Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाज48 वर्षीय मैकेनिक शाहिद ने बच्चे को खाना खिलाया, काम सिखाया, तीसरे दिन से...

48 वर्षीय मैकेनिक शाहिद ने बच्चे को खाना खिलाया, काम सिखाया, तीसरे दिन से करने लगा यौन उत्पीड़न

मेडिकल जाँच के बाद पुष्टि हुई कि शाहिद ने बच्चे का यौन उत्पीड़न किया था। आरोपित ने पूछताछ में इस बात को स्वीकारा कि वो इससे पहले 5 और बच्चों का भी यौन उत्पीड़न कर चुका है।

बीते मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने एक लड़के के अपहरण और उसका यौन शोषण करने के आरोप में 48 वर्षीय एसी मैकेनिक मोहम्मद शाहिद को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वो इससे पहले भी कम से कम 5 बच्चों का यौन उत्पीड़न कर चुका है।

पुलिस के मुताबिक शाहिद दिल्ली में किराए पर रहते हुए एसी ठीक करने का काम करता है। इससे पहले बाल यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार होने पर उसके परिवार ने उसका साथ छोड़ दिया था और फिलहाल वह अकेला रहता था।

20 अगस्त को दर्ज हुई शिकायत पर पुलिस ने जाँच के बाद शाहिद को गिरफ्तार किया। इंडियन एक्प्रेस में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक एक अधिकारी ने बताया कि पीड़ित बच्चा अपनी माँ से डाँट खाने के बाद घर से बाहर गया था। जहाँ खाने की एक दुकान पर वो शाहिद से मिला। शाहिद ने बच्चे को खाने का लालच दिया और बाद में उसे अपने साथ अपने घर ले गया।

बच्चे ने बताया कि शाहिद शुरुआती दो दिन उसके साथ सामान्य रहा। यहाँ तक उसने लड़के को एसी ठीक करने का काम भी सिखाया, लेकिन तीसरे दिन से वह उसका यौन उत्पीड़न करने लगा।

इस बीच लड़के के घरवालों ने उसके गायब होने की सूचना पुलिस को दी और पुलिस भी घर जा जाकर बच्चे की फोटो दिखाकर सबसे उसके बारे में पूछताछ करने लगी। तलाशी अभियान के दौरान उन्हें इलाके में एक लड़का मिला जिसने बताया कि उसने बच्चे को शाहिद के घर पर देखा था। इस जानकारी के आधार पर पुलिस ने देर रात शाहिद के घर पर रेड मारी और उसे गिरफ्तार किया। बच्चे को तुरंत पुलिस ने अस्पताल में भर्ती करवाया, जहाँ मेडिकल जाँच के बाद पुष्टि हुई कि शाहिद ने बच्चे का यौन उत्पीड़न किया था। आरोपित ने पूछताछ में इस बात को स्वीकारा कि वो इससे पहले 5 और बच्चों का भी यौन उत्पीड़न कर चुका है।

उल्लेखनीय है कि प्राप्त जानकारी के अनुसार मोहम्मद शाहिद पर 1996 से अब तक 8 मामले दर्ज हैं, जिसमें लड़के/ लड़कियों के बलात्कार के 6 मामले और एक हत्या की कोशिश का मामला दर्ज है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,173FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe