Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजकुत्ते को कार से बाँध यूसुफ ने कई किलोमीटर तक घसीटा, केरल में ही...

कुत्ते को कार से बाँध यूसुफ ने कई किलोमीटर तक घसीटा, केरल में ही विस्फोटक खिलाकर मार डाली गई थी हथिनी

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में यह भी देखा जा सकता है कि शुरुआत में कुत्ता कार की रफ़्तार के साथ-साथ भागने की पूरी कोशिश करता है। लेकिन कार की रफ़्तार बढ़ने के बाद वह थक जाता है, जिसके बाद वह कार के साथ सड़क पर घसीटता जाता है।

केरल पुलिस ने एर्नाकुलम में यूसुफ नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। उसने अपनी गाड़ी में एक कुत्ते को बाँध कर कई किलोमीटर तक घसीटा था। घटना शुक्रवार (11 दिसंबर 2020) की सुबह लगभग 11 बजे परवुर क्षेत्र में हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ यूसुफ ने बर्बरता भरी घटना को इसलिए अंजाम दिया क्योंकि वह कुत्ता उस इलाके के कई कुत्तों के साथ मिल कर समस्या ‘खड़ी’ कर रहा था। 

इससे नाराज युसूफ़ ने कुत्ते को अपनी गाड़ी से बाँध कर कई किलोमीटर तक घसीटने का फैसला किया। रास्ते से गुज़र रहे अखिल नाम के युवक ने पूरी घटना का वीडियो बना लिया, जिसमें आरोपित को इस निर्दयता भरी घटना को अंजाम देते हुए देखा जा सकता है। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में यह भी देखा जा सकता है कि शुरुआत में कुत्ता कार की रफ़्तार के साथ-साथ भागने की पूरी कोशिश करता है। लेकिन कार की रफ़्तार बढ़ने के बाद वह थक जाता है, जिसके बाद वह कार के साथ सड़क पर घसीटता जाता है। यह देखकर अखिल ने मामले में दखल दिया। इसके बाद भी यूसुफ पूरी अकड़ में था। अखिल ने उससे पूछा, “तुम्हारी समस्या क्या है अगर यह कुत्ता मर गया तो?” अपना पक्ष कमज़ोर होने पर यूसुफ ने कुत्ते सड़क पर छोड़ दिया। 

इस घटना के चश्मदीद के अनुसार, “यह एक भयावह दृश्य था। कुत्ते के गले में एक मोटी रस्सी बँधी हुई थी और उसे बेहद निर्दयता के साथ सड़क पर कई किलोमीटर तक खींचा गया।” फिर इस घटना की जानकारी पशु अधिकार संगठन DAYA को दी गई, संगठन ने यूसुफ के खिलाफ़ शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया। 

पुलिस ने आरोपित को भारतीय दंड संहिता की धारा 428 (जीव जंतुओं की हत्या/विकलांग बनाना), 429 (मवेशियों की हत्या/विकलांग बनाना) और पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 की धारा 11 (1) के तहत गिरफ्तार किया है। फ़िलहाल कुत्ते को उपचार के लिए भेज दिया गया है। 

केरल में हुई थी गर्भवती हथिनी की हत्या 

जून 2020 के दौरान केरल के पलक्कड़ में एक गर्भवती हथिनी को विस्फोटक पदार्थ खिला दिया गया था जिसके ऊपर गुड़ की परत थी। इसकी वजह से उसकी मृत्यु हो गई थी और इस घटना लेकर पूरे देश में काफी आक्रोश था। हथिनी की एक तस्वीर भी सामने आई थी जिसमें वह पानी के भीतर शांति से खड़ी थी और वह विस्फोटक पदार्थ की वजह से पल-पल तड़प कर मरी थी।

इस घटना के एक आरोपित पी विल्सन को गिरफ्तार किया गया था जो कि फसलों और मसालों की खेती करने वाली कंपनी का कर्मचारी का था। इस घटना के दो अन्य संदिग्ध अब्दुल करीम और उसका बेटा रियासुद्दीन जो उस कंपनी के मालिक थे वह काफी समय तक फ़रार बताए गए थे। आरोपित ने पूछताछ के दौरान बताया था कि उन्होंने जंगली सूअरों को डराने के लिए फलों के साथ पटाखों का जाल बिछाया था, क्योंकि वे फसलों का नुकसान कर देते हैं। केरल में यह प्रक्रिया बेहद आम है जिसके तहत जंगली सूअरों को डराने के लिए फलों में पटाखे या विस्फोटक पदार्थ रखे जाते हैं।        

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe