पुलिस को यह भी बताया है कि दाऊद की थाइलैंड और बांग्लादेश में भी अच्छी पकड़ है। इन दोनों देशों के जरिए वह भारत, यूरोप और अन्य देशों में ड्रग भेजता है। बता दें, खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि एजाज़ की जेल में हत्या की दाऊद साजिश रच रहा है। इसके कारण डी गैंग से जुड़े खुलासे हैं।

एजाज़ ने मोस्टवांटेड दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान के कराची में दो घरों का पता भी बताया है। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के शीर्ष अधिकारियों ने मुताबिक दाऊद के एक घर का पता 6ए, खायाबन तंजीम फेज-5, डिफेंस हाउसिंग एरिया, कराची और दूसरे घर का पता डी-13, ब्लॉक-4, क्लिफ्टॉन, कराची है। दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम और उसका खास छोटा शकील भी डिफेंस हाउसिंग एरिया में ही रहते हैं।

हिंदू बनकर छिपा था दाऊद इब्राहिम का शूटर एजाज, आधार कार्ड बनवाने जा रहा था दरभंगा
पटना में क्या कर रहा था दाऊद का गुर्गा एजाज लकड़ावाला, बेटी ने खोल दिए राज
भगोड़े गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला की बेटी सोनिया शेख गिरफ़्तार, फर्जी पासपोर्ट पर बच्चे के साथ भाग रही थी विदेश

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदाऊद इब्राहिम, डी गैंग, दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान, दाऊद इब्राहिम कराची, दाऊद इब्राहिम छोटा राजन, दाऊद इब्राहिम मिर्जा दिलशाद बेग, एजाज लकड़ावाला दरभंगा, एजाज लकड़ावाला बिहार, एजाज लकड़ावाला काठमांड, एजाज लकड़ावाला क्राइम, क्राइम न्यूज, अपराध की खबरें, एजाज लकड़ावाला मुंबई पुलिस, एजाज लकड़ावाला कारोबार, एजाज लकड़ावाला की बेटी गिरफ्तार, गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला, भगोड़ा आर्थिक अपराधी, भगोड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम 2018, मुंबई अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड की खबरें, छोटा राजन गैंग, मुंबई क्राइम ब्रांच, डी गैंग, दाऊद इब्राहिम, डी कंपनी, बि​हार से आतंकियों की गिरफ्तारी, एजाज लकड़ावाला पटना से गिरफ्तार,
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Pak के लिए जासूसी कर रहा BSF जवान मोहम्मद सज्जाद गिरफ्तार, कश्मीर का है रहने वाला: भेजता था गुप्त सूचनाएँ, मिलते थे पैसे

गुजरात आतंक निरोधी दस्ता (ATS) ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले 'सीमा सुरक्षा बल (BSF)' के जवान मोहम्मद सज्जाद को गिरफ्तार किया है।

जिसकी बेटी-बीवी तक को इस्लामी कट्टरपंथियों ने नहीं छोड़ा, आज उसी के नाम पर खेल रहे ‘मुस्लिम कार्ड’: ताकि दब जाए पटाखों का शोर

मोहम्मद शमी का नाम लेकर 'मुस्लिम कार्ड' खेला जा रहा है, ताकि देश के कई हिस्सों में भारतीय टीम की हार के जश्न में उड़े पटाखों की चर्चा न हो।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,693FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe