Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजशामली के दो मदरसों पर छापा: मौलाना हफीउल्ला, वासिफ और असरफ के साथ 4...

शामली के दो मदरसों पर छापा: मौलाना हफीउल्ला, वासिफ और असरफ के साथ 4 विदेशी गिरफ्तार

ये संदिग्ध विदेशी जलालाबाद के मदरसों में छिपकर रह रहे थे। इनमें से एक अब्दुल मजीद जलालाबाद के मदरसा अशरफिया में बतौर मौलवी बच्चों को पढ़ाता था। इसके अलावा अब्दुल मजीद ने जलालाबाद के मदरसा मिफ्ताउल उलूम में भी छात्रों के रूप में रिजवान और फुरकान को रखा हुआ था।

उत्तर प्रदेश में इन दिनों मदरसों में होने वाली अवैध गतिविधियाँ पुलिस के निशाने पर है। पिछले दिनों बिजनौर में पुलिस ने मदरसे पर छापेमारी कर हथियारों की खेप बरामद की थी, तो अब शामली पुलिस ने सोमवार (जुलाई 29, 2019) को दो मदरसों पर छापा मार कर चार विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए चारों विदेशी नागरिक मदरसे में मौलवी और छात्र बनकर रहते थे और मूल रुप से ये म्यांमार के रहने वाले बताए जा रहे हैं। इनके पास से संदिग्ध वीजा और पासपोर्ट मिले हैं।

पुलिस ने आरोपितों को संरक्षण देने के आरोप में तीन मदरसा संचालकों- मौलाना हफीउल्ला, कारी वासिफ व मौलवी असरफ हुसैन को भी गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक, ये सभी विदेशी नागरिक कई सालों से शामली के मदरसों में पढ़ा रहे थे। फिलहाल मामले की जाँच की जा रही है और गिरफ्तार किए गए आरोपितों से स्थानीय पुलिस, खुफिया विभाग और एटीएस की टीम पूछताछ कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, ये संदिग्ध विदेशी जलालाबाद के मदरसों में छिपकर रह रहे थे। इनमें से एक अब्दुल मजीद जलालाबाद के मदरसा अशरफिया में बतौर मौलवी बच्चों को पढ़ाता था, जिसने नौमान अली नाम के एक शख्स को बतौर छात्र अपने पास रखा हुआ था। इसके अलावा अब्दुल मजीद ने जलालाबाद के मदरसा मिफ्ताउल उलूम में भी छात्रों के रूप में रिजवान और फुरकान को रखा हुआ था। ये भी यहाँ पर अवैध रुप से रह रहे थे। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है।

अब्दुल मजीद और उसके साथ रहने वाले नौमान के बारे में मदरसा अशरफिया के कारी वासिफ सब कुछ जानते थे। इसके अलावा मदरसा मिफ्ताउल उलूम के मौलाना हफीउल्ला को भी अपने यहाँ पढ़ रहे दोनों छात्रों के विदेशी होने और यहाँ अवैध रूप से ठहरने की जानकारी थी। पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 समेत विदेशी अधिनियम की धारा 14 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपितों के कब्जे से भारतीय नागरिकता के दस्तावेज, भारतीय रुपए, म्यांमार करेंसी, एटीएम, फोन भी बरामद किए गए हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe