Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजमनाही के बाद भी हिजाब पहन क्लासरूम में आ रही थीं मुस्लिम छात्राएँ, विरोध...

मनाही के बाद भी हिजाब पहन क्लासरूम में आ रही थीं मुस्लिम छात्राएँ, विरोध में भगवा स्कार्फ में कॉलेज पहुँचे छात्र: कर्नाटक का मामला

इससे पहले कर्नाटक के उडुपी जिले से इसी तरह का मामला सामने आया था। नियमों को धता बताकर मुस्लिम छात्राएँ हिजाब पहनने पर अड़ी हुई थीं।

कर्नाटक के कोपा स्थित सरकारी महाविद्यालय में हिजाब पहनकर आने वाली मुस्लिम छात्रों का विरोध अनोखे तरीके से किया गया। यहाँ पर छात्रों का एक समूह हिजाब के विरोध में भगवा रंग का स्कार्फ पहन कर कॉलेज पहुँचा। इसे देखते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य ने कहा है कि 10 जनवरी को SMC की बैठक होगी। उसमें जनप्रतिनिधि भी शामिल होंगे। उस बैठक में जो भी फैसला लिया जाएगा, उसे सभी को उसे मानना होगा।

दरअसल बालागाडी स्थित राजकीय डिग्री कॉलेज ने शुरुआत में विद्यार्थियों को भगवा स्कार्फ पहनकर कक्षा में आने की अनुमति दे दी थी। प्रबंधन ने लड़कियों को हिजाब नहीं पहनकर आने को कहा था। लेकिन अब उसने 10 जनवरी तक सभी को अपनी इच्छा से कुछ भी पहन कर आने की अनुमति दे दी है। महाविद्यालय के प्राचार्य अनंत मूर्ति ने कहा कि तीन साल पहले इसी तरह की बैठक में फैसला किया गया था और सभी अब तक उसका पालन कर रहे थे।

सोमवार (3 जनवरी 2022) को कुछ छात्र कक्षा में भगवा स्कार्फ पहन कर आए। उन्होंने कुछ छात्राओं के परिधान पर आपत्ति जताई। बीकॉम के छात्र विनय कोप्पा ने आरोप लगाया कि मुस्लिम लड़कियाँ कॉलेज में हिजाब पहनकर आ रही हैं। छात्र ने कहा कि तीन साल पहले भी इसी तरह का विवाद महाविद्यालय में हुआ था। तब यह फैसला किया गया था कि कोई भी हिजाब पहनकर नहीं आएगा। लेकिन पिछले कुछ दिनों से कुछ छात्राएँ हिजाब पहनकर महाविद्यालय आ रही हैं, इसलिए उन्होंने भगवा स्कार्फ पहनकर महाविद्यालय आने का फैसला किया।

छात्रों ने कहा कि उनके अनुरोध पर महाविद्यालय प्रशासन ने कई बार मुस्लिम छात्राओं से अनुरोध किया कि वे हिजाब पहनकर नहीं आएँ, लेकिन वो नहीं मानीं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इस मुद्दे का समाधान नहीं किया गया तो आनेवाले दिनों में उनका विरोध और तेज होगा। गौरतलब है कि इससे पहले कर्नाटक के उडुपी जिले से इसी तरह का मामला सामने आया था। कॉलेज नियमों को धता बताकर मुस्लिम छात्राएँ हिजाब पहनने पर अड़ी हुई थीं। मामला उडुपी जिले के सरकारी महिला पीयू कॉलेज का था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -