Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस पार्टी को बड़ा झटका: ₹16.38 करोड़ की नेशनल हेराल्ड की 11 मंजिला इमारत...

कॉन्ग्रेस पार्टी को बड़ा झटका: ₹16.38 करोड़ की नेशनल हेराल्ड की 11 मंजिला इमारत को ED ने किया जब्त

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कॉन्ग्रेस प्रमोटेड एसोसिएटेड जर्नल्‍स लिमिटेड (AJL) की 16.38 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया है। ED की ओर से शनिवार (मई 9, 2020) को जारी प्रोविजनल अटैचमेंट ऑर्डर के मुताबिक, मनी लॉन्ड्रिंग के एक केस में यह ऐक्‍शन लिया गया है। ये इमारत मुंबई के बांद्रा में स्थित है।

नेशनल हेराल्‍ड मामले में कॉन्ग्रेस पार्टी के लिए नई मुसीबत खड़ी हो गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कॉन्ग्रेस प्रमोटेड एसोसिएटेड जर्नल्‍स लिमिटेड (AJL) की 16.38 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया है। ED की ओर से शनिवार (मई 9, 2020) को जारी प्रोविजनल अटैचमेंट ऑर्डर के मुताबिक, मनी लॉन्ड्रिंग के एक केस में यह ऐक्‍शन लिया गया है। ये इमारत मुंबई के बांद्रा में स्थित है।

बांद्रा स्थित यह प्लॉट उस समय सुर्खियों में आया था, जब बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी पर नेशनल हेराल्ड की संपत्तियों में हेरफेर करने का आरोप लगाया था। इसके बाद कॉन्ग्रेस नेताओं को अदालत में जाना पड़ा था। बता दें कि 1983 में यह संपत्ति बांद्रा में नेशनल हेराल्ड को रियायती दरों पर अखबार प्रकाशित करने के लिए प्रदान की गई थी। 

पत्रकार जे गोपीकृष्णन ने आरोप लगाया कि हरियाणा में पंचकुला में नेशनल हेराल्ड की इसी प्लॉट पर AJL ने सिंडिकेट बैंक की दिल्ली ब्रांच से मुंबई के बांद्रा में इस 11 मंजिला बिल्डिंग को बनाने के लिए लोन ले रखा है, जिसकी कीमत करीब 120 करोड़ रुपए है।

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने 2019 में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत 64.93 करोड़ रुपए की गुरुग्राम की संपत्ति कुर्क की थी।

ईडी की जाँच के अनुसार, साल 1982 में कंपनी के अनुरोध पर नवजीवन अखबार शुरू करने के लिए पंचकुला के सेक्टर 6 में प्लॉट नंबर C-17, सेक्टर 6 को AJL को आवंटित किया गया था। जिसमें ये शर्त भी थी कि दस साल के अंदर इस जमीन पर बिल्डिंग बनकर अखबार निकालने का काम भी शुरू हो जाएगा, लेकिन तय समय में ना तो बिल्डिंग बनी और ना ही अखबार शुरू हुआ।

शर्तों के उल्लंघन के बाद ये जमीन 30.10.1992 को वापस HUDA यानी Housing Urban Development Authority जिसे अब HSVP Haryana Sehri Vikas Pradhikaran बना दिया गया है, के पास आ गई। AJL ने वापस इस जमीन को लेने की कोशिश की, लेकिन साल 1995 और 1996 में माँग को खारिज कर दिया गया।

इसी तरह, प्रवर्तन निदेशालय ने इससे पहले दिसंबर 2018 में एसोसिएटेड जर्नल्स एंड नेशनल हेराल्ड केस के मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा आवंटित मोहाली में 30 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की थी।

मोतीलाल वोरा एजेएल के मैनेजिंग डायरेक्‍टर हैं। इस कंपनी पर गांधी परिवार का दखल है। एजेएल ही नेशनल हेराल्‍ड अखबार को चलाता है। इस अखबार को साल 1939 में जवाहरलाल नेहरू ने शुरू किया था। 1956 में AJL एक कंपनी बनी। साल 2008 में इसके सारे पब्लिकेशंस बंद कर दिए गए। तब कंपनी पर 90 करोड़ रुपये का कर्ज हो गया। 

इसके बाद कॉन्ग्रेस नेतृत्व ने ‘यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड’ नाम की एक नई अव्यवसायिक कंपनी बनाई। इसमें सोनिया और राहुल गाँधी सहित मोती लाल वोरा, सुमन दुबे, ऑस्कर फर्नांडिस और सैम पित्रोदा को निदेशक बनाया गया। नई कंपनी में सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी के पास 76 प्रतिशत शेयर थे जबकि बाकी के 24 प्रतिशत शेयर अन्य निदेशकों के पास थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe