Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजईद पर सारी अपील बेअसर: मुंबई में हजारों की संख्या में खरीददारी के लिए...

ईद पर सारी अपील बेअसर: मुंबई में हजारों की संख्या में खरीददारी के लिए निकले समुदाय विशेष के लोग, बेबस देखती रही पुलिस

भिंडी बाजार में बड़ी संख्या में ईद की ख़रीददारी के लिए निकले लोगों ने सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करने से इनकार कर दिया। उलेमाओं और मजहबी नेताओं से अपील करवाई गई थी कि मुस्लिम ईद की नमाज घर में ही पढ़ें और बाहर न निकलें। बावजूद इसके मुंबई में रोजदारों ने उनकी बातें नहीं सुनीं।

मुंबई में रविवार (मई 24, 2020) को ईद के कारण काफ़ी चहल-पहल रही। सोशल डिस्टेनिंग की जम कर धज्जियाँ उड़ाई गईं और बाजारों में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन का खुलेआम उल्लंघन किया गया। ईद की ख़रीददारी के लिए हज़ारों की संख्या में सड़कों पर उतरे और उन्होंने कोरोना संक्रमण के प्रसार का डर और भी बढ़ा दिया।

इसी तरह का नज़ारा भिंडी बाजार में देखने को मिला। ‘एबीपी न्यूज़’ की ख़बर के अनुसार, भिंडी बाजार में बड़ी संख्या में ईद की ख़रीददारी के लिए निकले लोगों ने सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करने से इनकार कर दिया। हालाँकि, उलेमाओं और मजहबी नेताओं से अपील करवाई गई थी कि मुस्लिम ईद की नमाज घर में ही पढ़ें और बाहर न निकलें। बावजूद इसके मुंबई में रोजदारों ने उनकी बातें नहीं सुनीं।

बता दें कि भिंडी बाजार में जब इतनी बढ़ी भीड़ जुटी थी, तब वहाँ पुलिस भी मौजूद थी। पुलिस की मौजूदगी में ही लोग बेख़ौफ़ ख़रीददारी करते रहे। ‘इंडिया टीवी’ के पत्रकार सुशांत सिन्हा ने बताया कि जब भिंडी बाजार में लोगों को लॉकडाउन और सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करने की सलाह दी जा रही थी तो उन्होंने कहा कि साल में एक बार तो ईद का त्योहार आता है, क्या वो ये भी न करें?

उन्होंने लिखा कि अगर लोग ज़िंदा रहे तो ईद हर साल आएगी लेकिन जब कोरोना ही हो गया तो क्या ईद की ख़ुशी बचेगी? विशेषज्ञों ने भी सलाह दी है कि इस बार ईद के मौके पर लोगों को गले मिलने से परहेज करना चाहिए और फ्लाइंग किस और फ्यिंग हैंड शेक के जरिए एक-दूसरे का अभिवादन स्वीकार करना चाहिए। ऑल इंडिया जमात फेडरेशन ने अपील की है कि इस बार नए कपड़े ख़रीदने की बजाए मुस्लिम परिवार ज़रूरतमंदों की मदद करें।

दुनिया भर में लोग ईद में बाहर न निकले की अपील कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका की मुस्लिम न्यायिक परिषद (MJCSA) ने यह कहते हुए मुस्लिमों को पारंपरिक सभाओं और समारोहों में शामिल होने के लिए सचेत किया है कि अगर इस ईद में दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया जाएगा तो संभावित रूप से यह महामारी दोगुनी गति से फैल सकती है।

इधर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ईद के मौके पर मस्जिद और ईदगाह खोलने के मामले में दखल देने से इनकार कर दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि पहले यूपी सरकार से मस्जिदें खोलने की अर्जी लगाई जाए, यदि वहाँ खारिज कर दिया जाता है, या फिर लटकाए रखा जाता है तभी वह हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सकते हैं। बिना सरकार को अर्जी दिए सीधे हाईकोर्ट में याचिका दायर नहीं की जा सकती। इस तरह से सीधे हाईकोर्ट आना ठीक नहीं है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -