Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजमजदूर शहजाद अंसारी ने 'रवींद्र' बन हिन्दू महिला से मंदिर में की शादी, सच्चाई...

मजदूर शहजाद अंसारी ने ‘रवींद्र’ बन हिन्दू महिला से मंदिर में की शादी, सच्चाई पता चलने पर मारपीट के घर से निकाला: स्टेशन पर रह रही

वहीं पर पीड़िता का एक रिश्तेदार भी काम करता था। उसी रिश्तेदार से नंबर लेकर शहजाद अंसारी ने महिला से फोन पर बातचीत करनी शुरू कर दी।

झारखंड के रहने वाले एक युवक पर आरोप लगा है कि उसने उत्तर प्रदेश आकर ‘लव जिहाद’ किया। उक्त मुस्लिम युवक ने 7 वर्ष पूर्व मंदिर में हिन्दू युवती से शादी की थी। ससुराल पहुँचने पर इसका पता चला कि लड़का मुस्लिम है। उक्त महिला इसके बाद मुस्लिम टोले से भाग कर गढ़वा में आ गई और न्याय की गुहार लगा रही है। उक्त मुस्लिम युवक गढ़वा जिले के सगमा प्रखंड के कुंबा खुर्द गाँव का रहने वाला है। उसने आजमगढ़ की युवती से हिन्दू रीति-रिवाज से शादी की थी।

लड़की 7 साल बाद अपने ससुराल पहुँची, तब उसे पता चला कि लड़का मुस्लिम है। इसके बाद मुस्लिम युवक ने हिन्दू महिला को घर से निकाल दिया, जिसके बाद वो बाहर दर-दर की ठोकर खाने के लिए मजबूर है। उपायुक्त रमेश घोलप के पास पहुँच कर महिला ने न्याय की गुहार लगाई है। बंशीधर नगर स्थित महिला थाना व पुलिस अधीक्षक के पास भी महिला ने शिकायत की थी। शहजाद अंसारी दिल्ली के क्रेशर प्लांट में मजदूरी करता था।

वहीं पर पीड़िता का एक रिश्तेदार भी काम करता था। उसी रिश्तेदार से नंबर लेकर शहजाद अंसारी ने महिला से फोन पर बातचीत करनी शुरू कर दी। जब वो महिला रिश्तेदार के पास जाती-आती थी, तब वो उससे बात भी करता था। मुलाकात होने लगी तो इसके 6 महीने बाद उसने मंदिर में शादी कर ली। शादी के 2 दिन बाद उसे गाँव ले गया, लेकिन कुछ दिन रहने के बाद पीड़िता अपने मौके लौट आई। शहजाद अंसारी भी पीड़िता के मायके में ही एक अलग कमरा लेकर रहने लगा।

शहजाद अंसारी करीब 8 वर्ष तक वैसे ही रहता रहा। क्रेशर प्लांट बंद होने के बाद वो वापस अपने गाँव लौट गया। जब पीड़िता उसके घर पहुँची तो वो मारपीट करने लगा। उसने भरण-पोषण के लिए पैसे देने भी बंद कर दिए। अप्रैल 2022 में महिला ने गढ़वा के एसपी से इसकी शिकायत की। अब वो गढ़वा रेलवे स्टेशन पर ही रह रही हैं। पिछले कुछ समय से ‘लव जिहाद’ कानून के तहत कई मामले दर्ज हुए हैं। फ़िलहाल केवल भाजपा शासित राज्यों में ही ऐसे कानून हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

‘3 घंटे में ख़त्म कर देंगे’: मुकेश अंबानी के परिवार को हत्या की धमकी, ‘रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल’ को 8 फोन कॉल्स के बाद मुंबई...

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन उद्योगपति मुकेश अंबानी के परिवार को जान से मारने की धमकी मिली है। मुंबई पुलिस ने शुरू की जाँच। आए थे 8 फोन कॉल्स।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe