Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजहिंदू युवती ने घरवालों से लड़कर की आरिफ से शादी, 3 माह बाद अधजली...

हिंदू युवती ने घरवालों से लड़कर की आरिफ से शादी, 3 माह बाद अधजली अवस्था में हाईवे पर मिली

शिकायत में हिन्दू युवती ने अपने पति आरिफ का नाम लेते हुए कहा कि उसने आरिफ से प्रेम विवाह किया था। शादी के 1 माह बाद से ही आरोपित युवक उसको तमाम यातनाएँ देता था और विवाह के 3 माह बाद तो उसने उसे जला ही दिया।

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले में हाईवे से हिंदू युवती को जलाकर फेंकने की घटना प्रकाश में आई है। युवती ने 3 महीने पहले ही एक मुस्लिम समुदाय के लड़के से भागकर शादी की थी। पीड़िता की स्थिति को नाजुक देखते हुए उसे मेडिकल कॉलेज झाँसी में भर्ती कराया गया। पुलिस अब युवती के फरार पति आरिफ की तलाश में जुटी है।

घटना मंगलवार (6 जुलाई, 2021) दोपहर को सामने आई। जब 23 साल की युवती बुरी तरह जलने के बाद कानपुर-झाँसी हाईवे के ग्राम अजनारा के पास राधे ढाबा के सामने बेसहारा अवस्था में पड़ी सिसक रही थी। ढाबे के मालिक भानु राजपूत ने युवती की हालत देखकर फौरन इसकी जानकारी पुलिस को दी, जिसके बाद युवती को अस्पताल लाया गया, जहाँ पता चला पीड़िता 30 फीसद झुलस चुकी है।

ढाबे के आसपास के दुकानदारों का कहना है कि युवती करीब डेढ़ से 2 घंटे तक सड़क किनारे पड़ी तड़प रही थी। पुलिस के आने के बाद ही लोग भी उसे उठाने आगे आए। घटना की बाबत एएसपी ने बताया कि किस वजह से युवती को जलाया गया है, इसकी पूरी जानकारी आगे की पड़ताल के बाद ही सामने आ सकेगी।

वहीं, पुलिस को दिए बयान में लड़की ने खुद को झाँसी के पूंछ थानाक्षेत्र के ग्राम सेसा का बताया है। शिकायत में उसने अपने पति आरिफ का नाम लेते हुए कहा कि उसने आरिफ से प्रेम विवाह किया था। शादी के 1 माह बाद से ही आरोपित युवक उसको तमाम यातनाएँ देता था और विवाह के 3 माह बाद तो उसने उसे जला ही दिया।

पीड़िता का बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने उसके परिजनों को मामले में सूचित कर दिया है। सीओ सिटी का कहना है कि वह मामले में गहनता से पड़ताल कर रहे है। युवती ने अपने बयान में जिस आरिफ का नाम लिया है, उसकी तलाश की जा रही है।

पीड़िता के मुताबिक उसने घरवालों के खिलाफ जाकर उरई के बजरिया निवासी आरिफ खान के साथ कोर्ट मैरिज की थी। उस दौरान उसके पिता ने अपहरण और एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा कराया था लेकिन लड़की ने बयान दिया था कि उसने अपनी मर्जी से शादी की है जिसके बाद मुकदमा समाप्त हो गया।

पुलिस के अनुसार, युवक राजस्थान में कुछ काम करता है, पीड़िता भी उसके साथ वहीं रहती थी। हाल में आरिफ ने उसे जलाया और हाईवे पर फेंक दिया। गंभीर हालत के कारण वह पुलिस के सामने ज्यादा कुछ नहीं बोल पाई। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार लोग इस मामले को धर्मांतरण से भी जोड़ कर देख रहे हैं। माना जा रहा है कि आरिफ ने महिला पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाला और मना करने पर उसे जला दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe