Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजपुणे में जितने कोरोना संक्रमित उसके आधे भी नहीं देश के 24 राज्यों में,...

पुणे में जितने कोरोना संक्रमित उसके आधे भी नहीं देश के 24 राज्यों में, महाराष्ट्र के एक तिहाई केस यहीं से

फ़िलहाल पुणे सक्रिय मामलों के केस में देश का सबसे ज्यादा प्रभावित जिला बन गया है। महाराष्ट्र में इसके बाद ठाणे (36,174) और मुंबई (22,536) का स्थान है। ये महाराष्ट्र के टॉप-3 जिले हैं, जो फ़िलहाल कोरोना से सबसे ज्यादा बदहाल हैं।

पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण के आँकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में इस बात पर गौर करना आवश्यक है कि वो कौन से क्षेत्र हैं जहाँ संक्रमितों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है। अब तक के आँकड़े देख कर तो लगता है कि महाराष्ट्र के पुणे में कोरोना सबसे ज्यादा तबाही मचा रही है। भारत के कुल सक्रिय मामलों में से 30% महाराष्ट्र से ही हैं।

अगर पुणे की बात करें तो यहाँ से महाराष्ट्र के एक तिहाई मामले सामने आए हैं। पुणे में महाराष्ट्र के कुल 32.4% सक्रिय मामले हैं। इससे पता चलता है कि वहाँ कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है। पूरे महाराष्ट्र में कोरोना के 1,48,601 मामले हैं। इनमें से 48,180 अकेले पुणे में हैं।

अगर पिछले 5 दिनों की ही बात करें तो पुणे में क्रमशः 3606, 3187, 3381, 3088 और 3196 मामले सामने आए हैं। इस तरह से पिछले 5 दिनों में पुणे जिले में 16,000 से भी अधिक सक्रिय मामले हैं। अगर कुल संख्या की बात करें तो पुणे में अब तक कोरोना वायरस के 76,203 मामले सामने आए हैं। इनमें से 1793 लोगों की मौत हुई है।

दिल्ली में स्थिति सुधरने के बाद वहाँ कोरोना के 11,904 संक्रमित ही बचे हैं। ऐसे में फ़िलहाल पुणे सक्रिय मामलों के केस में देश का सबसे ज्यादा प्रभावित जिला बन गया है। महाराष्ट्र में इसके बाद ठाणे (36,174) और मुंबई (22,536) का स्थान है। ये महाराष्ट्र के टॉप-3 जिले हैं, जो फ़िलहाल कोरोना से सबसे ज्यादा बदहाल हैं। बता दें कि वहाँ शिवसेना-एनसीपी-कॉन्ग्रेस की संयुक्त सरकार है, जिसके सीएम उद्धव ठाकरे हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले (साभार: Covid19India)

महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है, जहाँ कुल 58,414 सक्रिय मामले हैं। कर्नाटक के बाद तमिलनाडु कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है, जहाँ कुल 53,703 सक्रिय मामले हैं। इसके बाद आंध्र प्रदेश का स्थान आता है, जहाँ 48,956 सक्रिय मामले हैं। इस तरह से भारत के 4 राज्यों को छोड़ दें तो बाकी सभी राज्यों में पुणे की आधी संख्या में भी कोरोना केसेज नहीं हैं।

इस तरह से पुणे में देश के कुल 10% कोरोना मामले हैं। भारत के 4 ही राज्यों में पुणे से ज्यादा मामले हैं, बाकी के 24 राज्यों में इसकी आधी संख्या में भी कोरोना मरीज नहीं हैं। उदाहरण के लिए उत्तर प्रदेश को ले लें तो वहाँ कोरोना के 23,921 कोरोना मामले हैं, जो पुणे के आधे (24,478) मामले से कम ही हैं। इसके और ठाणे के बाद बेंगलुरु अर्बन है, जहाँ कोरोना के 33,156 सक्रिय मामले हैं।

[सभी आँकड़े ‘Covid19India.Org‘ नामक वेबसाइट से लिए गए हैं (साभार)]

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe