Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजएक महिला सहित पंजाब से 2 खालिस्तानी आतंकी गिरफ़्तार, हिंदूवादी नेता थे निशाने पर

एक महिला सहित पंजाब से 2 खालिस्तानी आतंकी गिरफ़्तार, हिंदूवादी नेता थे निशाने पर

गिरफ़्तार हुए खालिस्तानी आतंकियों की पहचान भी हो चुकी है। सुरिंदर कौर फरीदकोट की रहने वाली है। वह लुधियाना के किसी निजी अस्पताल में नर्स का काम करती थी। सुरिंदर कौर के साथी की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हुई है। वह होशियारपुर का रहने वाला है। वह दुबई में ड्राइवर का काम करता था।

पंजाब पुलिस के ऑपरेशन सेल ने दो खालिस्तानी आतंकियों को गिरफ़्तार किया है। इनमें एक महिला भी शामिल हैं। उसे लुधियाना से गिरफ़्तार किया गया, जहाँ वह बतौर नर्स कार्यरत थी। वहीं, दूसरी गिरफ़्तारी गुरदासपुर से हुई। करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने के कुछ ही दिन बाद हुई इन गिरफ़्तारियों ने ख़ुफ़िया एजेंसियों व सुरक्षा बलों को चौकन्ना कर दिया है। पाकिस्तान द्वारा करतारपुर साहिब में कई आपत्तिजनक चीजें लिखी जाने की बात सामने आई थी। पाक ने लिखा था कि भारत ने यहाँ बम गिराया। पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने जाने के पीछे पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई की साजिश होने की आशंका पहले ही जता चुके हैं।

जिन खालिस्तानी आतंकियों को गिरफ़्तार किया गया है, उनके निशाने पर कई हिन्दू नेता थे। इन्हें पंजाब में आतंकी गतिविधियों को बढ़ाने के लिए विदेश से फंड मिल रहे थे। हिंदूवादी नेताओं को इस्लामिक आतंकियों व कट्टरपंथियों द्वारा निशाना बनाए जाने की ख़बर भी आई थी। गुरदासपुर से गिरफ़्तार खालिस्तानी आतंकी ड्राइवर के रूप में काम करता था। दोनों मिल कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे, जिसमें हिंदूवादी नेताओं की हत्या भी शामिल थी।

गिरफ़्तार हुए खालिस्तानी आतंकियों की पहचान भी हो चुकी है। सुरिंदर कौर फरीदकोट की रहने वाली है। वह लुधियाना के किसी निजी अस्पताल में नर्स का काम करती थी। सुरिंदर कौर के साथी की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हुई है। वह होशियारपुर का रहने वाला है। वह दुबई में ड्राइवर का काम करता था। पंजाब पुलिस की साइबर क्राइम सेल इन दोनों पर कई दिनों से नज़र बनाए हुए थे। पुलिस ने बताया कि दोनों ही सोशल मीडिया के माध्यम से दोस्त बने थे और फेसबुक पर सक्रिय थे।

दोनों आतंकियों से पूछताछ भी की गई है। पूछताछ में उन्होंने स्वीकार किया है कि वो पंजाब में आतंकी गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए काम कर रहे थे। पंजाब पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि इन्हें विदेश में कहाँ से फंड मिल रहा था और कौन लोग इनकी मदद कर रहे थे। दोनों ही आतंकियों को अदालत ने दो दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

‘5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष’: PM मोदी ने हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन और 370 हटाने का किया जिक्र

हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन, आर्टिकल 370 हटाने का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने 5 अगस्त को बेहद खास बताया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,121FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe