Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजOYO के कमरे में गुप्त कैमरा, प्रेमी जोड़ों के वीडियो बना कर करते थे...

OYO के कमरे में गुप्त कैमरा, प्रेमी जोड़ों के वीडियो बना कर करते थे ब्लैकमेल: यूपी पुलिस ने अब्दुल सहित वसूली गिरोह के 4 को दबोचा, जामताड़ा से कनेक्शन

आरोपितों के खिलाफ नोएडा फेज 3 पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी) 386 (मौत/गंभीर चोट के डर से रंगदारी) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस ने ओयो (OYO) होटल्स के कमरों में गुप्त कैमरे लगाकर वीडियो बनाने और फिर ब्लैकमेल कर पैसे वसूलने वाले गिरोह के चार लोगों को गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीते दिनों एक लड़का अपनी महिला मित्र के साथ ओयो होटल में रुका था। इसके कुछ दिन बाद उसे होटल रूम का पर्सनल वीडियो भेजा गया। वीडियो भेजने वाले लोगों ने उससे पैसों की माँग की। जब लड़के ने पैसे भेजने से मना कर दिया तो इन लोगों ने वीडियो वायरल करने की धमकी दी थी। इसके बाद, लड़के ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

इस मामले में नोएडा सेंट्रल के एडीसीपी साद मियाँ खान ने कहा, “फेज 3 पुलिस स्टेशन में सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति अपनी महिला मित्र के साथ एक होटल में रुका था। लेकिन कुछ समय बाद उसे होटल में रुकने का वीडियो मिला और उससे रंगदारी की माँग की गई।”

उन्होंने आगे कहा कि इस मामले की जाँच करते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था। इन आरोपितों ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि वे कुछ दिन पहले उसी होटल के कमरे में रुके थे और वहाँ कैमरा लगाया था। बाद में जब ये पीड़ित लड़का और उसकी दोस्त वहाँ गए तो इन लोगों ने वीडियो रिकॉर्ड कर पैसे की माँग की।”

पुलिस ने जानकारी दी कि इसके अलावा, गिरफ्तार आरोपितों ने एक गिरोह के बारे में भी बताया जो बैंक पासबुक, सिम, एटीएम और अन्य बैंक सुविधाओं से युक्त किट उपलब्ध कराता है। इसमें किट बेचने वाले रैकेट के दो व्यक्ति शामिल पाए गए हैं, जिनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके संबंध जामताड़ा से भी पाए गए हैं।”

एडीसीपी साद मियाँ खान ने खुलासा करते हुए कहा है कि इन लोगों ने हाल ही में एक कॉल सेंटर चलाने वाले अनुराग को एक किट बेची थी। अनुराग 3 अवैध कॉल सेंटर चला रहा था और ड्यूटी-फ्री आईफोन बेच रहा था जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। अनुराग के लास लैपटॉप सहित विभिन्न सामग्री जब्त की गई है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपितों की पहचान खोड़ा निवासी अब्दुल वहाव, विष्णु सिंह निवासी गढ़ी चौखंडी, पंकज कुमार निवासी नोएडा और अनुराग कुमार निवासी विजय नगर गाजियाबाद के रूप में की है।

‘इंडियन एक्सप्रेस’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि आरोपितों के खिलाफ नोएडा फेज 3 पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी) 386 (मौत/गंभीर चोट के डर से रंगदारी) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने इन लोगों से 11 लैपटॉप, सात सीपीयू, 21 मोबाइल, 22 एटीएम कार्ड और अन्य कंप्यूटर सामग्री भी जब्त की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -