Wednesday, October 21, 2020
Home देश-समाज जादवपुर यूनिवर्सिटी में 'बॉयज लॉकर रूम': जहाँ गूगल ड्राइव से लड़कियों की नग्न तस्वीरें...

जादवपुर यूनिवर्सिटी में ‘बॉयज लॉकर रूम’: जहाँ गूगल ड्राइव से लड़कियों की नग्न तस्वीरें होती रहीं सर्कुलेट

"यूनिवर्सिटी के छात्रों का एक ग्रुप गूगल ड्राइव के जरिए लड़कियों की नग्न और अर्धनग्न तस्वीरों को सर्कुलेट कर रहा है। इस ड्राइव का इस्तेमाल 2016 से ही हो रहा है।" - जिन्होंने यह जानकारी दी, उन्हें बहुत बड़ा झटका तब लगा, जब उन्होंने खुद की तस्वीर भी वहाँ पर देखी।

दिल्ली में विवादित इंस्टाग्राम ग्रुप बॉयज लॉकर रूम (Boys Locker Room/Bois Locker Room) का खुलासा होने के कुछ ही घंटों बाद कोलकाता से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया। कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय के कुछ पूर्व छात्रों पर इसी तरह की अश्लील और आपत्तिजनक चैट करने का आरोप है।

इसका खुलासा तब हुआ, जब ‘Aiyoobrows’ नामक ट्विटर यूजर ने सोमवार (मई 4, 2020) को इसको लेकर एक के बाद एक कई ट्विट्स किए। इसमें उन्होंने आरोप लगाया कि यूनिवर्सिटी के छात्रों का एक ग्रुप गूगल ड्राइव (Google Drive) के जरिए महिलाओं की नग्न और अर्धनग्न तस्वीरों को सर्कुलेट कर रहा है। उन्होंने बताया कि इस ड्राइव का इस्तेमाल 2016 से ही हो रहा है।

इस मामले में उन्होंने सौर्यदीप बसाक और इमान कल्याण घोष नामक दो लड़कों का नाम बताया। उन्होंने बताया कि ड्राइव सौर्यदीप बासक का है और इमानकल्याण का भी इसमें बराबर का हिस्सेदार है। उन्होंने कहा कि उन्हें यकीन है कि इसमें और भी लोग शामिल हैं, लेकिन उन्हें उन लोगों का नाम नहीं मालूम है। एक अन्य ट्विटर उपयोगकर्ता @SadMandalorion ने ‘Aiyoobrows’ के आरोपों पर कहा कि जब बाद में ‘Aiyoobrows’ इसका खुलासा करना चाहती थी तो उनसे पीड़ितों द्वारा कहा गया कि वो ऐसा न करें, क्योंकि इससे आगे उनके मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है।

उन्होंने आगे आरोप लगाया कि ये तस्वीर पीड़ितों के साथ धोखेबाजी करके प्राप्त की गई थी।

उन्होंने कुछ और पुरुषों के नाम भी लिए, जो कथित तौर पर महिलाओं की नग्न तस्वीरें शेयर करने में शामिल थे।

महिलाओं के स्क्रीनशॉट की कई तस्वीरें सोशल मीडिया में सर्कुलेट हो रही हैं, जहाँ पीड़ित इस घटना के बारे में बता रही हैं। 2015 में अपने साथ हुई एक घटना के बारे में बात करते हुए, एक महिला ने आरोप लगाया है कि वह ओडिशा में अंतरराष्ट्रीय MUN (मॉडल संयुक्त राष्ट्र) में भाग ले रही थीं, जहाँ बसाक ने कथित तौर पर उसे खुद की तस्वीर भेजने के लिए कहा था। कथित तौर पर बसाक ने उन्हें अपने लिंग की तस्वीर भेजी। फिर उसने (दबाव के कारण), अपनी इंटिमेट तस्वीर भेज दी। महिला ने सोचा था कि वह इसे बाद में डिलीट कर देगा। लेकिन वह यह जानकर हैरान रह गईं कि उसकी तस्वीर Google ड्राइव में थी और सर्कुलेट हो रही है।

Image credit: iDiva.com

सर्कुलेट हो रहे एक और स्क्रीनशॉट में दावा किया गया है कि किसी ने उनकी इंटिमेट तस्वीरों को शेयर करने के लिए झाँसे में लेने की कोशिश की थी। जब उनके साथ यह घटना हुई थी, उस समय वह 12 वीं में थी, यानी कि नाबालिग थी।

Image credit: iDiva.com

एक अन्य महिला ने जादवपुर यूनिवर्सिटी और उस गूगल ड्राइव के बारे में बात करते हुए अपना अनुभव साझा किया। इसमें वह  ‘First Year F*ck’ नामक किसी चीज के बारे में बात करती है, जिसमें एक शख्स प्रथम वर्ष के छात्राओं के साथ शारीरिक रूप से इंटीमेट होने की कोशिश करेगा। वह आरोप लगाती हैं कि उसे उसके करीबी दोस्तों द्वारा भरपूर संरक्षण प्राप्त था।

Image credit: iDiva.com

एक महिला ने 2016 की एक घटना को याद करते हुए बसाक के साथ हुई बातचीत के बारे में बताया। महिला उस समय जादवपुर विश्वविद्यालय में कॉलेज के प्रथम वर्ष में थी। उसने आरोप लगाया कि उसके और बसाक के शराब पीने के बाद, बसाक ने उसे अपने फोन पर ‘प्ले सेक्स गेम’ खेलने के लिए कहा और उसके साथ इंटीमेट होने की कोशिश की, जिसे उसने विनम्रता से मना कर दिया। वह दावा करती हैं कि बाद में फिर बसाक ने उसे नंगी तस्वीर भेजने के लिए मैनुपुलेट करने की कोशिश की।

Image credit: iDiva.com

एक और स्क्रीनशॉट सामने आया है, जिसमें बसाक एक महिला से यौन संबंध बनाने के लिए कहता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘Aiyoobrows’ को 2018 में भारत में #MeToo आंदोलन के दौरान ड्राइव के बारे में पता चला था। उस दौरान कई महिलाओं और पुरुषों ने अपने साथ वर्कप्लेस पर हुए यौन शोषण के बारे में खुलासा किया था। रिपोर्ट के अनुसार बसाक ने अपने साथ रिलेसनशिप में आई महिलाओं की तस्वीर को सेव करने और फिर उसे अपने ग्रुप में शेयर करने के लिए 2016 में इस ड्राइव की शुरुआत की थी। वो कहती हैं कि उन्हें बहुत बड़ा झटका लगा, जब उन्होंने खुद की तस्वीर भी वहाँ पर देखी। कथित तौर पर जब बसाक ने उनसे काफी सालों तक तस्वीर भेजने के लिए उन्हें मैनुपुलेट किया, तब उन्होंने तस्वीर उसे भेजी थी। मगर उनसे बिना पूछे उनकी तस्वीर को गूगल ड्राइव के जरिए सर्कुलेट होता देखकर उन्हें काफी धक्का पहुँचा है।

रिपोर्ट में आगे गूगल ड्राइव के एडमिन बासक के हवाले से कहा गया है कि यह उसके रोमांटिक अफेयर्स की कहानी है और इसका महिलाओं को अपमानित करने से कोई संबंध नहीं है। बसाक कथित तौर पर टाइम्स ऑफ इंडिया से कहता है कि चूँकि वो कॉलेज में काफी पॉपुलर था, तो उसके काई सारे अफेयर्स और रोमांटिक संबंध थे। उसने कहा कि वह उन दोनों महिलाओं को जानता है, जिन्होंने उसके खिलाफ आरोप लगाए हैं और वह उन दोनों के साथ रिलेसनशिप में था और रिलेसनशिप में रहते हुए उन दोनों के साथ धोखा किया था। वो कहता है कि वो एक सहमति वाला रिलेसनशिप में था और उसने कोई अपराध नहीं किया है। इतना ही नहीं, आगे वह दावा भी करता है कि उसने महिलाओं से प्राप्त फोटो को कभी सर्कुलेट नहीं किया।

एक अन्य शख्स, इमान कल्याण घोष, जिस पर गूगल ड्राइव के अस्तित्व के बारे में जानने का आरोप है, ने दावा किया कि उसे इस बात से घृणा है कि उसने बसाक से कभी पूछताछ नहीं की और ऐसे व्यवहार का समर्थन करने वालों का समर्थन किया।

बॉयज लॉकर रूम

बता दें अभी हाल ही में इंस्टाग्राम ग्रुप बॉयज लॉकर रूम (Boys Locker Room/Bois Locker Room) का खुलासा एक लड़की की मदद से हाल में हुआ, जिसने सोशल मीडिया पर इस ग्रुप के कुछ स्क्रीनशॉट्स को शेयर करते हुए लिखा, “दक्षिण दिल्ली के 17-18 साल की उम्र के लड़कों का एक ग्रुप है, जिसका नाम ‘ब्वॉयज लॉकर रूम’ (Boys Locker Room/Bois Locker Room) है, जहाँ कम उम्र की लड़कियों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक बनाया जा रहा था। मेरे स्कूल के दो लड़के इसका हिस्सा हैं।” लड़की ने इस दौरान जिन तस्वीरों को शेयर किया था, उन पर लिखे कमेंट देखकर ये अंदाजा लगाया जा सकता था कि ग्रुप के सदस्य गैंगरेप की योजना बना रहे थे और उस पर चर्चा कर रहे थे।

गर्ल्स लॉकर रूम

‘बॉयज लॉकर रूम’ के बाद अब कथित तौर पर ‘गर्ल्स लॉकर रूम’ चैट लीक हो गए हैं, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा हैं। ‘गर्ल्स लॉकर रूम’ के कथित तौर पर जो चैट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, उसमें कम उम्र की लड़कियाँ लड़कों के प्राइवेट पार्ट्स को लेकर अश्लील बातें और टिप्पणी करती नजर आ रही हैं। इस ‘गर्ल्स लॉकर रूम’ में कथित तौर पर पुरुषों के बारे में अपमानजनक बातें की जाती हैं। महिलाओं के ग्रुप चैट स्क्रीनशॉट में कथित रूप से सिर्फ पुरुषों की आपत्तिजनक तस्वीरें हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अर्नब इतने हताश हो जाएँगे कि उन्हें आत्महत्या करनी पड़ेगी’: स्टिंग में NCP नेता और उद्धव के मंत्री नवाब मलिक का दावा

NCP मुंबई के अध्यक्ष और उद्धव सरकार में अल्पसंख्यक विकास मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि अर्नब इसमें स्पष्ट रूप से फँस चुके हैं और इसका असर उनकी मानसिक अवस्था पर पड़ेगा।

वामपंथन कविता कृष्णन ने ‘लव जिहाद’ से जताई अनभिज्ञता, कहा- मुझे एक भी केस नहीं मिले, ये लीजिए पढ़िए हाल के 10 से अधिक...

आज कविता कृष्णन, जिन्हें लव जिहाद के मामले रिसर्च करने पर भी नहीं मिल रहे, उनके लिए हम कुछ केस लेकर आए हैं ताकि लव जिहाद शब्द का अर्थ उन्हें व उन जैसे लोगों को समझ आ सके।

कराची में हुए बम धमाके में 3 की मौत: फौज और पुलिस में ठनी, सिंध पुलिस के सभी अधिकारियों की छुट्टियाँ रद्द

सिंध पुलिस का कहना है कि उसके आला अधिकारियों का जिस तरह से अपमान किया गया, उनके साथ बुरा वर्ताव किया गया, उससे पुलिस महकमा शॉक में है।

सूरजभान सिंह: वो बाहुबली, जिसके जुर्म की तपिश से सिहर उठा था बिहार, परिवार हो गया खाक, शर्म से पिता और भाई ने की...

कामदेव सिंह का परिवार को जब पता चला कि सूरजभान ने उनके किसी रिश्तेदार को जान से मारने की धमकी दी है तो सूरजभान को उसी के अंदाज में संदेश भिजवाया गया- “हमने हथियार चलाना बंद किया है, हथियार रखना नहीं। हमारी बंदूकों से अब भी लोहा ही निकलेगा।”

#Tweet4Bharat: राष्ट्रीय महत्त्व के मुद्दों पर हिंदी श्रेणी में विजेताओं की सूची और उनको जीत दिलाने वाले ट्वीट थ्रेड्स यहाँ देखें

“#Tweet4Bharat” का उद्देश्य राष्ट्रीय महत्व के महत्वपूर्ण मुद्दों पर लिखने, चर्चा करने और विचार-विमर्श करने के लिए युवाओं को ‘ट्विटर थ्रेड्स’ का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित करना था।

क्या India Today का खेल खत्म? CBI ने TRP घोटाले में दर्ज की FIR: यूपी सरकार द्वारा की गई थी जाँच की सिफारिश

सीबीआई ने टीआरपी घोटाले की जाँच के लिए एक FIR दर्ज कर ली है। शुरुआत में इस मामले के संबंध में मुंबई पुलिस की FIR में इंडिया टुडे चैनल का नाम सामने आया था।

प्रचलित ख़बरें

मैथिली ठाकुर के गाने से समस्या तो होनी ही थी.. बिहार का नाम हो, ये हमसे कैसे बर्दाश्त होगा?

मैथिली ठाकुर के गाने पर विवाद तो होना ही था। लेकिन यही विवाद तब नहीं छिड़ा जब जनकवियों के लिखे गीतों को यूट्यूब पर रिलीज करने पर लोग उसके खिलाफ बोल पड़े थे।

37 वर्षीय रेहान बेग ने मुर्गियों को बनाया हवस का शिकार: पत्नी हलीमा रिकॉर्ड करती थी वीडियो, 3 साल की जेल

इन वीडियोज में वह अपनी पत्नी और मुर्गियों के साथ सेक्स करता दिखाई दे रहा था। ब्रिटेन की ब्रैडफोर्ड क्राउन कोर्ट ने सबूतों को देखने के बाद आरोपित को दोषी मानते हुए तीन साल की सजा सुनाई है।

हिन्दुओं की हत्या पर मौन रहने वाले हिन्दू ‘फ़्रांस की जनता’ होना कब सीखेंगे?

हमें वे तस्वीरें देखनी चाहिए जो फ्रांस की घटना के पश्चात विभिन्न शहरों में दिखती हैं। सैकड़ों की सँख्या में फ्रांसीसी नागरिक सड़कों पर उतरे यह कहते हुए - "हम भयभीत नहीं हैं।"

ऐसे मुस्लिमों के लिए किसी भी सेकुलर देश में जगह नहीं होनी चाहिए, वहीं जाओ जहाँ ऐसी बर्बरता सामान्य है

जिनके लिए शिया भी काफिर हो चुका हो, अहमदिया भी, उनके लिए ईसाई तो सबसे पहला दुश्मन सदियों से रहा है। ये तो वो युद्ध है जो ये बीच में हार गए थे, लेकिन कहा तो यही जाता है कि वो तब तक लड़ते रहेंगे जब तक जीतेंगे नहीं, चाहे सौ साल लगे या हजार।

‘कश्मीर टाइम्स’ अख़बार का श्रीनगर ऑफिस सील, सरकारी सम्पत्तियों पर कर रखा था कब्ज़ा

2 महीने पहले कश्मीर टाइम्स की एडिटर अनुराधा भसीन को भी उनका आधिकारिक निवास खाली करने को कहा गया था।

सूरजभान सिंह: वो बाहुबली, जिसके जुर्म की तपिश से सिहर उठा था बिहार, परिवार हो गया खाक, शर्म से पिता और भाई ने की...

कामदेव सिंह का परिवार को जब पता चला कि सूरजभान ने उनके किसी रिश्तेदार को जान से मारने की धमकी दी है तो सूरजभान को उसी के अंदाज में संदेश भिजवाया गया- “हमने हथियार चलाना बंद किया है, हथियार रखना नहीं। हमारी बंदूकों से अब भी लोहा ही निकलेगा।”
- विज्ञापन -

₹10 लाख प्रति सुनवाई: अर्नब गोस्वामी के खिलाफ लड़ाई में कपिल सिब्बल होंगे महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के वकील

अर्नब गोस्वामी की 'रिट पेटिशन' पर सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र की उद्धव सरकार की तरफ से कॉन्ग्रेस नेता कपिल सिब्बल बतौर अधिवक्ता हिस्सा लेंगे।

3.5 साल में 125 अपराधी मारे गए, 2607 घायल हुए: योगी सरकार ने 122 बलिदानी पुलिसकर्मियों के परिजनों को दिए ₹26 करोड़

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला बटालियन के लिए भी 3687 पद सृजित किए गए हैं। सरकार बलिदानी पुलिसकर्मियों के परिवारों के साथ खड़ी है।

पाकिस्तान: PM इमरान खान ने अप्रैल में गेहूँ मँगवाया था, अब रो रहा है कि उसकी बात कोई सुनता ही नहीं!

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने समय से गेहूँ आपूर्ति न होने पर अधिकारियों को फटकार लगाई। इमरान खान ने इसे प्रशासन की नाकामी बताया है।

‘अर्नब इतने हताश हो जाएँगे कि उन्हें आत्महत्या करनी पड़ेगी’: स्टिंग में NCP नेता और उद्धव के मंत्री नवाब मलिक का दावा

NCP मुंबई के अध्यक्ष और उद्धव सरकार में अल्पसंख्यक विकास मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि अर्नब इसमें स्पष्ट रूप से फँस चुके हैं और इसका असर उनकी मानसिक अवस्था पर पड़ेगा।

वामपंथन कविता कृष्णन ने ‘लव जिहाद’ से जताई अनभिज्ञता, कहा- मुझे एक भी केस नहीं मिले, ये लीजिए पढ़िए हाल के 10 से अधिक...

आज कविता कृष्णन, जिन्हें लव जिहाद के मामले रिसर्च करने पर भी नहीं मिल रहे, उनके लिए हम कुछ केस लेकर आए हैं ताकि लव जिहाद शब्द का अर्थ उन्हें व उन जैसे लोगों को समझ आ सके।

कराची में हुए बम धमाके में 3 की मौत: फौज और पुलिस में ठनी, सिंध पुलिस के सभी अधिकारियों की छुट्टियाँ रद्द

सिंध पुलिस का कहना है कि उसके आला अधिकारियों का जिस तरह से अपमान किया गया, उनके साथ बुरा वर्ताव किया गया, उससे पुलिस महकमा शॉक में है।

‘बिलाल ने नाम बदला, टीका लगाता था, हमें लगा हिन्दू होगा’: 8 लाख लेकर भागी छात्रा, परिजनों ने लगाया ‘लव जिहाद’ का आरोप

लड़की के पिता ने बताया कि उनकी बेटी बीएससी की छात्रा है और कम्प्यूटर कोचिंग के लिए जाती है। अक्टूबर 17 को जब वो कोचिंग से वापस नहीं आई तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। फिर किसी ने बताया कि एक लड़का उसे ले गया है।

PAK में ‘गृहयुद्ध’: सेना के खिलाफ लगे सड़कों पर नारे, नवाज शरीफ के दामाद की गिरफ्तारी पर आर्मी चीफ को देने पड़े जाँच के...

पाकिस्तान में यह सारी हलचल ठीक तब शुरू हुई जब विपक्ष ने प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रशासन के खिलाफ़ रैली हुई और नवाज शरीफ के दामाद गिरफ्तार कर लिए गए थे।

गोहत्या करने से मना करता था युवक, मुन्नू कुरैशी और कइल ने गला रेत कर मार डाला: माँ ने झारखण्ड सरकार से लगाई न्याय...

मृतक की माँ ने बताया कि उनका बेटा आसपास के लोगों को गोहत्या करने से मना करता था, जिसके कारण उसकी हत्या कर दी गई।

पूर्व IIT प्रोफेसर ने विदेश से लाए थे माओवादी साहित्य, उमर खालिद था ‘अर्बन पार्टी मेंबर’: ‘दलित आतंकवाद’ पर हो रहा था काम

दिल्ली में ऐसे दलित छात्रों को चिह्नित किया जाता था, जो पिछड़े परिवारों से आते हैं, इसके बाद उनके मन में माओवादी आंदोलन के लिए सहानुभूति बिठाई जाती थी।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
78,916FollowersFollow
335,000SubscribersSubscribe