Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना के चलते दूसरी बार रद्द हुई अमरनाथ यात्रा, इस तारीख से हिमलिंग के...

कोरोना के चलते दूसरी बार रद्द हुई अमरनाथ यात्रा, इस तारीख से हिमलिंग के ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

28 जून से भक्तों के लिए हिमलिंग के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की जाएगी। उपराज्यपाल ने कहा, "कोरोना को देखते हुए अमरनाथ यात्रा रद्द करने का फैसला जनता के व्यापक हित में लिया गया।"

कोरोना महामारी के कारण अमरनाथ यात्रा लगातार दूसरी बार रद्द कर दी गई है। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने इस साल लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अमरनाथ यात्रा को रद्द करने का फैसला किया है।

मी​डिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 28 जून से भक्तों के लिए हिमलिंग के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की जाएगी। उपराज्यपाल ने कहा, “कोरोना को देखते हुए अमरनाथ यात्रा रद्द करने का फैसला जनता के व्यापक हित में लिया गया।”

कोरोना से उपजे हालात के कारण श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने पहले ही एडवांस पंजीकरण को बीच में बंद कर दिया था हालांकि एडवांस पंजीकरण एक अप्रैल से शुरू हुआ था। यात्रा को लेकर पिछले काफी दिनों से असमंजस बना हुआ था उपराज्यपाल ने यात्रा के मुद्दे पर इससे पहले दिल्ली में अपनी दौरे के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय गृह सचिव से मुलाकात की थी। पिछले साल की तरह इस साल भी बाबा बर्फानी की पवित्र गुफा से आरती का सीधा प्रसारण किया जाएगा। 

अमरनाथ मंदिर भारत के जम्मू-कश्मीर में हिमालय की एक गुफा में 3888 मीटर की ऊँचाई पर स्थित एक हिंदू मंदिर है। यह हिंदूओं के पवित्र मंदिरों में से एक है और 51 शक्तिपीठों में से एक है। 2020 में भी कोरोना वायरस महामारी के कारण तीर्थयात्रा रद्द कर दी गई थी।

हाल ही में जम्मू-शहर के त्रिकुटा नगर और जीआरपी पुलिस स्टेशन के बाहर आतंकी संगठन तहरीक-उल-मुजाहिदीन का कथित धमकी भरा पोस्टर चस्पा मिला। इसमें अमरनाथ यात्रा पर न आने की लोगों को धमकी दी गई। आतंकी हमले की धमकी देने वाला पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पिछले हफ्ते एजेंसियों ने सुरक्षा बढ़ा दी थी। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पवित्र अमरनाथ यात्रा के दौरान कई बार आतंकी हमले हो चुके हैं। इसमें कई यात्री अपनी जान गँवा चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe