Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजपहले 70 घरों में आग… अब मुख्यमंत्री के काफिले पर गोलियाँ: मणिपुर में 2...

पहले 70 घरों में आग… अब मुख्यमंत्री के काफिले पर गोलियाँ: मणिपुर में 2 जवान घायल, टीमें जाँच में जुटीं; विजुअल्स सामने आए

सीएम जिरीबाम दौरे के लिए जाने वाले थे इसलिए उससे पहले सुरक्षाकर्मी वहाँ मुआयना करने गए थे। इसी दौरान उनके काफिले पर उग्रवादियों द्वारा अटैक किया गया। काफिले पर अचानक गोलियाँ चलीं और सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। ।

मणिपुर के जिरीबाम में हुई हिंसा के बाद अब मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के काफिले पर जानलेवा हमले की खबर है। सीएम के जेड श्रेणी के सुरक्षाकर्मियों पर ये हमला हुआ है। इस अटैक में दो सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराकर इलाज कराया जा रहा है।

घटना सोमवार (10 जून 2024) सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग-37 पर कांगपोकपी जिले के कोटलेन के पास टी लाइजांग गाँव में घटी। कहा जा रहा है कि सीएम कल चूँकि जिरीबाम दौरे के लिए जाने वाले थे इसलिए उससे पहले सुरक्षाकर्मी वहाँ मुआयना करने गए थे। इसी दौरान उनके काफिले पर उग्रवादियों द्वारा अटैक किया गया। काफिले पर अचानक गोलियाँ चलीं और सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। हमले के बाद मणिपुर पुलिस कमांडो और असम राइफल्स ने एक संयुक्त टीम बनाई है और अपराधियों का पता लगाने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

समाचार एजेंसी एएनआई ने कुछ विजुअल्स साझा किए हैं। इसमें घायल सुरक्षाकर्मी को अस्पताल में ले जाया जा रहा है। उनकी पीठ में पट्टी बँधी देखी जा सकती है। एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया, “सीएम बीरेन सिंह अभी दिल्ली से इंफाल नहीं पहुँचे हैं, जिले में स्थिति का जायजा लेने के लिए जिरीबाम जाने की योजना बना रहे थे।”

बता दें कि अभी हाल में मणिपुर के जिरीबाम इलाके में हिंसा हुई थी। वहाँ उग्रवादियों द्वारा 6 जून को दो पुलिस चौकियों और कम से कम 70 मकानों को आग लगा दी गई थी। बाद में स्थिति ‘तनावपूर्ण’ हो गए थे। इसी क्रम में मुख्यमंत्री को हालातों का जायजा लेने जाना था इसीलिए काफिला मुआएना के लिए निकला था। हालाँकि बीच रास्ते में ही काफिले पर अटैक कर दिया गया और 2 जवान घायल हो गए। ये जवाब सीआईडी राज्य पुलिस और सीआईएसएफ के हैं। इनमें एक घायल को इंफाल भेजा गया है। और दूसरी ओर हमला करने वालों के बारे में पता लगाने का प्रयास हो रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -