Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजसीता माता पर अभद्र टिप्पणी: पायलट आसिफ खान ने सोशल मीडिया पर दी सफाई,...

सीता माता पर अभद्र टिप्पणी: पायलट आसिफ खान ने सोशल मीडिया पर दी सफाई, GoAir ने बदला टर्मिनेशन का फैसला

सीता माता पर अभद्र टिप्पणी मामले में गोएयर (GoAir) ने आसिफ नाम के अपने कर्मचारी का टर्मिनेशन वापस ले लिया है। अब उन्हें गोएयर ने केवल मामले की जाँच पड़ताल तक सस्पेंशन पर रखा है।

सोशल मीडिया पर ट्विटर हैंडल से सीता माता पर अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में एक ट्रेनी ऑफिसर को कुछ समय पहले गो एयर ने टर्मिनेट किया था। लेकिन, अब फेसबुक पर उनका पोस्ट आने के बाद गोएयर (GoAir) ने आसिफ नाम के अपने कर्मचारी का टर्मिनेशन वापस ले लिया है। अब उन्हें गो एयर ने केवल मामले की जाँच पड़ताल तक सस्पेंशन पर रखा है।

गोएयर का यह फैसला आसिफ के उस पोस्ट के बाद सामने आया है, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि हिंदू देवी सीता माता पर अभद्र टिप्पणी करने वाले वह नहीं थे। बल्कि वो आसिफ अलग है। इस पोस्ट में उन्होंने बताया था कि उनके ऊपर लगे आरोपों के कारण वह 2 दिन से नारकीय घटनाक्रम से गुजर रहे हैं।

विवादित पोस्ट के मद्देनजर आसिफ ने यह भी दावा किया कि उन्हें तो इस पोस्ट के बारे में उस समय मालूम चला था, जब वरिष्ठ अधिकारियों का उन्हें कॉल आया। उन्होंने जब ट्विटर देखा तो पता चला कि उनके नाम से अभद्र टिप्पणियाँ की गई हैं। इसके बाद उन्होंने इस संबंध में एफआईआर भी की।

5 जून को पूरे मामले पर अपना पक्ष रखते हुए आसिफ ने दावा किया कि वो उनका अकाउंट नहीं है। साथ ही उन्होंने GoAir से इस मामले में जाँच की गुहार लगाते हुए न्यायिक व्यवस्था में भरोसा जताने की बात कही। उनका कहना था कि उनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।

उन्होंने लिखा, “मै स्पष्ट करना चाहता हूँ कि मेरे नाम पर जो भी टिप्पणी की गई, वो उस पाखंडी की राय है। मेरा या मेरी कंपनी का इससे कोई लेना-देना नहीं है। मेरा बस यही कहना है कि इस मामले में निष्पक्ष तौर पर जाँच की जाए, क्योंकि इससे मेरे पूरे परिवार, काफी तनाव में आ गया है। खासतौर से मेरे पिता जो इस समय काफी बीमार हैं।”

उल्लेखनीय है कि इससे पहले ख़बर आई थी कि सोशल मीडिया पर सीता माता को लेकर अभद्र टिप्पणी करने वाले ट्रेनी ऑफिसर आसिफ खान को गोएयर (GoAir) ने बाहर का रास्ता दिखा दिया।

आसिफ खान के नाम वाले ट्विटर हैंडल से की गई अभद्र टिप्पणी

एयरलाइन ने कहा था कि किसी व्यक्ति या कर्मचारी के निजी विचारों से उसका कोई लेना-देना नहीं है। गोएयर ने कहा था कि उनकी नीति सभी कर्मचारियों के लिए शून्य सहिष्णुता की है, जिसमें कर्मचारियों को रोजगार नियमों का पालन करना पड़ता है, इसमें सोशल मीडिया पर व्यवहार भी शामिल है।

बता दें कि इससे पूर्व रूपा मूर्ति नाम की सोशल मीडिया यूजर ने एक ट्वीट शेयर किया था, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि जिस आसिफ खान ने ये हरकत की थी, वो GoAir के केबिन क्रू का हिस्सा है जबकि जिस आसिफ खान को GoAir ने निकाल बाहर किया है, वो पायलट है।

रूपा ने अभद्र टिप्पणी करने वाले आसिफ खान और पायलट आसिफ खान के प्रोफाइल का स्क्रीनशॉट शेयर किया। इसमें दिख रहा था कि आरोपित आसिफ खान ने खुद को GoAir के केबिन क्रू का हिस्सा बताया है और साथ ही राजनीतिक विज्ञान का छात्र भी लिखा है। उसने अपनी प्रोफाइल पर लिखा है कि वो सेक्युलर है और अंधभक्त नहीं है। वहीं पायलट आसिफ खान ने अपना लोकेशन मुंबई डाला हुआ है। उसकी प्रोफाइल पर दिलीप मंडल का ट्वीट रीट्वीट हुआ दिख रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

ईसाई बने तो नहीं ले सकते SC वर्ग के लिए चलाई जा रही केंद्र की योजनाओं का फायदा: संसद में मोदी सरकार

रिपोर्ट्स बताती हैं कि आंध्र प्रदेश में ईसाई धर्म में कन्वर्ट होने वाले 80 प्रतिशत लोग SC वर्ग से आते हैं, जो सभी तरह की योजनाओं का लाभ उठाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe