गुजरात पुलिस की गिरफ्त में नक्सली नेता कोबाड गाँधी, देशद्रोह के मामले में 23 साथी पहले ही हो चुके हैं गिरफ्तार

नक्सल गतिविधियों को लेकर गॉंधी सहित 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। इनमें से एक अभी भी फरार है। गॉंधी झारखंड के हजारीबाग जेल में बंद था। उसे स्थानांतरण वारंट पर गुजरात पुलिस सूरत लेकर आई है।

कुख्यात नक्सली नेता कोबाड गॉंधी को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। देशद्रोह के नौ साल पुराने एक मामले में उसके 23 साथी पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं। मामला दक्षिणी गुजरात में नक्सली गतिविधियों को फैलाने से जुड़ा है।

इस मामले में गॉंधी सहित 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। इनमें से एक अभी भी फरार है। गॉंधी झारखंड के हजारीबाग जेल में बंद था। उसे स्थानांतरण वारंट पर गुजरात पुलिस सूरत लेकर आई है।

पुलिस उपाधीक्षक सीएम जडेजा के मुताबिक़, 68 साल के माओवादी विचारक को न्यायिक मजिस्ट्रेट एचआर ठकोर की कोर्ट में पेश किया गया था। उन्होंने उसे सूरत ग्रामीण पुलिस के हवाले कर दिया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पुलिस उपाधीक्षक ने बताया कि 2010 में सूरत ज़िले की कामरेज पुलिस ने दक्षिण गुजरात में नक्सल गतिविधियों का प्रचार करने के लिए गाँधी समेत 25 के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की गई थी। कोबाड गाँधी से पहले, इस मामले में 23 आरोपित गिरफ़्तार किए जा चुके हैं। फ़िलहाल, सीमा हिरानी नाम की एक आरोपित पुलिस की गिरफ़्त से दूर है।

ख़बर के अनुसार, ओडिशा में पकड़े गए नक्सलियों ने बयान दिया था कि दक्षिण गुजरात में नक्सली गतिविधियों को फैलाने का काम चल रहा है। इस बयान के आधार पर दक्षिण गुजरात में FIR दर्ज की गई थी। कोबाड गाँधी की रिमांड पर लेकर पुलिस यह दक्षिण गुजरात में नक्सली गतिविधियों को बढ़ावा देने में उसकी भूमिका को लेकर पूछताछ करेगी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: