Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजमेरठ में जुनैद समेत दर्जन भर कट्टरपंथियों ने किया हिंदू युवकों पर तलवार, चाकू,...

मेरठ में जुनैद समेत दर्जन भर कट्टरपंथियों ने किया हिंदू युवकों पर तलवार, चाकू, बेल्ट से हमला: 3 घायल, FIR दर्ज

जब मेरठ के मवाना जिले के मोहल्ला मुन्ना लाल निवासी राकेश का बेटा करण, अपने चौहान चौक, मोहल्ला काबलीगेट के दोस्तों शुभम और विशाल चौहान के साथ तहसील रोड स्थित मैदान में घूम रहे थे। तभी समुदाय विशेष के जुनैद (पुत्र फराहीम) समेत दर्जन भर युवक डंडे, हॉकी और चाकू और तलवार से लैस होकर वहाँ पहुँचे और तीनों हिंदू युवकों पर हमला कर दिया।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में खेल-खेल में दो संप्रदाय के बच्चों के बीच हुआ छोटा सा विवाद सांप्रदायिक हिंसा में तब्दील हो गया। मामूली घटना को लेकर समुदाय विशेष के लोगों ने तीन हिंदू युवकों पर हॉकी स्टिक, चमड़े की बेल्ट, तलवार और चाकू से हमला किया।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक मौके पर पहुँची पुलिस ने तीनों घायल हिंदू युवकों को सीएचसी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया और उनकी शिकायतों के आधार पर फरार संप्रदाय विशेष के युवकों के खिलाफ FIR दर्ज की।

जानकारी के मुताबिक सोमवार (अगस्त 10, 2020) की शाम मेरठ की तहसील रोड पर एक खेल के मैदान पर दोनों समुदायों से संबंधित कुछ बच्चे खेल रहे थे। इसी दौरान उनके बीच किसी बात पर मामूली बहस छिड़ गई थी। हालाँकि, इस लड़ाई को कुछ बुजुर्ग लोगों ने बैठकर सुलझा दिया था।

मगर बाद में जब मेरठ के मवाना जिले के मोहल्ला मुन्ना लाल निवासी राकेश का बेटा करण, अपने चौहान चौक, मोहल्ला काबलीगेट के दोस्तों शुभम (पुत्र देवेंद्र) और विशाल चौहान (पुत्र राजपाल) के साथ तहसील रोड स्थित मैदान में घूम रहे थे। तभी समुदाय विशेष के जुनैद (पुत्र फराहीम) समेत दर्जन भर युवक डंडे, हॉकी और चाकू और तलवार से लैस होकर वहाँ पहुँचे और तीनों हिंदू युवकों पर हमला कर दिया।

हमले में तीनों युवक विशाल, करण और शुभम घायल हो गए। सूचना पर एसओ सतीश कुमार पुलिस बल के साथ पहुँचे, लेकिन आरोपित तब तक फरार हो चुके थे। आरोप है कि इस दौरान कई राउंड फायरिग भी की। पीड़ित पक्ष की ओर से दो नामजद समेत दर्जन भर हमलावरों के खिलाफ तहरीर दी गई है।

हालाँकि, एसओ सतीश कुमार का कहना है तनाव जैसी बात नहीं है। फायरिग भी नहीं हुई है। आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जल्द गिरफ्तारी होगी। ऑपइंडिया ने मेरठ पुलिस के बयान लेने की कोशिश की, मगर संपर्क नहीं हो सका।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस पर भड़के उदित राज, नंगी तस्वीरें वायरल होने की चिंता: लोगों ने पूछा – ‘फोन में ये सब रखते ही क्यों हैं?’

पूर्व सांसद और खुद को 'सबसे बड़ा दलित नेता' बताने वाले उदित राज ने आशंका जताई कि पेगासस ने कितनों की नंगी तस्वीर भेजी होगी या निजता का उल्लंघन किया होगा।

कारगिल के 22 साल: 16 की उम्र में सेना में हुए शामिल, 20 की उम्र में देश पर मर मिटे

सुनील जंग ने छलनी सीने के बावजूद युद्धभूमि में अपने हाथ से बंदूक नहीं गिरने दी और लगातार दुश्मनों पर वार करते रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,222FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe