Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजगायों को बचाने के लिए अकेले ही जूझा गोपाल, तस्करों ने गोली मारकर की...

गायों को बचाने के लिए अकेले ही जूझा गोपाल, तस्करों ने गोली मारकर की हत्या

मृतक के परिजनों ने बताया कि गोपाल गौ रक्षक दल से जुड़े हुए थे। वह पहले भी कई गायों को तस्करों की पकड़ से छुड़ा चुके थे

हरियाणा के पलवल में सोमवार (जुलाई 28, 2019) की शाम करीब 7:30 बजे कुछ गो तस्करों ने एक गो रक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक का नाम गोपाल है और वह होडल थाना क्षेत्र के गाँव सोंदहद के निवासी थे। इसके अलावा सोशल मीडिया से प्राप्त जानकारी के मुताबिक वे तीन बच्चियों के भी पिता थे।

दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर के मुताबिक घटना के बाद मृतक के परिजनों ने बताया कि गोपाल गौ रक्षक दल से जुड़े हुए थे। वह पहले भी कई गायों को तस्करों की पकड़ से छुड़ा चुके थे। उन्हें सोमवार (जुलाई 29, 2019) को किसी ने सूचना दी थी कि कुछ लोग गाय की तस्करी कर रहे हैं। जिसके बाद अपनी बाइक लेकर निहत्थे ही वे गायों को बचाने के लिए तस्करों का पीछा करने लगे। परिणाम स्वरुप रास्ते का रोड़ा बनता देख गो तस्करों ने उन्हें गोली मार दी और वहीं उनकी मौत हो गई।

इस घटना के बाद गोपाल के शव को पलवल के अस्पताल ले जाया गया, जहाँ देखते ही देखते ही देखते बाहर भीड़ जमा हो गई। तनाव की आशंका देखते हुए अस्पताल के बाहर पुलिस को तैनात किया गया है। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में रखा और मामले की जाँच शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक आरोपितों को पकड़ने की कोशिश जारी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe