Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजजम्मू कश्मीर में आतंकियों ने पुलिस अधिकारी को गोली मारी, ईदगाह मैदान इलाके को...

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने पुलिस अधिकारी को गोली मारी, ईदगाह मैदान इलाके को घेर कर चलाया जा रहा ऑपरेशन: इससे पहले पाकिस्तानी फौजियों ने सीमा पर की थी गोलीबारी

पुलिस के अतिरिक्त, CRPF की टुकड़ियाँ भी मौके पर पहुँची हैं। बताया जा रहा है कि इस घटना में फायरिंग के लिए आतंकियों ने एक पिस्टल का उपयोग किया।

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में ईदगाह के निकट मैदान में क्रिकेट खेल रहे एक पुलिस अधिकारी पर आतंकियों ने हमला कर दिया। आतंकियों ने अफसर पर गोलियाँ बरसाईं जिसमें वह घायल हो गए। पुलिस अफसर का अब इलाज चल रहा है।

जिन अफसर पर आतंकियों ने हमला किया उनका नाम मसरूर अहमद है। वो जम्मू कश्मीर पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं। अब जम्मू कश्मीर पुलिस समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियाँ इलाके की घेराबंदी करके आतंकियों के लिए छानबीन कर रही हैं। इलाके में सुरक्षाबलों की भारी तैनाती कर दी गई है।

पुलिस के अतिरिक्त, CRPF की टुकड़ियाँ भी मौके पर पहुँची हैं। बताया जा रहा है कि इस घटना में फायरिंग के लिए आतंकियों ने एक पिस्टल का उपयोग किया। इस मामले में FIR भी दर्ज कर ली गई है। पुलिस अफसर मसरूर अहमद की हालत गंभीर बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार, मसरूर अहमद जम्मू श्रीनगर की पुलिस लाइंस में तैनात थे। हालाँकि, यह कोई पहला मौका नहीं है जब ड्यूटी पर ना होने के दौरान किसी सुरक्षाकर्मी पर आतंकियों ने हमला किया हो।

जम्मू कश्मीर पुलिस के अफसर पर यह हमला इसके नए मुखिया के लिए पहली बड़ी चुनौती है। हमले से एक दिन पहले 28 अक्टूबर, 2023 को ही 1991 बैच के आईपीएस अफसर आरआर स्वेन को जम्मू कश्मीर पुलिस के मुखिया की जिम्मेदारी दी गई है, अभी तक IPS दिलबाग सिंह यह जिम्मेदारी सँभाल रहे थे जो कि रिटायर होने वाले हैं। वह 1 नवम्बर, 2023 से यह जिम्मेदारी सँभालेंगे। स्वेन अभी जम्मू कश्मीर CID जम्मू कश्मीर के मुखिया हैं।

यह आतंकी हमला ऐसे समय में हुए जब कश्मीर घाटी धीरे धीरे शांत हो रही है और इसके युवा आतंक से मुँह मोड़ रहे हैं। इससे पहले जम्मू कश्मीर में सीमा पर भी अशांति फैलाने की कोशिश पाकिस्तानी रेंजर्स तथा वहाँ की फ़ौज द्वारा की गई है। यहाँ लम्बे समय के बाद सीजफायर का उल्लंघन हुआ है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -