Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजपैरोल पर बाहर आएगा गुरमीत राम रहीम सिंह, पंजाब चुनाव से पहले बढ़ी सियासी...

पैरोल पर बाहर आएगा गुरमीत राम रहीम सिंह, पंजाब चुनाव से पहले बढ़ी सियासी हलचल: ‘डेरा सच्चा सौदा’ में जश्न का माहौल

बता दें कि 'डेरा सच्चा सौदा' हरियाणा के सिरसा में स्थित है। पंजाब के मालवा क्षेत्र की 69 सीटों पर इसका प्रभाव बताया जाता है।

बलात्कार और हत्या के मामले में जेल की सज़ा काट रहा ‘डेरा सच्चा सौदा’ का मुखिया गुरमीत राम रहीम सिंह पैरोल पर बाहर निकल सकता है। वो फ़िलहाल हरियाणा के रोहतक जेल में बंद है। पंजाब में अगले दो सप्ताह में विधानसभा चुनाव भी होने हैं, ऐसे में उसके बाहर आने से राजनीतिक सरगर्मी भी बढ़ गई है। बताया जाता है कि पंजाब के 23 जिलों में 300 बड़े डेरे हैं, जो चुनावों को प्रभावित करते रहे हैं। माझा, मालवा और दोआब में इन डेरों का खास वर्चस्व है।

बता दें कि ‘डेरा सच्चा सौदा’ हरियाणा के सिरसा में स्थित है। पंजाब के मालवा क्षेत्र की 69 सीटों पर इसका प्रभाव बताया जाता है। सुनारिया जेल के बाहर गुरमीत राम रहीम सिंह की रिहाई को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था भी बढ़ा दी गई है। उसने 21 दिन के ‘फर्लो’ (पैरोल) का आवेदन दिया था, जिसे हरियाणा के जेल विभाग ने मंजूर कर लिया है। रोहतक के कमिश्नर के हस्ताक्षर के बाद उसे बाहर लाए जाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। सिरसा डेरे को भी इसकी जानकारी मिल गई है।

इसके बाद वहाँ मौजूद उसके भक्त भी जश्न मना रहे हैं। वहाँ से एक काफिला रोहतक के सुनारिया जेल के लिए भी निकला है, जो गुरमीत राम रहीम सिंह को वापस लेकर आएगा। उस पर दो साध्वियों के बलात्कार के अलावा दो हत्याओं के मामले में भी सज़ा हो चुकी है। हरियाणा के जेल मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने हाल ही में पैरोल को हर कैदी का हक़ बताया था। उसे इस शर्त पर पैरोल मिली है कि वो लगातार पुलिस की निगरानी में रहेगा और डेरा में ही अधिकतर समय व्यतीत करेगा।

बता दें कि 1948 में शाह मस्ताना ने ‘डेरा’ की स्थापना की थी। इसके बाद 1960 में शाह सतनाम को इसका प्रमुख बताया गया। गुरमीत राम रहीम सिंह जब 1990 में इसकी गद्दी पर बैठा था, तब उसकी उम्र महज 23 वर्ष ही थी। 2006-07 में उसने डेरा के राजनीतिक मोर्चे का भी गठन किया। इसमें उसने अपने विश्वासपात्र लोगों को डाला। हर राज्य की 45 सदस्यों वाली कोर कमिटी भी गठित की गई। पंजाब का प्रभावशाली बादल परिवार और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी उसके दरबार में हाजिरी लगा चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -