Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजबिहार के छपरा से अगवा RJD नेता बरामद, इरफान और मोहम्मद आलमताब गिरफ्तार: बताया-...

बिहार के छपरा से अगवा RJD नेता बरामद, इरफान और मोहम्मद आलमताब गिरफ्तार: बताया- न जमीन दी-न पैसा लौटाया, इसलिए उठाया

बिहार पुलिस ने 15 मार्च को ट्वीट करके जानकारी दी कि सारण जिले में अपहृत हुए सुनील कुमार रॉय को सकुशल बरामद कर लिया गया है व इस मामले में संलिप्त 2 अपराधी गिरफ्तार हुए हैं।

बिहार के छपरा में सारण पुलिस ने अपहृत राजद नेता व रिटायर्ड वायु सेना के सैनिक सुनील राय को सकुशल ढूँढ निकाला है। सुनील राय का अपहरण 14 मार्च की तड़के सफेद स्कॉर्पियो में हुआ था। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान मोहम्मद इरफान और मोहम्मद आलमताब खान के तौर पर हुई है। पुलिस अब इस मामले में आगे की जाँच कर रही है।

स्कॉर्पियों में हुआ था अपहरण

14 मार्च की सुबह हुए इस अपहरण पर ऑपइंडिया ने आपको बताया था कि ये घटना मुफस्सिल थानाक्षेत्र के बाजार समिति के पास हुई थी। सुनील राय के पिता रामविलास राय ने मामले की जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि सुबह किसी ने उनके बेटे को फोन कर के बुलाया। इस कॉल के बाद तड़के लगभग 4 बजे सुनील अपने घर से निकल कर ऑफिस की तरफ गए थे। उसी समय सफेद रंग की स्कॉर्पियो गाड़ी वहाँ पहुँची। गाड़ी से कुछ लोग उतर कर सुनील को अंदर घसीटने लगे। सुनील ने काफी विरोध किया, लेकिन अपहरणकर्ताओं ने उनको अंदर खींच लिया। इसके बाद सभी स्कॉर्पियों से फरार हो गए।

अपहरण के पीछे ‘जमीन’ थी वजह, आरोपितों ने हत्या की साजिश रची थी

रामविलास राय का कहना था कि उनके बेटे से किसी की दुश्मनी नहीं है। हालाँकि पुलिस ने सुनील राय के सकुशल मिलने के बाद जो प्रेस नोट जारी किया है उसमें अपहरण के पीछे जमीन से जुड़ा केस बताया जा रहा है। प्रेस नोट में लिखा है कि पूछताछ में आरोपित मोहम्मद आलमताब ने बताया कि उन लोगों ने जमीन खरीदने के लिए 1 करोड़ 80 लाख सुनील राय को दिए थे। इनमें से 90 लाख रुपया बैंक से ट्रांसफर हुए थे और फिर बाकी का रुपया नगद दिया गया था। 

आरोपितों का कहना है कि राजद नेता ने न तो उन्हें जमीन दी और न दी पैसा वापस किया। इसी गुस्से में उन लोगों ने ये किडनैपिंग की। आरोपितों के अनुसार, उनका मकसद या तो सुनील राय से पैसा लेना था नहीं तो सुनील राय की हत्या करना था। इसके लिए उन्होंने साजिश बनाई हुई थी। इसी मकसद से उन्होंने सफेद स्कॉर्पियों से सुनील राय का अपहरण किया। पुलिस की एसआईटी टीम ने इस मामले में छापेमारी करते हुए घटना में प्रयोग होने वाली गाड़ी बरामद कर ली है। साथ ही उन्हें सुनील राय का क्षतिग्रस्त फोन भी मिला है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -