Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाज'अपनी 12 बीघा जमीन PM मोदी को देना चाहती हूँ' - 85 साल की...

‘अपनी 12 बीघा जमीन PM मोदी को देना चाहती हूँ’ – 85 साल की बुजुर्ग महिला का ‘सीरियस’ वीडियो हो रहा वायरल

प्रधानमंत्री मोदी पेंशन देते हैं तो काम चलता है, इसलिए वह अपनी पूरी ज़मीन प्रधानमंत्री मोदी के नाम करना चाहती हैं। अपनी यह गुज़ारिश लेकर वह वकील कृष्ण प्रताप सिंह के चेंबर में गईं। समझाने के बाद भी अपनी बात पर अड़े रह कर उन्होंने...

हर राजनेता को समझने के दो सबसे बड़े पैमाने हैं, पहला उसकी लोकप्रियता और दूसरा उसकी स्वीकार्यता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इन दोनों ही मामलों में देश और दुनिया के तमाम नेताओं से कहीं आगे हैं। ताज़ा मामले में देश के प्रधानमंत्री की लोकप्रियता और स्वीकार्यता सामने आई है। उत्तर प्रदेश की 85 वर्षीय वृद्ध महिला अपनी पूरी संपत्ति प्रधानमंत्री के नाम करना चाहती हैं और इसके पीछे की वजह बेहद भावनात्मक है। 

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी की रहने वाली 85 वर्षीय बिट्टन देवी का कहना है कि उनके पति की कुछ समय पहले मौत हो चुकी है। उनके परिवार में दो बेटे और बहु हैं और वह उनका बिलकुल ध्यान नहीं रखते हैं।

बिट्टन देवी ने कहा कि सालों बीत गए लेकिन वह जानने का प्रयास तक नहीं करते हैं कि वह किस हालात में हैं और उनकी मूलभूत आवश्यकताएँ कैसे पूरी होती हैं। उनका जीवनयापन केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जा रही वृद्धा पेंशन से हो रहा है। यही वजह है कि वह अपनी कुल 12 बीघा ज़मीन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम करना चाहती हैं। 

पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर उनका वीडियो भी खूब चर्चा में बना हुआ है। इसमें वह साफ़ तौर पर कहती हुई नज़र आ रही हैं कि उनके पति की मृत्यु के बाद वह बहुत परेशान थीं। उनके बच्चे उनका बिलकुल ध्यान नहीं रखते हैं, प्रधानमंत्री मोदी पेंशन देते हैं तो काम चलता है, इसलिए वह अपनी पूरी ज़मीन प्रधानमंत्री मोदी के नाम करना चाहती हैं। अपनी यह गुज़ारिश लेकर वह मैनपुरी तहसील के अधिवक्ता कृष्ण प्रताप सिंह के चेंबर में गई थीं। 

उन्होंने अधिवक्ता से इस मुद्दे पर बात की और कहा कि वह 12 बीघा ज़मीन प्रधानमंत्री मोदी के नाम करना चाहती हैं। यह बात मौके पर मौजूद हर किसी के लिए हैरान करने वाली थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ अधिवक्ता और मौके पर मौजूद लोगों ने उन्हें समझाने का बहुत प्रयास किया लेकिन वह अपनी बात से पीछे हटने को तैयार नहीं थीं। 

अंत में अधिवक्ता ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह इस संबंध में जिलाधिकारी से बात करेंगे, तब कहीं जाकर बिट्टन देवी ने बात मानी। हालाँकि बुजुर्ग महिला अपनी बात पर टिकी हुई हैं और इस कारण से अधिवक्ता ने उन्हें दो दिन बाद वापस आने की बात भी कही है। फ़िलहाल बुजुर्ग महिला का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति स्नेह पूरे सोशल मीडिया पर चर्चा का कारण बना हुआ है।        

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चौटाला से मिल नीतीश पहुँचे पटना, कुशवाहा ने बता दिया ‘पीएम मैटेरियल’, बीजेपी बोली- अगले 10 साल तक वैकेंसी नहीं

कुशवाहा के बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता सम्राट चौधरी ने कहा कि अगले दस साल तक प्रधानमंत्री पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं हैं

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe