Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज3 बेटियॉं जो बनीं 'लाडली योजना' की प्रेरणा, उनका कन्यादान करेंगे CM शिवराज सिंह...

3 बेटियॉं जो बनीं ‘लाडली योजना’ की प्रेरणा, उनका कन्यादान करेंगे CM शिवराज सिंह चौहान: 1998 में लिया था गोद

तीनों बेटियों की शादी को लेकर बात करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि 1998 में जब वो इन लड़कियों को लेकर आए थे तो ये सभी ढाई-तीन साल की थीं। इनके अभिभावकों का पता नहीं था, इसलिए इनके लालन-पालन की जिम्मेदारी सेवाश्रम को दी गई थी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की गोद ली हुई तीन बेटियाँ प्रीति, राधा और सुमन की शादी आज (गुरुवार 15 जुलाई 2021) शाम को होगी। ये शादी विदिशा के सेवाश्रम में होगी। तीनों लड़कियाँ यहीं पर पली बढ़ी हैं। सीएम शिवराज अपनी पत्नी साधना सिंह के साथ तीनों बेटियों का कन्यादान करेंगे।

बुधवार को सीएम की बेटियों की हल्दी की रस्म थी, जिसको लेकर साधना सिंह पहले ही विदिशा पहुँच गई थीं। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी कभी भी पूरी नहीं होती है, क्योंकि ये बेटियाँ हैं और माँ इन्हें कभी भी अकेला नहीं छोड़ सकती है। वहीं, शादी का जायजा लेने के लिए शिवराज सिंह भी बुधवार को विदिशा पहुँचे।

1998 में तीनों को ढाई साल की उम्र में आश्रम में रखवाया था

रिपोर्ट के मुताबिक, तीनों बेटियों की शादी को लेकर बात करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि 1998 में जब वो इन लड़कियों को लेकर आए थे तो ये सभी ढाई-तीन साल की थीं। इनके अभिभावकों का पता नहीं था, इसलिए इनके लालन-पालन की जिम्मेदारी सेवाश्रम को दी गई थी। उन्होंने बताया कि साधना सिंह (सीएम की पत्नी) ने इन्हें बड़े ही लाड़-प्यार से पाला और दोनों मिलकर अपनी बेटियों का कन्यादान करेंगे।

सीएम ने कहा कि उन्होंने इन लड़कियों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए लगातार कोशिश किया। उन्होंने बताया कि उनकी बेटियों के भावी जीवनसाथी को लेकर संतोष है, साथ ही उनकी विदाई का दुख भी है। उन्होंने ये भी बताया कि ये शादी पूरे वैदिक रीति-रिवाजों के साथ होगी।

इससे पहले भी करा चुके हैं बेटियों की शादी

रिपोर्ट के अनुसार, सीएम शिवराज इससे पहले भी कई बेटियों का कन्यादान कर चुके हैं। उनकी एक गोद ली हुई बेटी भारती की शादी हो चुकी थी, लेकिन साल 2019 में हार्ट अटैक के कारण भारती की मौत हो गई। सीएम ने बताया है कि जब वो सांसद थे तब से वे बेटियों का विवाह करा रहे हैं। उनका कहना है कि वे अकेले एक सीमा तक कर सकते हैं, इसलिए मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने ‘मुख्यमंत्री लाडली योजना’ की शुरुआत की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -