Friday, August 19, 2022
Homeदेश-समाजगाँव को सैनिटाइज कर रहे युवक को सैनिटाइजर पिलाकर मार डाला: 5 लोगों के...

गाँव को सैनिटाइज कर रहे युवक को सैनिटाइजर पिलाकर मार डाला: 5 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

मृतक का नाम कुँवरपाल है, जिसकी गाँव के ही इंद्रपाल के साथ हाथापाई हुई थी। इंद्रपाल पर सैनिटाइजर की कुछ बूँदें गिर गई थी, जिसके बाद वो बौखला गया और उसने कुँवरपाल पर हमला कर दिया।

उत्तर प्रदेश के रामपुर के पेमपुर गाँव में सेनिटाइजेशन के लिए पहुॅंचे एक युवक की हत्या की खबर सामने आई है। असामाजिक तत्वों ने उसके साथ मारपीट और गाली-गलौज की। फिर जबरन सैनिटाइजर पिला दिया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 304 (गैरइरादतन हत्या), 147 और 323 के तहत केस दर्ज किया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पेमपुर गाँव में उक्त युवक अपने साथी के साथ सैनिटाइज करने गया था। घटना मंगलवार (अप्रैल 14, 2020) की है।

मृतक का नाम कुँवरपाल है, जिसकी गाँव के ही इंद्रपाल के साथ हाथापाई हुई थी। इंद्रपाल पर सैनिटाइजर की कुछ बूँदें गिर गई थी, जिसके बाद वो बौखला गया और उसने कुँवरपाल पर हमला कर दिया।

इंद्रपाल ने पहले कुँवरपाल का मुँह दबाया। उसके बाद उसके मुँह में सैनिटाइजर डालने लगा। उसके मुँह को सैनिटाइजर से भर दिया। उसकी मौत शुक्रवार को उपचार के दौरान हो गई। एएसपी अरुण कुमार ने बताया कि मृतक के भाई ने पुलिस को घटना से अवगत कराया।

पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपित सहित कुल 5 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है। एएसपी ने अधिक जानकारी देते हुए बताया:

“मृतक के भाई ने हमें घटना के बारे में सूचना दी। उसने आरोप लगाया है कि जब मृतक 14 अप्रैल को मोतीपुरा गाँव में सेनेटाइजेशन करने गया था, तो कुछ बदमाशों ने उसे पीटा था। स्थानीय लोगों ने युवक को रामपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहाँ से डॉक्टरों ने उसे रेफर कर दिया। इसके बाद उसे मुरादाबाद जिले के टीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया। 17 अप्रैल को उसकी मृत्यु हो गई।”

ये सब तब हुआ है, जब उत्तर प्रदेश के ही मुरादाबाद में स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले के बाद 17 लोगों को जेल भेजा जा चुका है। ये घटना बुधवार (अप्रैल 15, 2020) की है, जब एक मेडिकल टीम हाजी नेब की मस्जिद के पास से मरीज के संपर्क में आए लोगों को क्वारंटीन करने के लिए लेने गई थी। लोगों ने एम्बुलेंस को घेर कर डॉक्टरों और मेडिकल कर्मचारियों की पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद योगी सरकार ने एक्शन लेते हुए एनएसए के तहत मामला दर्ज कर के गिरफ़्तारी सुनिश्चित की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कम बुद्धि वाला व्यक्ति भी समझ जाएगा’: पत्रकार ने कोयला आयात को लेकर फैलाया झूठ, बिजली के दाम बढ़ने का दिखाया डर तो मंत्रालय...

'बिजनेस स्टैंडर्ड' की सहायक संपादक ने कोयला आयात को लेकर झूठ फैलाया। बिजली के दाम बढ़ने का दिखाया डर। ऊर्जा मंत्रालय ने लगाई फटकार।

CBI की FIR में 15 नाम, टॉप पर मनीष सिसोदिया: सुबह से दिल्ली डिप्टी CM के घर जाँच एजेंसी, कार की भी तलाशी-मोबाइल और...

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर CBI ने रेड डाला है। अपने FIR में एजेेंसी ने सिसोदिया को शराब घोटाले का मुख्य आरोपित बनाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,315FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe