Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजप्रणब मुखर्जी को 'भारत रत्न' दे कर सरकार ने एक कॉन्ग्रेसी का किया है...

प्रणब मुखर्जी को ‘भारत रत्न’ दे कर सरकार ने एक कॉन्ग्रेसी का किया है सम्मान: अभिजीत मुखर्जी

अभिजीत ने कहा कि उनके पिता ने अपने 50 साल के सार्वजनिक जीवन में कई काम किए। उन्होंने इस बात को भी स्वीकारा कि राजनीति में आलोचनाएँ तो होती ही हैं, लेकिन कुछ फ़ैसले कभी भी राजनीति से प्रेरित नहीं होते हैं।

केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, समाजसेवी नाना जी देशमुख (मरणोपरांत) और साथ ही असम के गायक भुपेन हजारिका (मरणोपरांत) को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित करने की घोषणा की है। जिसके बाद से कई दिग्गजों की प्रतिक्रियाएँ देखने को मिली। प्रतिक्रियाओं की इस सूची में एक नाम प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी का भी है।

पिता को भारत रत्न मिलने की घोषण पर अभिजीत मुखर्जी ने अपनी प्रसन्नता ज़ाहिर करते हुए कहा है कि देश ने उनके पिता को ये सम्मान उनके काम के लिए दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा उनके पिता को दिए जाने वाला ये सम्मान राजनैतिक विचारधाराओं से ऊपर उठकर दिया गया है।

अभिजीत ने अपने पिता के बारे में कहा कि उनके पिता (प्रणब मुखर्जी) ने अपने 50 साल के सार्वजनिक जीवन में कई काम किए। उन्होंने इस बात को भी स्वीकारा कि राजनीति में आलोचनाएँ तो होती ही हैं, लेकिन कुछ फ़ैसले कभी भी राजनीति से प्रेरित नहीं होते हैं।

अभिजीत ने कहा कि वो अपने पिता को मिलने वाले सम्मान पर प्रतिक्रिया बतौर बेटे के रूप में दे रहे हैं न कि कॉन्ग्रेसी नेता के रूप में। इस सम्मान के लिए अभिजीत ने अधिक खुशी इसलिए भी ज़ाहिर की क्योंकि ये एक कॉन्ग्रेसी का सम्मान है।

आजतक से हो रही अपनी इस पूरी बातचीत में अभिजीत ने बताया कि वो और उनका परिवार कॉन्ग्रेसी है। अपनी ओर इशारा करते हुए उन्होंने बताया कि प्रणब मुखर्जी की तीसरी पीढ़ी इस वक्त कॉन्ग्रेसी है।

प्रणव मुखर्जी के बेटे के बाद उनकी बेटी शर्मिष्ठा ने भी अपने पिता को मिलने वाले सर्वोच्च नागरिक सम्मान पर खुशी को जताते हुए कहा कि यह समय उनके और उनके परिवार के लिए बेहद आनंद और गर्व का क्षण है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विनम्रता से देश की जनता के प्रति आभार प्रकट करते हुए ट्वीट किया और कहा कि वो हमेशा ऐसा मानते रहे हैं कि देश की जनता ने उन्हें, उनके द्वारा जनता की सेवा से कहीं ज़्यादा सम्मान और प्यार दिया है:

इसके साथ ही पीएम मोदी ने भी इन तीनो शख्सियतों को मिलने वाले सम्मान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रणब दा अपने समय के बेहतरीन व्यक्तित्व हैं। पीएम ने कहा कि प्रणब मुखर्जी ने दशकों तक देश की निस्वार्थ बिना थके सेवा की है। हमारे देश के विकास पथ में उनका गहरा योगदान है। पूर्व राष्ट्रपति की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि उनके ज्ञान और मेधा की बराबरी कुछ ही लोग कर पाते हैं।


 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe