Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजराजस्थान, ओडिशा और गुजरात में लॉकडाउन: जनता कर्फ्यू से सड़कों पर सन्नाटा

राजस्थान, ओडिशा और गुजरात में लॉकडाउन: जनता कर्फ्यू से सड़कों पर सन्नाटा

ओडिशा की नवीन पटनायक सरकार ने 5 जिलों व 7 शहरों में 22 मार्च से 29 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा की है। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश भर में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर 22 मार्च से 31 मार्च तक पूरी तरह लॉकडाउन के निर्देश दिए हैं। गुजरात के चार बड़े शहरों में 25 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा की गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घोषणा के अनुसार, पूरे देश में आज ‘जनता कर्फ्यू’ है। रविवार (मार्च 22, 2020) को देश भर में सुबह 7 बजे से लेकर रात 9 बजे तक लोग सेल्फ-क्वारंटाइन में रहेंगे और शाम को अपने घर की बालकनी से या दरवाजे से ताली बजा कर डॉक्टरों को धन्यवाद अर्पित करेंगे। हालाँकि, इस दौरान ज़रूरी सेवाएँ देने वाले कर्मचारीगण बाहर रह सकते हैं। ‘जनता कर्फ्यू’ के दौरान देश भर की सड़कों पर सन्नाटा देखा जा रहा है। यहाँ तक कि बेंगलुरु का अति-व्यस्त मैजेस्टिक बीएस स्टेशन भी खली है। वहीं विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन की घोषणा की गई है ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके।

ओडिशा की नवीन पटनायक सरकार ने 5 जिलों व 7 शहरों में 22 मार्च सुबह 7 बजे से 29 मार्च रात 9 बजे तक लॉकडाउन की घोषणा की है। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों के जीवन की सुरक्षा के लिए प्रदेशभर में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर 22 मार्च से 31 मार्च तक पूरी तरह लॉकडाउन के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि इस लॉकडाउन के तहत आवश्यक सेवाओं के अतिरिक्ति समस्त राजकीय एवं निजी कार्यालय, मॉल्स, दुकानें, फैक्ट्रियाँ एवं सार्वजनिक परिवहन आदि बंद रहेंगे। गहलोत ने जनता से सहयोग की अपील की है। उधर गुजरात में भी अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और बडोदरा- इन चार बड़े शहरों में 25 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा की गई है।

वहीं आज जनता कर्फ्यू के मद्देनजर दिल्ली के सारे मेट्रो स्टेशन बंद हैं। कोलकाता से लेकर नागपुर तक हाइवे पर भी सन्नाटा पसरा हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को फिर से याद दिलाया है कि अभी किए गए प्रयासों का भविष्य में फायदा होगा और जनता कर्फ्यू का पालन करने से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए ज़रूरी इच्छाशक्ति मिलेगी और बचाव भी होगा। इटली में 24 घंटों में लगभग 800 मौतों के बाद स्थिति काफ़ी भयानक हो गई है। वहाँ से 263 भारतीय छात्रों को एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट से वापस लाया गया।

उधर दिल्ली रेलवे ने भी रात 10 बजे तक सभी प्रकार की पैसेंजर ट्रेनों की आवाजाही बंद कर दी है। जम्मू-कश्मीर में भी लोग जनता कर्फ्यू का पालन कर रहे हैं। झारखंड सरकार ने ख़तरे को देखते हुए रेलवे से निवदन किया है कि वो दूसरे राज्यों से आने वाली ट्रेनों पर रोक लगाए। भारत में अब तक कोरोना वायरस के 327 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 23 इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं और 4 लोग की मौत हुई है। सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 64 और केरल में 52 मामले सामने आए हैं। बिहार और झारखंड में अभी तक एक कोरोना का एक भी मरीज नहीं निकला है। हालाँकि, सैकड़ों लोगों की शक के आधार पर टेस्टिंग की गई है।

पिछले 1 दिन में कोरोना वायरस के देश भर में 75 नए मामले सामने आए हैं, जो चिंता की बात है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लोगों से आह्वान किया है कि अब बड़ी लड़ाई लड़ने का समय आ गया है और सभी लोग प्रधानमंत्री की सलाह का पालन करें। आज ओला और उबर जैसी कैब सेवा कंपनियों ने भी कहा है कि वो सिमित संख्या में ही सर्विस देंगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe