Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजमध्य प्रदेश के 560 आदिवासी बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाएँगे सचिन तेंदुलकर, सीहोर...

मध्य प्रदेश के 560 आदिवासी बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाएँगे सचिन तेंदुलकर, सीहोर पहुँच कर बच्चों से की मुलाकात

560 आदिवासी बच्चों की पढ़ाई का जिम्मा उठाने की बात करते हुए कहा कि यह उनके माता-पिता की इच्छा थी के वो बच्चों के लिए कुछ करें, वो आज हमारे बीच होते तो ख़ुशी होती।

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर अब मध्य प्रदेश के आदिवासी बच्चों के लिए मसीहा बन गए हैं। सचिन ने एमपी के 560 आदिवासी बच्चों की पढ़ाई में होने वाले खर्च की जिम्मेदारी उठाई है। बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए सचिन ने एक NGO से हाथ मिलाया है।

मंगलवार (16 नवंबर 2021) को सचिन तेंदुलकर ने ये फैसला किया है। खास बात ये है कि आज ही के दिन सचिन ने 2013 में क्रिकेट की दुनिया से संन्यास लिया था। एमपी के सीहोर जिले के दूरदराज के गाँवों में सेवा कुटीर बनाए एक एनजीओ के साथ मिलकर सचिन ने बच्चों की पढ़ाई का जिम्मा उठाया है। 

सचिन इंदौर से सड़क मार्ग से होते हुए देवास के जिले खातेगाँव के संदलपुर गए, जहाँ उन्होंने 560 आदिवासी बच्चों की पढ़ाई का जिम्मा उठाने की बात करते हुए कहा कि यह उनके माता-पिता की इच्छा थी के वो बच्चों के लिए कुछ करें, वो आज हमारे बीच होते तो ख़ुशी होती। संस्था ‘परिवार’ नामक एनजीओ बच्चों की पढ़ाई के लिए काम करती है।

बता दें कि सीहोर जिले के गाँव सेवनिया, बीलपाटी, खापा, नयापुरा और जामुन झील के बच्चों को अब तेंदुलकर फाउंडेशन की मदद से पोषक भोजन और शिक्षा मिल रही है। बच्चे मुख्य रूप से बरेला भील और गोंड जनजाति के हैं। जिनमें अधिकतर माध्यमिक शाला के छात्र हैं। सेवा कुटीर में छात्रों के भोजन का और शैक्षणिक सामग्री का विशेष ध्यान रखा जाता है।

ग्रामीण बताते हैं कि यहाँ छात्रों को प्रतिदिन दोनों समय भोजन, नाश्ता व पोषण आहार दिया जाता है। साथ ही सप्ताह में एक दिन विशेष भोज दिया जाता है। सेवनिया में करीब 30 बच्चे हैं। जिन्हें सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाती है। जानकारी के अनुसार सचिन ने प्रदेश के करीब 42 गाँवों में सेवा कुटीर बनाए हैं। जिनमें से सेवनिया और देवास जिले के बच्चों से मिलने वे खुद पहुँचे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CM केजरीवाल के घर से विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने उठाया: स्वाति मालीवाल की आई मेडिकल रिपोर्ट, आँख-चेहरा-पैर में चोट

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के पीए विभव कुमार को हिरासत में ले लिया है।

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -