Tuesday, February 7, 2023
Homeदेश-समाजकैदी नंबर 956 आर्यन की रिहाई के लिए माँ गौरी खान ने रखी 'मन्नत',...

कैदी नंबर 956 आर्यन की रिहाई के लिए माँ गौरी खान ने रखी ‘मन्नत’, नहीं खाएँगी ‘मीठा’

वहीं, शाहरुख खान की मैनेजर पूजा डडलानी ने भी इंस्टाग्राम पर देवी दुर्गा की फोटो शेयर की है। यह तस्वीर उन्होंने 14 अक्टूबर की सुनवाई से पहले शेयर की थी। उन्होंने लिखा, 'शुक्रिया माता रानी'। ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं थीं कि शायद गुरुवार को आर्यन को जमानत मिल जाए, पर ऐसा हो न सका।

ड्रग्स केस में बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से पिता शाहरुख खान और माँ गौरी खान की नींदे उड़ीं हुईं हैं। एक तरफ लाख कोशिशों के बावजूद बेटे को जमानत नहीं मिल रही, दूसरी तरफ जेल की मुश्किल भरी जिंदगी है। ये सोच-सोच कर कि आर्यन कैसे दिन काट रहे होंगे, गौरी खान परेशान हैं। अब इन मुश्किलों से बाहर निकलने के लिए उन्होंने भगवान की शरण ली है।

गौरी ने माँगी ‘मन्नत’

शाहरुख खान और गौरी खान के एक पारिवारिक मित्र ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया है कि शाहरुख और गौरी दोनों की हर बीतते दिन के साथ चिंता बढ़ती जा रही है। गौरी ने बेटे के लिए नवरात्रि में मन्नत माँगी हैं। आमतौर पर ये धारणा है कि मन्नत पूरी होने के लिए अपनी कोई सबसे प्यारी चीज छोड़ी जाती है। ऐसे में गौरी ने मीठा खाना पूरी तरह से छोड़ दिया है। अब जब तक उनके लाडले आर्यन घर नहीं आ जाते, गौरी मीठे को हाथ भी नहीं लगाएँगी।

आगे एक्टर के करीबी दोस्त ने कहा कि शाहरुख खान ने अपने सेलिब्रिटी दोस्तों से भी बार-बार मन्नत नहीं आने की गुजारिश की है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि शाहरुख खान और गौरी ने अपने परिवार के सदस्यों और करीबी दोस्तों से आर्यन के लिए प्रार्थना करने के लिए कहा है। हालाँकि, सलमान खान अब तक कई बार मन्नत आ चुके हैं।

गुरुवार को जमानत की थी उम्मीद

वहीं, शाहरुख खान की मैनेजर पूजा डडलानी ने भी इंस्टाग्राम पर देवी दुर्गा की फोटो शेयर की है। यह तस्वीर उन्होंने 14 अक्टूबर की सुनवाई से पहले शेयर की थी। उन्होंने लिखा, ‘शुक्रिया माता रानी’। ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं थीं कि शायद गुरुवार को आर्यन को जमानत मिल जाए, पर ऐसा हो न सका। कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका पर अब 20 अक्टूबर को फैसला देने का निर्णय किया है।

आर्थर रोड जेल में कैदी नंबर 956 बने आर्यन खान

आर्यन खान को फिलहाल मुंबई के आर्थर रोड जेल में रखा गया है। पहले उन्हें क्वारंटीन बैरक दिया गया था, लेकिन अब वह नॉर्मल बैरक में आ गए हैं। आर्यन खान को आर्थर रोड जेल में 956 कैदी नंबर दिया गया है। जेल में रहते हुए यही उनकी पहचान होगी और इसी नंबर से उन्हें बुलाया जाएगा। सभी ट्रायल वाले कैदियों को नंबर दिया जाता है और इसीलिए आर्यन खान को भी नंबर मिला है। 

इसके अलावा, आर्यन खान को जेल की कैंटीन से खाना खाने के लिए उनके परिवार से मनी ऑर्डर मिला है। परिवार ने 11 अक्टूबर को आर्यन के लिए 4500 रुपए भेजे हैं। जेल के नियमों के अनुसार, एक कैदी को एक महीने में सिर्फ 4500 रुपए का मनी ऑर्डर पाने की इजाजत है।

ये है पूरा मामला

बता दें कि आर्यन खान को एनसीबी ने 2 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे जहाज में ड्रग्स पार्टी के दौरान एनसीबी ने छापेमारी कर गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ही आर्यन खान जेल में है। हालाँकि, आर्यन खान की जमानत याचिका पर 14 अक्तूबर को स्पेशल एनडीपीएस कोर्ट में कई घंटे तक सुनवाई चली, लेकिन कोर्ट ने 20 अक्टूबर तक फैसला सुरक्षित रख लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आफताब ने श्रद्धा की हड्डियों को पीस कर बनाया पाउडर, जला डाला चेहरा, डस्टबिन में डाल दी थी आँतें, ₹2000 की ब्रीफकेस में पैक...

आफताब ने पुलिस को यह भी बताया है कि उसने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की थी। उसी दिन श्रद्धा के अकांउट से अपने अकाउंट में 54000 रुपए भेजे थे।

‘मैं रामचरितमानस को नहीं मानती, तुलसीदास कोई संत नहीं’: सपा MLA को तुलसीदास के ग्रन्थ से दिक्कत, कहा – हिम्मत है तो मेरी ताड़ना...

सपा विधायक पल्लवी पटेल ने कहा है कि वह रामचरितमानस को नहीं मानती हैं और इसमें शूद्र शब्द हटाने के लिए आंदोलन करेंगी। उनके लिए तुलसीदास संत नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,281FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe