Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजरात के अँधेरे में विखंडित की गई देवी-देवताओं की प्रतिमाएँ, आंध्र में मंदिरों की...

रात के अँधेरे में विखंडित की गई देवी-देवताओं की प्रतिमाएँ, आंध्र में मंदिरों की सुरक्षा पर उठे सवाल

जब स्थानीय लोगों ने सुबह में मंदिर व प्रतिमाओं को ऐसी स्थिति में देखा तो उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद घटनास्थल का दौरा किया और बदमाशों की तलाश में लग गई।

देश भर के कई मंदिरों में हिन्दू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को विखंडित किए जाने की ख़बरें आती रहती हैं। कभी सांप्रदायिक हिंसा में मंदिरों को निशाना बनाया जाता है तो कभी प्राचीन मूर्तियों को हड़पने के लिए चोरी की जाती है। अब ऐसी ही एक ख़बर आंध्र प्रदेश से आई है। ये घटना आंध्र प्रदेश के काकीनाडा शहर में स्थित अग्रहारम इलाक़े की है। यहाँ सुरवारापु में स्थित बजरंग मंदिर में हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियों के साथ तोड़फोड़ मचाई गई।

उक्त मंदिर सड़क किनारे खुली जगह में स्थित था। ये घटना मंगलवार (जनवरी 21, 2020) को हुई। जिस रास्ते में ये मंदिर स्थित है, वो रास्ता पीठापुरम शहर की ओर जाता है। जब बदमाशों ने पाया कि मंदिर में कोई नहीं है और आसपास का इलाक़ा सुनसान पड़ा है, तब उन्होंने मंदिर में घुस कर प्रतिमाओं के साथ छेड़छाड़ की। माँ दुर्गा और भगवान गणेश की प्रतिमाओं के साथ तोड़फोड़ की गई। इस घटना के बाद से क्षेत्र के लोगों में गुस्सा व्याप्त है।

जब स्थानीय लोगों ने सुबह में मंदिर व प्रतिमाओं को ऐसी स्थिति में देखा तो उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद घटनास्थल का दौरा किया और बदमाशों की तलाश में लग गई। विखंडित की गई प्रतिमाएँ सीमेंट की बनी हुई थीं। उन्हें तोड़ने के लिए हथौड़े का इस्तेमाल किया गया। पुलिस का कहना है कि ये घटना देर रात की गई। सुबह पूजा करने गए श्रद्धालुओं ने सबसे पहले मंदिर में हुई तोड़फोड़ के बारे में स्थानीय लोगों को बताया। हनुमान और साईं बाबा की मूर्तियों को भी विखंडित कर दिया गया।

काकीनाडा ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र की पूर्व विधायक पिल्ली अनंत लक्ष्मी सहित कई अन्य स्थानीय नेताओं ने इस घटना की निंदा की है। धारा-427 (संपत्ति को नुकसान पहुँचाना) के तहत केस दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

वाईएससीआरपी, टीडीपी और भाजपा- तीनों दलों के नेताओं ने मंदिर का दौरा किया और आरोपितों की त्वरित गिरफ़्तारी की माँग की। भाजपा विधायक राजा सिंह ने इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री जगन रेड्डी को निशाने पर लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल का एक दुर्गा पूजा पंडाल ऐसा भी: याद उनकी जो चुनाव बाद मार डाले गए, सुनाई देगी माँ की रुदन

दुर्गा पूजा में अलग-अलग थीम के पंडाल के तैयार किए जाते हैं। पश्चिम बंगाल में इस बार एक पूजा पंडाल उन लोगों की याद में तैयार किया गया है जो विधानसभा चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा में मार डाले गए थे।

मूर्तिपूजकों को जहाँ देखो, वहीं लड़ो-काटो… ऐसे बनाओ IED बम: PFI पर 5 साल का बैन क्यों लगा, पढ़िए इसके कुकर्मों की पूरी लिस्ट

भारत सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) और उससे जुड़ी 8 संस्थाओं पर बैन लगा दिया है। PFI की देश विरोधी गतिविधियों के कारण...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,749FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe