Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजश्रीकृष्ण की वेशभूषा में आया पर्यटक, ताजमहल में नहीं मिली एंट्री: ASI और सुरक्षाकर्मियों...

श्रीकृष्ण की वेशभूषा में आया पर्यटक, ताजमहल में नहीं मिली एंट्री: ASI और सुरक्षाकर्मियों ने रोका

अधीक्षण पुरातत्वविद् डॉक्टर वसंत कुमार स्वर्णकार ने कहा कि ताजमहल समेत ASI द्वारा संरक्षित किसी भी स्मारक में प्रमोशन सम्बन्धी गतिविधियों की अनुमति नहीं है।

आगरा के ताजमहल में भगवान श्रीकृष्ण की वेशभूषा में आए एक व्यक्ति को एंट्री नहीं दी गई। जन्माष्टमी के त्योहार से 2 दिन पहले शनिवार (29 अगस्त, 2021) को उक्त पर्यटक ताजमहल स्मारक में पहुँचा था, लेकिन उसे अंदर जाने की अनुमति नहीं मिली। पश्चिमी दरवाजे से उसे वापस लौटा दिया गया। उक्त पर्यटक भगवान श्रीकृष्ण की वेशभूषा में अपने परिवार के साथ ताजमहल घूमने पहुँचा था।

लेकिन, उसे ताजमहल पर तैनात सुरक्षाकर्मियों व भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) के कर्मचारियों ने उसे रोक दिया। वहीं पर मौजूद एक गाइड ने उस पर्यटक की तस्वीर ले ली और वीडियो बना कर भी वायरल कर दिया। वायरल वीडियो में पर्यटक एंट्री न मिलने पर कहता नज़र आ रहा है कि कोई बात नहीं है. अब हमें ताजमहल नहीं देखना है। अधीक्षण पुरातत्वविद् डॉक्टर वसंत कुमार स्वर्णकार ने इस मामले पर बयान दिया है।

उन्होंने कहा कि ताजमहल समेत ASI द्वारा संरक्षित किसी भी स्मारक में प्रमोशन सम्बन्धी गतिविधियों की अनुमति नहीं है। उन्होंने कहा कि उक्त व्यक्ति श्रीकृष्ण की वेशभूषा में ताजमहल में प्रवेश कर के अपना प्रमोशन न करे, इसीलिए उसे रोका गया हो सकता है। उन्होंने कहा कि किसी अन्य के स्वरूप की वेशभूषा में किसी को ऐसे स्मारकों में एंट्री नहीं दी जाती। उन्होंने कहा कि ASI एक्ट के अनुसार ये परंपरा चल रही है और इसीलिए नई परंपरा शुरू नहीं की जा सकती।

ताजमहल में घूमने आए पर्यटकों की संख्या अब बढ़ रही है। कोरोना काल में पर्यटन ठप्प रहा था लेकिन शनिवार के दिन सैलानियों की बड़ी संख्या यहाँ पहुँची। 14,000 की पिछली संख्या को तोड़ते हुए इस बार 20,000 लोग इसके देखने के लिए पहुँचे। दिल्ली NCR और लखनऊ के लोग भी यहाँ पहुँचे। आगरा किले पर भी 4105 पर्यटक आए। दोपहर 12 बजे से शाम 6 बजे के बीच पर्यटकों की संख्या बढ़ी हुई नज़र आई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,474FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe