Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजलॉ स्टूडेंड का दावा मुस्लिम होने के कारण किया गया परेशान, फैकल्टी ने आरोपों...

लॉ स्टूडेंड का दावा मुस्लिम होने के कारण किया गया परेशान, फैकल्टी ने आरोपों से किया इनकार

खानम ने अपने ट्वीट में यह भी लिखा कि जब वो छात्र उसे टोपी पहनने के लिए मजबूर कर रहे थे और परेशान कर रहे थे तो वहाँ मौजूद पुरुष अध्यापकों ने इस तथ्य को नज़रअंदाज़ किया।

ट्विटर पर एक लॉ स्टूडेंट, उमाम खानम ने अपने साथी छात्रों और अपने फैकल्टी के सदस्यों के ख़िलाफ़ परेशान किए जाने संबंधी गंभीर आरोप लगाए। अपने ट्वीट्स में खानम ने दावा किया कि परेशान करने वाले छात्र शराब के नशे में थे।

खानम ने आरोप लगाया कि छात्रों ने उसे बीजेपी की टोपी पहनने के लिए मजबूर किया। इसी के लिए उसे परेशान किया गया क्योंकि खानम ने वो टोपी पहनने से इनकार कर दिया था। खानम ने अपने ट्वीट में यह भी लिखा कि जब वो छात्र उसे टोपी पहनने के लिए मजबूर कर रहे थे और परेशान कर रहे थे तो वहाँ मौजूद पुरुष अध्यापकों ने इस तथ्य को नज़रअंदाज़ किया।

इस मामले की जाँच करने पर चिंतित नेटिजन्स ने पाया कि उनके ट्वीट थ्रेड में जिन पुरुष अध्यापकों का उल्लेख किया गया है, वह मेरठ के दीवान लॉ कॉलेज के विभागाध्यक्ष थे। कॉमेडियन अहमद शरीफ के साथ रेड पिल्स पॉडकास्ट के साथ चाई के सह-होस्ट दुष्यंत दुबे ने H.O.D से संपर्क किया। दूबे की अंबुज शर्मा से फोन पर हुई बातचीत से पता चला कि ऐसा कुछ हुआ ही नहीं था। कॉल की रिकॉर्डिंग OpIndia.com द्वारा एक्सेस की गई है।

दुबे से बात करते हुए, शर्मा ने पुष्टि की कि खानम वास्तव में कॉलेज की छात्रा हैं और वह ख़ुद इस ट्रिप पर जाने वाले शिक्षकों में से एक था। उन्होंने यह भी दावा किया कि खानम के आरोप बेबुनियादी हैं उसका सच से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था।

एक अन्य व्यक्ति जिसने H.O.D से संपर्क किया। मधुर सिंह हैं जो हैंडल @ThePlacardGuy के तहत ट्वीट करते हैं। सिंह से बात करते हुए, शर्मा ने कहा, “नहीं, इसमें से ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। बच्चों ने एक ट्रिप का आयोजन किया इसलिए हम इनके साथ गए। बच्चों ने इस ट्रिप का आनंद लिया।” पुरुष फैकल्टी के वहाँ मौजूद होने के बावजूद पूरी बात को नज़रअंदाज़ करने की बात पर, शर्मा ने कहा,” अगर वह ऐसा कह रही है, तो वह ग़लत हैं।”

OpIndia.com ने भी शर्मा से मामले की जानकारी लेने के लिए संपर्क किया। शर्मा ने हमसे बात करते हुए पूरी घटना से इनकार किया और कहा कि वह इस मामले को देखेंगे जब वह कॉलेज में जाएँगे। उन्होंने इस बात से भी इनकार किया कि किसी छात्र ने शराब का सेवन किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,864FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe