Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजराजीव गाँधी की प्रतिमा पर पेट्रोल डालकर निहंग सिख ने लगाई आग, कॉन्ग्रेस नेता...

राजीव गाँधी की प्रतिमा पर पेट्रोल डालकर निहंग सिख ने लगाई आग, कॉन्ग्रेस नेता पग से साफ करते दिखे मूर्ति

घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी सामने आया। इसमें निहंग सिख रमनदीप सिंह अपने साथी सतपाल नवी के साथ प्रतिमा पर पेट्रोल डालते और आग लगाते नजर आ रहा है।

लुधियाना में पीरू बांदा मोहल्ला के पास एक पब्लिक पार्क में बुधवार (जुलाई 7, 2021) को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की प्रतिमा में आग लगाने के मामले में एक निहंग सिख समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया गया।

घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी सामने आया। इसमें निहंग सिख रमनदीप सिंह अपने साथी सतपाल नवी के साथ प्रतिमा पर पेट्रोल डालते और आग लगाते नजर आ रहा है। अपनी वीडियो में रमनदीप ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर शहर में कहीं भी उन्हें राजीव गाँधी की प्रतिमा दिखी तो वो इसी तरह उसमें आग लगा देंगे।

बता दें कि निहंग सिख ने यह हरकत कॉन्ग्रेस नेता गुरसिमरन सिंह मंड की एक घोषणा के बाद की, जिसमें उन्होंने राजीव गाँधी की और मूर्तियाँ शहर भर में लगवाने का ऐलान किया था। रमनदीप अपनी वीडियो में कहते सुनाई पड़ रहे हैं, “हम राजीव गाँधी की मौजूदा प्रतिमाओं को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं और वह (मंड) ऐसी और मूर्तियाँ और लगाने की बात कर रहा है… यह उसको जवाब है… राजीव गाँधी की हर प्रतिमा का यही हश्र होगा।”

सलेम तबरी थाना पुलिस ने इस मामले को आईपीसी की धारा आईपीसी की धारा 435 व 153ए, आईटी अधिनियम, संपत्ति अधिनियम के तहत दर्ज किया है। वहीं, कॉन्ग्रेस नेता मंड ने इस घटना के बाद भावुक होकर प्रशासन से आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग की है। वीडियो में दिख रहा है कि मंड अपनी सिर पर बंधे पग से राजीव गाँधी के बुत को साफ कर रहे हैं और राजीव गाँधी अमर रहें के नारे लगा रहे हैं।

साभार: सुरखब टीवी की वीडियो

उल्लेखनीय है कि साल 2018 में भी एक ऐसी घटना सामने आई है। उस समय यूथ अकाली नेता अध्यक्ष गुरदीप गोशा और मीतपाल दुगरी ने राजीव गाँधी की इसी प्रतिमा पर कालिख पोत दी थी। इसके बाद कॉन्ग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर उन्हें गिरफ्तार करवाया था। उस समय गुरदीप गोशा का कहना था कि 1984 में हुए कत्लेआम के कारण उनकी ओर से यह कदम उठाया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe