Monday, November 28, 2022
Homeदेश-समाज4 बिहारी छात्रों पर कार्रवाई से पीछे हटा कॉलेज, पाकिस्तान की जीत का जश्न...

4 बिहारी छात्रों पर कार्रवाई से पीछे हटा कॉलेज, पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने वाले कश्मीरी छात्रों का किया था विरोध

''यह पाया गया है कि छात्रों का कोई विवाद और उनसे जुड़ी कोई भी घटना नहीं हुई थी। जाँच समिति के निष्कर्षों को ध्यान में रखते हुए इंस्टीट्यूशंस ने इस संबंध में पूर्व में जारी आदेश बीएफजीआई/684 से 687/बीएच/2021, दिनांक 30.10.2021 को निरस्त कर दिया है। इसलिए अब इन छात्रों को छात्रावास में रहने की अनुमति है।''

पंजाब के बाबा फरीद ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा हाल ही में बिहार के चार छात्रों को हॉस्टल खाली करने का नोटिस देने का मामला तूल पकड़ने के बाद भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने इस कार्रवाई का विरोध किया था। कॉलेज ने दो दिन बाद अपने नोटिस पर खेद जताया है। कपिल मिश्रा ने सोमवार (1 नवंबर 2021) को ट्वीट किया, “गुड न्यूज, बहादुर बिहारी छात्रों का निलंबन आदेश निरस्त कर दिया गया है। वे अब हॉस्टल में ही रहेंगे। भारत माता की जय।”

इसके बाद उन्होंने ट्विटर पर बाबा फरीद ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस का खेद जताने वाला नोटिस भी शेयर किया। इसमें लिखा है, ”यह पाया गया है कि छात्रों का कोई विवाद और उनसे जुड़ी कोई भी घटना नहीं हुई थी। जाँच समिति के निष्कर्षों को ध्यान में रखते हुए इंस्टीट्यूशंस ने इस संबंध में पूर्व में जारी आदेश बीएफजीआई/684 से 687/बीएच/2021, दिनांक 30.10.2021 को निरस्त कर दिया है। इसलिए अब इन छात्रों को छात्रावास में रहने की अनुमति है।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन छात्रों का कसूर केवल इतना था कि उन्होंने उन कश्मीरी छात्रों का विरोध किया था जो ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगा रहे थे। इसको लेकर कपिल मिश्रा ने छात्रों को भरोसा दिलाया था कि वह उनके साथ अन्याय नहीं होने देंगे, उन्हें इंसाफ दिलाकर रहेंगे। मिश्रा ने कहा था कि पंजाब सरकार व कालेज मैनेजमेंट ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालों पर कार्रवाई करने की बजाए, देश विरोधी गतिविधियों का विरोध करने वालों पर ही कार्रवाई कर दी।

गौरतलब है कि इस मामले को लेकर ऑपइंडिया ने छात्रावास के वार्डन लखबीर सिंह से भी संपर्क किया था, जिन्होंने नोटिस पर हस्ताक्षर किए थे। जब उनसे पूछा गया कि नोटिस क्यों जारी किया गया है, तो सिंह ने इस मामले पर बात करने से इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था, ”हम इस बारे में बात नहीं कर सकते। मुझे उनका नंबर दीजिए जिसने आपको नोटिस दिया है।” हमने वार्डन को बताया कि यह नोटिस ट्विटर पर वायरल हो रहा है और यदि वह चाहें तो हम उन्हें नोटिस की एक कॉपी भेज सकते हैं। इस पर उन्होंने कहा, “नहीं, मुझे कॉपी की जरूरत नहीं है।” वार्डन ने इस तरह के किसी भी नोटिस के बारे में जानकारी से देने से इनकार किया और कहा, ”ऐसा कोई नोटिस जारी नहीं किया गया है। मैं इसके बारे में बात नहीं करना चाहता।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मध्य प्रदेश में ‘मोदी-मोदी’ और ‘जय श्रीराम’ नारे से हुआ राहुल गाँधी की यात्रा का स्वागत, गिर कर जख्मी हुए पार्टी का महासचिव

'मोदी-मोदी' के नारे लगा रहे युवकों को राहुल गाँधी ने अपने पास बुलाया, लेकिन तब तक वे वहाँ से निकल गए। इसके बाद 'भारत जोड़ो यात्रा' आगे बढ़ गई।

उर्फी जावेद के सामने टिकती भी नहीं ऋचा-तापसी-स्वरा, SRK-अल्लू अर्जुन को दे रही टक्कर: Google सर्च में अतरंगी ड्रेस के आगे ‘एजेंडा’ फीका

पिछले 12 महीनों के ट्रेंड की तुलना में तापसी, ऋचा और स्वरा भास्कर के पास PR टीम होने के बावजूद उर्फी इन तीनों से कहीं अधिक ट्रेंड कर रही हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,826FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe