रात के अँधेरे में विखंडित की गई देवी-देवताओं की प्रतिमाएँ, आंध्र में मंदिरों की सुरक्षा पर उठे सवाल

जब स्थानीय लोगों ने सुबह में मंदिर व प्रतिमाओं को ऐसी स्थिति में देखा तो उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद घटनास्थल का दौरा किया और बदमाशों की तलाश में लग गई।

देश भर के कई मंदिरों में हिन्दू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को विखंडित किए जाने की ख़बरें आती रहती हैं। कभी सांप्रदायिक हिंसा में मंदिरों को निशाना बनाया जाता है तो कभी प्राचीन मूर्तियों को हड़पने के लिए चोरी की जाती है। अब ऐसी ही एक ख़बर आंध्र प्रदेश से आई है। ये घटना आंध्र प्रदेश के काकीनाडा शहर में स्थित अग्रहारम इलाक़े की है। यहाँ सुरवारापु में स्थित बजरंग मंदिर में हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियों के साथ तोड़फोड़ मचाई गई।

उक्त मंदिर सड़क किनारे खुली जगह में स्थित था। ये घटना मंगलवार (जनवरी 21, 2020) को हुई। जिस रास्ते में ये मंदिर स्थित है, वो रास्ता पीठापुरम शहर की ओर जाता है। जब बदमाशों ने पाया कि मंदिर में कोई नहीं है और आसपास का इलाक़ा सुनसान पड़ा है, तब उन्होंने मंदिर में घुस कर प्रतिमाओं के साथ छेड़छाड़ की। माँ दुर्गा और भगवान गणेश की प्रतिमाओं के साथ तोड़फोड़ की गई। इस घटना के बाद से क्षेत्र के लोगों में गुस्सा व्याप्त है।

जब स्थानीय लोगों ने सुबह में मंदिर व प्रतिमाओं को ऐसी स्थिति में देखा तो उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद घटनास्थल का दौरा किया और बदमाशों की तलाश में लग गई। विखंडित की गई प्रतिमाएँ सीमेंट की बनी हुई थीं। उन्हें तोड़ने के लिए हथौड़े का इस्तेमाल किया गया। पुलिस का कहना है कि ये घटना देर रात की गई। सुबह पूजा करने गए श्रद्धालुओं ने सबसे पहले मंदिर में हुई तोड़फोड़ के बारे में स्थानीय लोगों को बताया। हनुमान और साईं बाबा की मूर्तियों को भी विखंडित कर दिया गया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

काकीनाडा ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र की पूर्व विधायक पिल्ली अनंत लक्ष्मी सहित कई अन्य स्थानीय नेताओं ने इस घटना की निंदा की है। धारा-427 (संपत्ति को नुकसान पहुँचाना) के तहत केस दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

वाईएससीआरपी, टीडीपी और भाजपा- तीनों दलों के नेताओं ने मंदिर का दौरा किया और आरोपितों की त्वरित गिरफ़्तारी की माँग की। भाजपा विधायक राजा सिंह ने इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री जगन रेड्डी को निशाने पर लिया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: