Thursday, August 18, 2022
Homeदेश-समाज'मुस्लिम NDTV वालों के जीजा-जमाई हैं': हिंदू-विरोधी रूख को लेकर गुरुग्राम के नाराज हिंदुओं...

‘मुस्लिम NDTV वालों के जीजा-जमाई हैं’: हिंदू-विरोधी रूख को लेकर गुरुग्राम के नाराज हिंदुओं ने की खिंचाई, नमाज वाली जगह किया हवन

ट्वीट में मोहम्मद ग़ज़ाली ने कहा था, "ये वाला ग्रुप सुबह पार्क में अलोम विलोम (योग) करते हुए ऑक्सीजन के साथ ज़हर भी ख़ूब उगलते हैं।" इस ट्वीट के जरिए ग़ज़ाली ने सार्वजनिक स्थान पर मुस्लिमों की नमाज पर आपत्ति करने के लिए हिंदुओं पर तंज कसा था।

हरियाणा के गुरुग्राम के सेक्टर-37 स्थित एक सार्वजनिक स्थान पर बीते 19 नवंबर को नमाज पढ़ने के लिए गए मुस्लिमों ने वहाँ क्रिकेट खेल रहे खांडसा गाँव के लड़कों के साथ दुर्व्यवहार और मारपीट की थी। इसके विरोध में खांडसा गाँव के लोगों ने हिंदू संगठनों के साथ मिलकर उसी स्थान पर हवन किया है। इस बीच मुस्लिमों को इस काम को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीणों ने एनडीटीवी चैनल के खिलाफ भी नारेबाजी की।

स्वराज्य की पत्रकार स्वाति गोयल शर्मा ने इससे जुड़ा एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है, जिसमें नाराज हिंदुओं को मुस्लिमों के खिलाफ प्रेम प्रदर्शित करने और हिंदुओं के खिलाफ घृणा फैलाने के लिए न्यूज चैनल NDTV की आलोचना करते हुए सुना जा सकता है। वीडियो में एक स्थानीय व्यक्ति कह रहा है, “ये एनडीटीवी वाले एक बार भी वसीम रिजवी के पास नहीं गए। ओवैसी हिंदुओं को गाली बकता है, एनडीटीवी वाले उसके पास उसके पास नहीं गए, क्योंकि एनडीटीवी वालों के लिए सारे मुसलमान उनके लिए जीजा और जमाई हैं।”

NDTV पत्रकार ने हिंदुओं को बदनाम करने की थी कोशिश

गुरुग्राम के खांडसा गाँव में हिंदुओं का गुस्सा एनडीटीवी के पत्रकार मोहम्मद ग़ज़ाली के 15 अक्टूबर के ट्वीट का परिणाम प्रतीत होता है। इस ट्वीट में उन्होंने हिंदुओं को बदनाम करने और सार्वजनिक स्थान पर नमाज़ के नाम पर किए गए उपद्रव को सही ठहराने की कोशिश की थी। दरअसल, मुस्लिमों द्वारा गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थान पर नमाज पढ़ने के विरोध में हिंदुओं ने शांतिपूर्ण विरोध किया था। इसके कुछ घंटों के बाद एनडीटीवी के पत्रकार ने हिंदू विरोधी ट्वीट किए थे।

ट्वीट में मोहम्मद ग़ज़ाली ने कहा था, “ये वाला ग्रुप सुबह पार्क में अलोम विलोम (योग) करते हुए ऑक्सीजन के साथ ज़हर भी ख़ूब उगलते हैं।” इस ट्वीट के जरिए ग़ज़ाली ने सार्वजनिक स्थान पर मुस्लिमों की नमाज पर आपत्ति करने के लिए हिंदुओं पर तंज कसा था। खास बात यह है कि मोहम्मद गजाली को क्षेत्र में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ने वाले अपने धर्म के लोगों के व्यवहार में कहीं कोई गलत नहीं दिखा।

युवाओं के साथ दुर्व्यवहार के बाद ग्रामीणों ने मुस्लिमों को किया आगाह

इस बीच गुरुग्राम के खांडसा गाँव के लोगों और हिंदू संगठनों ने उसी मैदान में हवन किया, जहाँ गाँव के लोगों का मुस्लिमों द्वारा नमाज अदा करने के मामले को लेकर हाथापाई हुई थी। 19 नवंबर को सेक्टर 37 के स्थानीय लोगों ने शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए सार्वजनिक मैदान पर मुस्लिमों के एकत्र होने का विरोध किया था।

यह मैदान खांडसा गाँव में स्थित है। स्थानीय लोग न सिर्फ गाड़ियाँ लगाने के लिए इसका उपयोग करते हैं, बल्कि इलाके के युवा यहाँ क्रिकेट खेलते हैं। आरोप है कि नमाज पढ़ने पहुँची मुस्लिम भीड़ ने इस मैदान में क्रिकेट खेल रहे लड़कों के साथ बदतमीजी की थी। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस सार्वजनिक मैदान पर वो किसी भी प्रकार का अवैध कब्ज़ा नहीं होने देंगे। जब मुस्लिम भीड़ नमाज पढ़ने आई तो वहाँ क्रिकेट खेल रहे लड़कों ने अपने गाँव के सार्वजनिक मैदान को खाली करने से इनकार कर दिया। लोगों का कहना था कि सार्वजनिक जगहों पर नमाज से स्थानीय लोगों और यात्रियों को परेशानी होती है।

हंगामा होने के बाद सेक्टर-10 और सेक्टर-37 के लोग वहाँ पहुँचे। इसके बाद दोनों पक्ष थाने पहुँचे, जहाँ पुलिस ने समझौता कराने की कोशिश की। हालाँकि, इसके बाद मुस्लिमों को नमाज पढ़ने की इजाजत दे दी गई। लेकिन, स्थानीय युवकों ने स्पष्ट कह दिया है कि सार्वजनिक मैदान में वो अगले जुमे से नमाज नहीं पढ़ने देंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड बनवा रहा है PFI : पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा

फर्जी दस्तावेज से पीएफआई बनवा रहा है रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड। पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,056FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe