लव-जिहाद: मोहम्मद रियाज़ ने सोनू बनकर की शादी, भेद खुलने पर दिया तीन-तलाक, 15 लाख लेकर फरार

लड़के का भेद तब खुला जब साल भर बाद लड़की ने बच्चे को जन्म दिया। नवजात के सर्टिफिकेट में आरोपित लड़के ने अपना असली नाम मोहम्मद रियाज़ ताजानी (पिता कादर ताजानी) लिखा। मुसलमान नाम देखते ही लड़की के पैरों तले ज़मीन खिसक गई।

छत्तीसगढ़ के भिलाई से लव-जिहाद की घटना सामने आई है। घटना को लेकर पुलिस में शिकायत करने वाली हिन्दू लड़की का आरोप है कि मोहम्मद रियाज़ के नाम के लड़के ने उसके साथ धोखा-धड़ी से शादी कर उसकी ज़िन्दगी बर्बाद कर दी।

लड़की ने मोहम्मद पर आरोप लगाया है कि उसने अपना नाम बदलकर उसे शादी करने के लिए राज़ी किया। कुछ समय बाद जब लड़की ने बच्चे को जन्म दिया तो उसे रियाज़ की सच्चाई पता चली। दरअसल मोहम्मद रियाज़ खुदको हिन्दू बताकर धीरे-धीरे लड़की के परिवार से करीबी बढ़ाने लगा। पीड़ित लड़की के मुताबिक शादी से पहले उसने अपना नाम रियाज़ नहीं सोनू ताजानी बताया था।

रियाज़ ने पीड़िता के पिता से कहा था कि उसके बाप ने दूसरी शादी कर ली और उसकी सौतेली माँ ने उसे घर से निकाल दिया है। पीड़ित लड़की के परिवार ने रियाज़ पर भरोसा किया, इसके बाद रियाज़ ने 6 जुलाई 2014 को लड़की से हिन्दू रीति-रिवाज के अनुसार शादी की।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

लड़के का भेद तब खुला जब साल भर बाद लड़की ने बच्चे को जन्म दिया। नवजात के सर्टिफिकेट में आरोपित लड़के ने अपना असली नाम मोहम्मद रियाज़ ताजानी (पिता कादर ताजानी) लिखा। मुसलमान नाम देखते ही लड़की के पैरों तले ज़मीन खिसक गई। इसके बाद रियाज़ उसे ओडिशा के उमरकोट जिला स्थित नवरंगपुर के अपने घर ले गया जहाँ पर रियाज़ और उसके परिवार वालों ने जबरन लड़की का धर्म परिवर्तन करवाया। उन्होंने उसका नाम शिरिन बानो रख दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लड़की का यह भी आरोप है कि उसका पति रियाज़ अक्सर उसके साथ मारपीट करता था। इस सबके बावजूद लड़की ने अपना परिवार बनाए रखने के लिए सब कुछ सहन किया। धीरे-धीरे रियाज़ के तेवर बढ़े तो वह लड़की के परिवार वालों पर भी इस्लाम स्वीकार करने का दबाव डालने लगा।

मोहम्मद रियाज़ ने पीड़िता के परिवार की मजबूरी का फायदा उठाने की भी पूरी कोशिश की। उसने लड़की के पिता से 15 लाख रुपए की माँग रख दी। बहाना दिया कि इस पैसे वह एक मकान खरीदेगा और उसे एक बिजनेस शुरू करना है। जब पीड़िता का परिवार उसकी यह माँग पूरी नहीं कर सका तो उसने 12 अक्टूबर 2019 को दूसरी शादी करने का हवाला देकर पीड़ित हिन्दू लड़की को तीन-तलाक दे दिया।

इस सम्बन्ध में पीड़ित महिला ने स्थानीय पुलिस और परिवार परामर्श केंद्र में अपनी शिकायत दर्ज कराई। पीड़िता का आरोप है कि इस मामले में रियाज़ के अलावा उसके परिवार के अन्य लोगों की भी अहम भूमिका थी। अपनी इस शिकायत में पीड़िता ने सभी परिवार वालों का ज़िक्र किया है। इनमें मोहम्मद रियाज़, उसके बाप अब्दुल कादर ताजानी, उसकी माँ ज़रीना ताजानी, भाभी शहनाज़, बहन फरजाना व रुबना के नाम शामिल हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,022फैंसलाइक करें
26,220फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: