Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजमेरठ के सोतीगंज में कुख्यात कबाड़ी शाकिब की 3 करोड़ की संपत्ति जब्त: यूपी...

मेरठ के सोतीगंज में कुख्यात कबाड़ी शाकिब की 3 करोड़ की संपत्ति जब्त: यूपी पुलिस को 9 गाड़ियाँ और 6 घर मिले

शाकिब उर्फ गद्दू पेशेवर अपराधी है। उस पर दस मुकदमे पहले से दर्ज हैं। एक मामला उस पर पुलिस के ऊपर फायरिंग का भी दर्ज है। आरोपित गाड़ी की सीट काटने से लेकर कई गोरखधंधे में शामिल रहा है।

उत्तर प्रदेश में मेरठ (Meerut) के सोतीगंज (Sotiganj) इलाके से एक और कुख्यात कबाड़ी वाला धरा गया है। पुलिस ने बुधवार (12 जनवरी 2022) को शाकिब उर्फ गद्दू की करोड़ों की संपत्ति जब्त की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपित शाकिब के पास से 9 गाड़ियाँ और 6 आलीशान घर जब्त किए गए हैं।

बताया जा रहा है कि पुलिस ने अवैध कारोबार में लिप्त कुख्यात कबाड़ी शाकिब की संपत्ति देखी तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। हालाँकि, आरोपित के परिवार वालों और घर की महिलाओं ने एएसपी कैंट सूरज राय से अनुरोध किया कि वे उनके घर को जब्त ना करें। अगर उन्होंने ऐसा किया तो वे बेघर हो जाएँगी।

सोतीगंज में पुलिस कार्रवाई (साभार- अमर उजाला)

राय ने बताया कि महिलाओं के लिए राइट टू लाइफ के अंतर्गत एक घर को छोड़ा गया है। संपत्ति खाली करने के लिए आरोपित के परिवार को एक हफ्ते पहले नोटिस भी दिया जा चुका है। हम आदेश का पालन कर रहे हैं।

उन्होंने आगे बताया कि शाकिब उर्फ गद्दू पेशेवर अपराधी है। उस पर दस मुकदमे पहले से दर्ज हैं। एक मामला उस पर पुलिस के ऊपर फायरिंग का भी दर्ज है। आरोपित गाड़ी की सीट काटने से लेकर कई गोरखधंधे में शामिल रहा है। गद्दू की जब्त की गई संपत्ति की कीमत तीन करोड़ रुपए बताई जा रही है।

बता दें कि सोतीगंज में कुख्यात कबाड़ी वालों पर प्रशासन की कार्रवाई जारी है। दावा किया जा रहा था कि सोतीगंज में कबाड़ का खेल अब बंद हो चुका है, लेकिन ऐसा नहीं है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की हाउस टैक्स और शराब-बीयर पर टैक्स बढ़ाने की तैयारी, ₹9.5 करोड़ खर्च करके अमेरिकी फर्म से लिया ‘आइडिया’

जनता से किस तरह से पैसे उगाहा जाए, उसका 'आइडिया' देने के लिए एक अमेरिकी कंपनी को भी काम पर लगाया गया है

दिल्ली की अदालत ने ED के दस्तावेज पढ़े बिना ही CM केजरीवाल को दे दी थी जमानत, कहा- हजारों पन्ने पढ़ने का समय नहीं:...

निचली अदालत ने ED द्वारा केजरीवाल की गिरफ्तारी को 'दुर्भावनापूर्ण' बताया और दोनों पक्षों के दस्तावेजों को पढ़े बिना ही जमानत दे दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -