Wednesday, December 7, 2022
Homeदेश-समाजजम्मू-कश्मीर में बरघशिखा भवानी मंदिर में तोड़फोड़ कर सांप्रदायिक माहौल बिगााड़ने की कोशिश, FIR...

जम्मू-कश्मीर में बरघशिखा भवानी मंदिर में तोड़फोड़ कर सांप्रदायिक माहौल बिगााड़ने की कोशिश, FIR दर्ज, उमर-महबूबा ने घटना की निंदा की

बरघशिखा भवानी का मंदिर कश्मीर घाटी के अनंतनाग जिले में मट्टन पहाड़ पर है। यह मंदिर कश्मीरी पंडितों की आस्था का केंद्र है। बरघशिखा मंदिर पर ऐसे समय में हमला किया गया है, जब सरकार घाटी में पंडितों की वापसी की कोशिश में जुटी है।

जम्मू-कश्मीर में उपद्रवियों ने एक बार फिर कश्मीरी पंडितों की आस्था पर प्रहार किया है। अनंतनाग में शनिवार (अक्टूबर 2, 2021) को बरघशिखा भवानी के मंदिर पर हमला किया। इस दौरान मंदिर में तोड़फोड़ की गई है। पुलिस ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि केस दर्ज किया गया है। जाँच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में मंदिर को अपवित्र करने के आरोप में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ FIR दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि पता चला है कि शनिवार दोपहर करीब दो बजे कुछ बदमाशों ने अनंतनाग के मट्टन इलाके में बरघशिखा भवानी मंदिर में तोड़फोड़ की।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “सूचना मिलने के बाद भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 295, 427 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और जाँच शुरू कर दी गई है।” उन्होंने आगे बताया कि पुलिस और सिविल प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने जाँच के लिए क्षेत्र का दौरा किया।

इधर अनंतनाग के उपायुक्त पीयूष सिंगला ने कहा कि दोषियों को दंडित किया जाएगा। किसी को भी सामाजिक और सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुँचाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा, “इस तरह के अनैतिक और अवैध कृत्यों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और दोषियों को कानून के प्रासंगिक प्रावधानों के अनुसार दंडित किया जाएगा। किसी को भी समाज में सामाजिक और सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुँचाने या बाधित करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।”

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने घटना की निंदा करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “अस्वीकार्य। मैं इस तोड़फोड़ की कड़ी निंदा करता हूँ और प्रशासन खासकर जम्मू-कश्मीर पुलिस से अपील करता हूँ कि दोषियों की पहचान कर सख्त सजा दी जाए।” पीडीपी नेता नईम अख्तर ने भी घटना की निंदा करते हुए दोषियों को सख्त सजा देने की माँग की।

वहीं, पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर कहा, “मट्टन के माता मंदिर में तोड़फोड़ की घटना से दुखी और परेशान हूँ। समय की माँग है कि हम अपने कश्मीरी पंडित भाईयों को फिर से सुरक्षा का अहसास दिलाएँ। अनंतनाग के एसएसपी और डीसी से आग्रह है कि इस मामले में अविलंब कार्रवाई करें।”

बता दें कि बरघशिखा भवानी का मंदिर कश्मीर घाटी के अनंतनाग जिले में मट्टन पहाड़ पर है। यह मंदिर कश्मीरी पंडितों की आस्था का केंद्र है। बरघशिखा मंदिर पर ऐसे समय में हमला किया गया है, जब सरकार घाटी में पंडितों की वापसी की कोशिश में जुटी है। वहीं, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत तीन दिनों के जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आमदनी से 3 गुना ज़्यादा है MCD का खर्च, कैसे चलेगी AAP की रेवड़ी वाली राजनीति? केंद्र सरकार से भी मिलता है पैसा, टैक्स...

एमसीडी आम आदमी पार्टी के लिए काँटो भरा ताज है। इसके आय और व्यय के बीच का जो अंतर है, उसे पाटना आम आदमी पार्टी के लिए आसान नहीं होगा।

काशी तमिल संगमम: जीवंत परंपराओं को आत्मसात करने की विशेषता ही भारतीय सांस्कृतिक संपूर्णता का आधार

प्रथम तमिल संगम मदुरै में हुआ था जो पाण्ड्य राजाओं की राजधानी थी और उस समय अगस्त्य, शिव, मुरुगवेल आदि विद्वानों ने इसमें हिस्सा लिया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
237,221FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe