Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजलड़की बनकर मौसमदीन ने शिवसेना विधायक से माँगी मदद, फिर अश्लील वीडियो बनाकर करने...

लड़की बनकर मौसमदीन ने शिवसेना विधायक से माँगी मदद, फिर अश्लील वीडियो बनाकर करने लगा ब्लैकमेल, राजस्थान से गिरफ्तार

इससे पहले इसी माह में एक युवक ने खुद को गुजरात पुलिस का इंस्पेक्टर बताते हुए शिवसेना के ही विधायक सुनील प्रभु से पैसों की उगाही करनी चाही थी। पुलिस में शिकायत के बाद आरोपित राजस्थान के बीड से गिरफ्तार किया गया था।

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शिवसेना के एक विधायक को सेक्सटॉर्शन में फँसाने और ब्लैकमेल करने के आरोप में रविवार (21 नवम्बर 2021) की रात राजस्थान के सीकरी से एक ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपित का नाम मौसमदीन है। विधायक का नाम मंगेश कुडारकर है और वह मुंबई के कुर्ला विधानसभा क्षेत्र से शिवसेना के विधायक हैं। विधायक ने कुर्ला थाने में सेक्सटॉर्शन और ब्लैकमेलिंग की शिकायत की थी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तारी में राजस्थान के सीकरी थाने की पुलिस ने भी मदद की है। आरोपित को पकड़ने गए पुलिस टीम को ठग द्वारा लोकेशन बदले जाने का शक था, लेकिन वह अपने गाँव तेसकी में मोबाइल पर चैट करता पाया गया। मुंबई क्राइम ब्रांच मौसमदीन को अपने साथ मुंबई ले गई है। वहाँ इसके बाकी साथियों और रैकेट से जुड़े लोगों के बारे में पूछताछ की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, 20 अक्टूबर 2021 की रात मौसमदीन ने शिवसेना विधायक को एक मैसेज किया। उसने अपना परिचय एक महिला के रूप में दिया और अपनी मदद करने को कहा। MLA मंगेश ने बताया कि वो मदद के लिए तैयार हैं। थोड़ी ही देर बाद मंगेश को एक महिला ने वीडियो कॉल किया, जिस पर लगभग 15 सेकेण्ड बात भी हुई। इस कॉल के बाद आरोपित ने शिवसेना विधायक का अश्लील वीडियो एडिट कर के उन्हें ही भेज दिया।

इसके बाद मौसमदीन ने विधायक मंजेश से ठगी का प्रयास किया। सबसे पहले उसने 5 हजार रुपए की माँग की, जिसे विधायक ने फोन पे के माध्यम से दे दिया। इसके दूसरे दिन एक अन्य नंबर से फोन कर के मौसमदीन ने 11 हजार रुपए और माँगे। आखिरकार विधायक ने पुलिस में शिकायत की। शिकायत मिलने पर पुलिस ने आरोपित की तलाश शुरू कर दी। मौसमदीन की लोकेशन उसके द्वारा दिए गए फोन पे वाले नंबर से ट्रेस की गई। वह राजस्थान के भरतपुर के सीकरी में मिली। मुंबई पुलिस ने भरतपुर पहुँच कर स्थानीय सीकरी थाने से ट्रेस लोकेशन पर साथ चलने का प्लान बनाया था।

ऑपइंडिया ने शिवसेना विधायक मंजेश को सम्पर्क किया। फोन विधायक के पर्सनल असिस्टेंट ने उठाया। उन्होंने कहा कि उन्हें बहुत ज्यादा मालूम नहीं है, क्योंकि वो (आरोपित) पुलिस के पास है। जब उनसे पूछा गया कि क्या विधायक ने केस दर्ज करवाया था, तब उन्होंने “मालूम नहीं” का जवाब दिया। कुर्ला क्षेत्र के DCP कार्यालय में सम्पर्क किया गया तब वहाँ फोन नहीं उठा। इसी के साथ राजस्थान के सीकरी थाना प्रभारी ने फोन काट दिया।

गौरतलब है कि इससे पहले इसी माह में एक युवक ने खुद को गुजरात पुलिस का इंस्पेक्टर बताते हुए शिवसेना के ही विधायक सुनील प्रभु से पैसों की उगाही करनी चाही थी। पुलिस में शिकायत के बाद आरोपित राजस्थान के बीड से गिरफ्तार किया गया था। आरोपित का नाम निशांत उर्फ़ सनी परमार था। उस पर 35 से अधिक केस दर्ज थे, जिनमें अधिकतर ब्लैकमेलिंग से जुड़े हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -