Saturday, June 25, 2022
Homeदेश-समाजJ&K: 40 साल से रह रहे पंजाबी की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या की,...

J&K: 40 साल से रह रहे पंजाबी की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या की, कुछ महीने पहले ही मिला था डोमिसाइल

"डोमिसाइल से जुड़ा नया क़ानून अस्वीकार्य है। मूल कश्मीरियों के अलावा यहाँ संपत्ति बनाने वाले हर किसी के साथ ‘कब्ज़ा करने वाले’ की तरह बर्ताव किया जाएगा। अभी बहुत कुछ होना बाकी है।”

जम्मू-कश्मीर में एक 70 वर्षीय पंजाबी स्वर्णकार (ज्वेलर) की श्रीनगर के बीच बाज़ार में गोली मार कर हत्या कर दी गई। घटना श्रीनगर के सराई बाला इलाके की है। गुरुवार (31 दिसंबर 2020) को बाइक सवार आतंकवादियों ने ज्वेलर पर गोली चलाई। मृतक पिछले चार दशक से जम्मू-कश्मीर में रह रहे थे। कुछ महीनों पहले ही उन्हें स्थायी निवास प्रमाण पत्र (डोमिसाइल) मिला था। इसके उन्होंने एक घर और दुकान भी खरीदी थी। 

मूल रूप से अमृतसर से ताल्लुक रखने वाले सतपाल निश्छल की हत्या की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) ने ली है। इस घटना को लेकर फेसबुक पर पोस्ट करते हुए TRF ने कहा है, “डोमिसाइल से जुड़ा नया क़ानून अस्वीकार्य है। मूल कश्मीरियों के अलावा यहाँ संपत्ति बनाने वाले हर किसी के साथ ‘कब्ज़ा करने वाले’ की तरह बर्ताव किया जाएगा। अभी बहुत कुछ होना बाकी है।”

इस आतंकी संगठन का नाम पहली बार मार्च 2020 में सामने आया था। यह खुद को यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ़ जम्मू-कश्मीर कहता है जो कि बाद में TRF बना। ये प्रतिबंधित आतंकी संगठनों जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैय्यबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन से भी जुड़ा हुआ है। डोमिसाइल से जुड़ा नया क़ानून प्रभावी होने के बाद निश्छल पहले ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें इस तरह निशाना बनाया गया है। वह श्रीनगर स्थित निश्छल ज्वेलर्स के मालिक भी थे। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उनके सीने पर तीन गोलियाँ लगी थीं। इसके बाद जैसे ही लोग उन्हें लेकर एसएमएचएस अस्पताल लेकर पहुँचे, उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। 2020 की शुरुआत में ही निश्छल को डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट मिला था उन्होंने श्रीनगर स्थित हनुमान मंदिर के पास दुकान खरीदी थी और बादामी बाग़ क्षेत्र के सेना मुख्यालय स्थित इंदिरा नगर में घर खरीदा था।

उनके एक पारिवारिक मित्र ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा था, “सराई बाला क्षेत्र में स्थित उनकी दुकान किफ़ायती दामों की वजह से नई नवेली दुल्हनों के बीच बेहद मशहूर थी।” सतपाल निश्छल के दो बेटे और एक बेटी हैं। उन पर गोली चलाने वाले आतंकवादियों ने इस वारदात को अंजाम देने के बाद ग्रेनेड भी फेंका था। जिसमें एक सीआरपीएफ़ सब इंस्पेक्टर घायल हो गए। वे घटना के वक्त दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले स्थित संगम क्षेत्र में पेट्रोलिंग कर रहे थे।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गर्भवती का भ्रूण आग में फेंकने से लेकर चूल्हे से गोधरा ट्रेन में आग तक: गुजरात दंगों पर वो 5 झूठ, जो नरेंद्र मोदी...

गुजरात दंगों के बाद नरेंद्र मोदी को बदनाम करने के लिए कई हथकंडे आजमाए गए। यहाँ जानें ऐसे 5 झूठ जो फैलाए गए। साथ ही क्या है उनकी सच्चाई।

झूठे साक्ष्य गढ़े, निर्दोष को फँसाने की कोशिश: तीस्ता सीतलवाड़ के साथ-साथ RB श्रीकुमार और संजीव भट्ट पर भी FIR, गुजरात दंगा मामला

संजीव भट्ट फ़िलहाल पालनपुर जेल में कैद। राज्य सरकार का पक्ष रखते हुए दर्ज FIR में शुक्रवार (24 जून, 2022) को आए सुप्रीम कोर्ट का हवाला दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,266FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe