Sunday, April 14, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा, कैंप के बीच से गुजरा सैलाब,...

कश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा, कैंप के बीच से गुजरा सैलाब, NDRF ने बताया- 10 लोगों की मौत, सामने आए दहलाने वाले वीडियो

इस साल की अमरनाथ यात्रा में अब तक 65,000 से अधिक तीर्थयात्रियों ने बाबा बर्फानी के दर्शन किए हैं। हालाँकि, मौसम खराब होने के कारण बीच में 2-3 दिन यात्रा को रोकना भी पड़ा था।  

जम्मू-कश्मीर में पवित्र अमरनाथ गुफा से कुछ दूरी पर बादल फटने के कारण मची तबाही में कई लोगों के मारे जाने की खबर है। बताया जा है कि शुक्रवार (8 जुलाई 2022) की शाम 5:30 बजे के आसपास बादल फटा, जिसमें कई टेंट और लंगर बह गए हैं। इस आपदा में 10 लोगों के मारे जाने की खबर है।

NDRF के DG अतुल करवाल ने बताया, “हमारी 1 टीम गुफा के पास तैनात रहती है, वो टीम तत्काल बचाव कार्य में जुट गई थी। 2 टीम पास में है जिसमें से 1 वहाँ पहुँचकर काम पर लग गई है। एक टीम शामिल होने वाली है। वहाँ मौजूद हमारे लोगों के मुताबिक, 10 लोगों के मौत की खबर है और 3 को वहाँ से जीवित निकाला गया है।”

घटना के बाद एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और अन्य संबद्ध एजेंसियाँ बचाव अभियान में लग गई हैं। घायल लोगों को एयरलिफ्ट कर अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है। वहीं, लापता लोगों की जोरशोर से तलाश शुरू कर दी गई है। बता दें कि कुछ दिन पहले मौसम विभाग ने अमरनाथ गुफा के पास मौसम खराब रहने का अनुमान जताया था।

बादल फटने की यह इस घटना अमरनाथ गुफा से 2 किलोमीटर दूर हुई है, जिसमें 25 टेंट और 2 लंगर बहने की बात कही जा रही है। अमरनाथ गुफा से दो किलोमीटर दूर बादल फटने की घटना हुई है। उसके बाद पानी का तेज बहाव आया, जहाँ टेंटों में ठहरे लोगों में अफरा-तफरी मच गई।

ITBP के अनुसार, भारी बारिश और भूस्खलन के कारण पानी की तेज धार बालटाल में ठहरे तीर्थयात्रियों की टेंटों की तरफ आई, जिसमें कई लोग बह गए। हालाँकि, इलाके में अब बारिश रूक चुकी है और बचाव अभियान को तेज कर दिया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर बात की। जानकारी के अनुसार, प्रशासन की टीम बादल फटने के बाद की स्थिति का आकलन कर रही है। फिलहाल नुकसान की आधिकारिक सूचना नहीं है।

गौरतलब है कि अमरनाथ गुफा में शिवलिंग का दर्शन करने के लिए शुक्रवार को करीब 8-10 हजार लोग यात्रा में शामिल थे। हालाँकि, तीर्थयात्रियों का यह समूह अलग-अलग जगहों पर ठहरा है। यात्रा को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।

बता दें कि अमरनाथ यात्रा कोरोना के कारण पिछले दो वर्षों से स्थगित थी। इस साल यह यात्रा 30 जून से शुरू हुई है, जो 43 दिन बाद 11 अगस्त को समाप्त होगी। माना जा रहा है कि इस साल की यात्रा में करीब तीन लाख शामिल होंगे।

इस साल की अमरनाथ यात्रा में अब तक 65,000 से अधिक तीर्थयात्रियों ने बाबा बर्फानी के दर्शन किए हैं। हालाँकि, मौसम खराब होने के कारण बीच में 2-3 दिन यात्रा को रोकना भी पड़ा था।  

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जनजातीय समाज से राष्ट्रपति, बाबसाहेब के स्थल विकसित होकर बने पंचतीर्थ, भगवान बिरसा मुंडा की जयंती गौरव दिवस: MP में PM मोदी ने बताया...

"कॉन्ग्रेस ने जनजातीय समाज के योगदान को कभी भी स्वीकार नहीं किया, जबकि भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को 'राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस' के रूप में घोषित करने का सौभाग्य भी भाजपा सरकार को मिला है।"

बिहार के जिस बम ब्लास्ट में हुई 2 बच्चों की मौत, उस केस में मोहम्मद इस्लाइल और नूर मोहम्मद गिरफ्तार: घर से विस्फोटक बनाने...

बिहार के बांका जिले में 13 अप्रैल को इस्माइल अंसारी के मकान में हुए बम विस्फोट में दो छोटे बच्चों की मौत हो गई थी। अब पुलिस ने इस मामले में 2 आरोपितों को पकड़ा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe