Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाज'लड़कियों का रेप हुआ, जबरन जला दिया': उन्नाव मामले पर कॉन्ग्रेस नेता उदित राज...

‘लड़कियों का रेप हुआ, जबरन जला दिया’: उन्नाव मामले पर कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने फैलाई फेक न्यूज़, यूपी पुलिस ने दर्ज की FIR

उन्नाव पुलिस ने कहा है कि पूर्व सांसद ने उक्त ट्वीट जानबूझ कर मनगढंत और फर्जी ख़बरें फैलाने के लिए किया गया। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई गई। इसीलिए, उनके खिलाफ कोतवाली सदर उन्नाव थाना में IPC की धारा-155 और आईटी एक्ट 66 के तहत FIR दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जा रही है।

कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने उन्नाव में दो लड़कियों की मौत और एक की गंभीर स्थिति वाली घटना को लेकर रेप की झूठी अफवाह फैलाई है। यूपी पुलिस ने कॉन्ग्रेस नेता के इस झूठ का पर्दाफाश किया है। उदित राज ने दावा किया था कि उनकी पूर्व सांसद सावित्रीबाई फुले से बात हुई है और पुलिस ने उन्हें बड़ी मुश्किल से उन्नाव के पीड़ित परिजनों से मिलने दिया। उदित राज ने लिखा, “पीड़ित परिजनों ने बताया है कि बच्चियों के साथ बलात्कार हुआ है।”

उन्होंने ये भी दावा कर डाला कि मर्जी के खिलाफ मृतक लड़कियों की लाशें जला दी गईं। उन्नाव पुलिस ने प्रेस रिलीज के माध्यम से इस झूठ का भंडाफोड़ करते हुए बताया कि असोहा थाना अंतर्गत बबुरहा में हुई घटना में उदित राज ने भ्रामक, गलत और साक्ष्यों की उपेक्षा करके आक्रोश फैलाने वाली पोस्ट की है। ‘मृतकों के साथ बलात्कार होने और उनकी लाशें बिना मर्जी के जलाने’ वाली बात झूठी अफवाह है।

उन्नाव पुलिस ने कहा कि जनमानस को भड़काने के लिए इस तरह का बयान दिया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दोनों लड़कियों के साथ किसी भी प्रकार के बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है। ऊपर से सच्चाई ये है कि शवों को जलाया भी नहीं गया है, उन्हें दफनाया गया है। ये काम पुलिस ने नहीं, परिजनों ने ही किया है। पुलिस ने कहा कि ये सब बिना किसी दबाव के स्वेच्छापूर्ण तरीके से किया गया। उदित राज ने फेक न्यूज़ फैलाई।

उन्नाव पुलिस ने झूठी अफवाहों का किया भंडाफोड़

उन्नाव पुलिस ने कहा है कि पूर्व सांसद ने उक्त ट्वीट जानबूझ कर मनगढंत और फर्जी ख़बरें फैलाने के लिए किया गया। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई गई। इसीलिए, उनके खिलाफ कोतवाली सदर उन्नाव थाना में IPC की धारा-155 और आईटी एक्ट 66 के तहत FIR दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जा रही है। उदित राज ने पुलिस पर केस की लीपापोती का आरोप लगाया था। उन्होंने यूपी भवन पर प्रदर्शन भी किया।

बता दें कि पड़ताल में पता चला है कि पूरा मामला एक तरफा प्रेम का था। लड़कियों की कीटनाशक पिलाकर हत्या करने की कोशिश हुई थी, जिनमें 2 की मौत हो गई। इस बात को आरोपित विनय ने स्वयं स्वीकार किया है। उसने बताया कि लड़की के इंकार करने पर उसने पानी की बोतल में कीटनाशक मिलाकर उसे पिलाया, लेकिन वह पानी अन्य दोनों लड़कियों ने भी पी लिया। तीनों लड़कियाँ दोनों आरोपित लड़कों को जानती थीं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आ पाएँगे दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल, हाई कोर्ट ने बेल पर लगाई रोक: ED ने बताया- अब...

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट से बेल मिलने के बाद भी अभी सीएम केजरीवाल जेल से रिहा नहीं होंगे। ईडी के विरोध पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेल पर रोक लगा दी है।

साल भर में 70% कम हुआ स्विस बैंकों में रखा धन, 2019 से भारत के साथ जानकारी साझा कर रहा है स्विट्जरलैंड: जानिए क्यों...

भारत में ग्राहक जमा खातों और अन्य बैंक शाखाओं के माध्यम से रखी गई धनराशि में भी काफी गिरावट आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -