Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजकंगना रनौत को थप्पड़ मारने वाली CISF सिपाही के समर्थन में 3 'किसान' संगठन:...

कंगना रनौत को थप्पड़ मारने वाली CISF सिपाही के समर्थन में 3 ‘किसान’ संगठन: मोहाली में निकाले मार्च, माँ और भाई भी कुलविंदर कौर के साथ

संयुक्त किसान मोर्चा के नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के अपनी रणनीति बताई। उन्होंने कहा कि महिला सिपाही के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर भाजपा सांसद कंगना रनौत को थप्पड़ मर कर सस्पेंड हुई महिला CISF कॉन्स्टेबल कुलविंदर कौर के समर्थन में कथित किसान यूनियनों ने मार्च निकाली है। किसानी के नाम पर बने कई संगठनों ने 9 जून (रविवार) को मोहाली में ‘इंसाफ मार्च’ में हिस्सा लिया। यह प्रदर्शन कुलविंदर कौर पर हुई कार्रवाई के विरोध में प्रस्तावित है। सुबह 10 बजे मोहाली के फेज 8 में अंब साहिब गुरुद्वारा से शुरू होकर यह मार्च सेक्टर 76 स्थित एसएसपी कार्यालय की तरफ बढ़ा। प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस प्रदर्शन में भारतीय किसान नौजवान यूनियन, संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर संघर्ष समिति आदि संगठन शामिल हैं। संयुक्त किसान मोर्चा के नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के अपनी रणनीति बताई। उन्होंने कहा कि महिला सिपाही के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दल्लेवाल के अलावा किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने भी कहा कि वो मामले की उचित जाँच के लिए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौरव यादव से मिलेंगे।

कुलविंदर कौर की करतूत का भाई-माँ से समर्थन

बताते चलें कि यह घटना गुरुवार (6 जून) की है। तब भाजपा सांसद कंगना रनौत चंडीगढ़ के शहीद भगत सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर फ्लाइट पकड़ने गईं थीं। इंट्री के दौरान होने वाली सुरक्षा जाँच में कुलविंदर कौर ने कंगना को थप्पड़ मारा था। बाद में उन्होंने अपने कृत्य को जायज भी ठहराया था। कुलविंदर ने बताया कि वो कंगना के उस बयान से नाराज थीं, जिसमें महिलाओं को पैसे लेकर धरना देने की बात कही गई थी। कुलविंदर कौर ने अपनी माँ को भी उस धरने में शामिल बताया था।

इस घटना के तुरंत बाद कुलविंदर को सस्पेंड कर दिया गया था। उन पर IPC की धारा 323 व 341 के तहत FIR भी दर्ज की गई है। महिला कॉन्स्टेबल के पति भी CISF में तैनात हैं। फ़िलहाल उनकी पोस्टिंग जम्मू में है। अपुष्ट खबरों के मुताबिक कुलविंदर के पति को भी छुट्टी पर भेज दिया गया है।

अब कुलविंदर कौर का भाई शेर सिंह भी अपनी बहन के समर्थन में खुल कर आ गया है। शेर सिंह महिलावल किसानों के एक गुट का नेतृत्व करते हैं। वो किसान मजदूर संघर्ष समिति के संगठनात्मक सचिव के रूप में भी काम कर रहे हैं।

कुलविंदर के समर्थन में मोहाली में प्रदर्शन कर रहे 3 संगठनों में शेर सिंह का भी गुट शामिल है। कुलविंदर की माँ भी अपनी बेटी के समर्थन में आ गई है। उन्होंने अपनी बेटी की करतूत को सही ठहराया है। कुलविंदर की माँ का मानना है कि किसानों के लिए कंगना के बयान से उनकी बेटी भड़क गई होगी।

इस बीच CISF के उत्तरी क्षेत्र एयरपोर्ट के DIG विनय काजला का भी इस मामले में बयान आया है। उन्होंने कहा कि किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान कंगना रनौत के बयान से कुलविंदर नाराज थीं।

DIG ने दावा किया कि कुलविंदर ने माफी माँगी है और अपनी हरकत से CISF की छवि पर बट्टा लगने की बात भी स्वीकारी है। ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार DIG काजला ने कुलविंदर को दयालू साबित करने के लिए उनके द्वारा 15 दिनों पहले एक लड़की को चॉकलेट खिलाने जैसे बातों का भी जिक्र किया है।

DIG काजला ने यह स्वीकार किया कि जिस जगह की घटना है, वहाँ कुलविंदर की तैनाती नहीं थी। घटना के समय कुलविंदर कंगना के बगल से गुजर रही थी। उन्हें कंगना के आने की सूचना पंजाब पुलिस के एक स्टाफ से मिली थी। CISF के पास पूरी घटना का CCTV फुटेज है। फ़िलहाल मामले की गहराई से जाँच करवाई जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -