Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजअब्दुल की गाड़ी से टक्कर में मर गया गो तस्कर वारिस, गो रक्षकों की...

अब्दुल की गाड़ी से टक्कर में मर गया गो तस्कर वारिस, गो रक्षकों की पिटाई से मौत कहकर कर रहे प्रचारित: पुलिस ने भी बताया एक्सीडेंट

वारिस और उसके साथी एक कार में गोवंश को ठूँसकर ये ले जा रहे थे। पुलिस से डरकर भागते वक्त इनकी कार अब्दुल करीम की गाड़ी से भिड़ गई। कार सवार गो तस्कर गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में वारिस की मौत हो गई।

हरियाणा के मेवात में सड़क हादसे में एक गो तस्कर की मौत हो गई। उसके दो साथी घायल हो गए। लेकिन कुछ लोग इस मामले को गो रक्षकों की पिटाई से मौत के तौर पर प्रचारित कर रहे हैं। पुलिस ने भी इसका खंडन किया है और बताया है कि मौत एक्सीडेंट में हुई है।

मरने वाले गो तस्कर की पहचान वारिस के तौर पर हुई है। उसके जख्मी साथी नफीस और शौकीन हैं। शनिवार (28 जनवरी 2023) को एक कार में गोवंश को ठूँसकर ये ले जा रहे थे। पुलिस से डरकर भागते वक्त इनकी कार अब्दुल करीम के टाटा एस टेंपो से भिड़ गई। दुर्घटना में कार सवार गो तस्कर गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में वारिस की मौत हो गई।

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना भिवाड़ी-तावडू मार्ग पर मौजूद खोरी कलां गाँव की है। लेकिन वारिस की मौत के बाद उसके परिजनों ने हादसे को हत्या बताना शुरू कर दिया। इस दौरान मृतक के परिजनों ने मोनू मानेसर नाम के एक गोरक्षक पर वारिस की पिटाई का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की माँग की।

इसके बाद सोशल मीडिया में इस घटना का हत्या के तौर पर प्रचार किया जाने लगा। मेवात में वारिस के परिजनों ने प्रदर्शन भी किया। प्रदर्शन में शामिल लोग एक वीडियो की चर्चा कर रहे थे, जिसमें वारिस से कुछ लोग पूछताछ कर रहे थे। हालाँकि वह वीडियो कब का है, किसने बनाया और कहाँ का है इसकी आधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है।

सोशल मीडिया पर इस मामले को ज़ाकिर अली त्यागी, मिल्लत टाइम्स, मोहम्मद सैफी, मोहम्मद तनवीर जैसे कई अन्य लोग तूल देते नजर आए।

जिसकी गाड़ी से हुई टक्कर उसने भी मारपीट को किया खारिज

जिस टाटा ऐस से वारिस की कार भिड़ी थी, उसका मालिक अब्दुल करीम है। करीम ने पुलिस को बताया है कि घटना के दिन वह अपने बेटे के साथ वाहन से मंडी में सब्ज़ी लेने जा रहा था। तभी सामने से आ रही सेंट्रो कार से गाड़ी की भिंड़त हो गई। करीम ने घटना की वजह कार चालकों की लापरवाही बताया है। अब्दुल करीम द्वारा पुलिस में दी गई शिकायत में बताया गया है कि सेंट्रो में गाय बेरहमी से ठूँसी हुई थी। शिकायत के मुताबिक घटना के कुछ देर बाद पुलिस और गोरक्षक मौके पर पहुँचे थे। बाद में तीनों गोतस्करों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया।

जिस वाहन से मृतक वारिस की सेंट्रो टकराई थी, उसमें सवार रहीस ने ऑपइंडिया से बात की। रहीस ने हमें बताया कि उनके आगे किसी भी प्रकार की कोई मारपीट नहीं हुई थी और पुलिस ने लगभग 15 मिनट बाद पहुँच कर तीनों कार सवारों को अपनी कस्टडी में लिया था।

पुलिस ने अब्दुल करीम की शिकायत पर वारिस, शौक़ीन और नफीस पर IPC की धारा 279, 337, 304 A, 427, 429 के साथ पशु क्रूरता अधिनियम की धारा 11 और गोवंश संरक्ष्ण व संवर्धन अधिनियम की धारा 13 (2) के तहत FIR दर्ज कर ली। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है। फ़िलहाल शौक़ीन और नफीस का पुलिस कस्टडी में इलाज चल रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नूंह जिले के पुलिस अधीक्षक IPS वरुण सिंगला ने वारिस की मौत की वजह एक्सीडेंट में घायल होना बताया है। SP नूंह के अनुसार दुर्घटना में कार की हैंडल वारिस के पेट और छाती में धँस गई थी। इससे उसे गंभीर आंतरिक चोटें आईं थीं। सिंगला के अनुसार इलाज में देरी की वजह से उसकी जान चली गई।

गोरक्षा के कारण साजिश

इस मामले में मृतक के परिजनों के आरोपों का सामना कर रहे गोरक्षक मोनू ने ऑपइंडिया से बात की। मोनू ने हमें बताया कि उन पर लगाए जा रहे आरोप निराधार और झूठे हैं। मोनू के मुताबिक वो इलाके में तस्करों से अक्सर गायों की रक्षा करते रहते हैं और यही वजह है कि वे निशाने पर हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -