Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजनाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार: सरपंच के साथ...

नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार: सरपंच के साथ गाँव की महिलाओं ने देखा ‘तमाशा’, नहीं किया विरोध

पीड़िता के भाई ने दावा किया कि उनकी बहन को जब थूक चटवाया जा रहा था, तब गाँव का सरपंच भी मौके पर मौजूद था। कई महिलाएँ भी वहाँ मौजूद बताई जा रही हैं। इनमें से किसी ने भी मुश्ताक की इस हरकत पर कोई विरोध नहीं किया।

बिहार के पूर्णिया में एक नाबालिग हिन्दू लड़की को थूक चटवाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि बच्ची की खम्बे में बाँध कर पिटाई भी की गई है। इस मामले में मोहम्मद मुश्ताक को आरोपित बनाया गया है। शिकायत में बताया गया है कि मुश्ताक ने बच्ची पर बेर चुराने का आरोप लगा कर उसे बाँस से फट्टे से दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। शिकायत लेकर जाने पर मुश्ताक के परिजनों द्वारा घटना पर पर्दा डालने का प्रयास किया गया। पुलिस ने FIR दर्ज कर के बुधवार (21 फरवरी 2024) को आरोपित को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया है। घटना सोमवार (19 फरवरी 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना बायसी थानाक्षेत्र की है। पीड़िता बच्ची के परिजनों ने यहाँ शिकायत दर्ज करवाई है। बच्ची ने बताया कि 19 फरवरी को वह लगभग 15 अन्य छात्र-छात्राओं के साथ स्कूल जा रही थी। तभी रास्ते में एक बेर का पेड़ था, जिसमें कोई और लड़का बेर तोड़ रहा था। जब पीड़िता स्कूल में घुसने ही वाली थी, तभी वहाँ गेट के पास मोहम्मद मुश्ताक पहुँच गया। मुश्ताक ने बच्ची की पिटाई की और बैगन के खेत में ले जाकर कई लोगों के आगे उससे थूक चटवाया। पीड़िता ने कहा कि वो मुश्ताक का पैर पकड़ कर गिड़गिड़ा रही थी और खुद को छोड़ने की गुहार लगाती रही लेकिन उसे कोई फर्क नहीं पड़ा।

पीड़िता के साथ मौजूद एक अन्य छात्रा ने भी मुश्ताक की करतूत बताई है। छात्रा ने बताया कि पिटाई से पहले मुश्ताक ने बाँस लेकर बच्चों को काफी दूर तक दौड़ाया। बच्चे ज्यादा दूर तक भाग नहीं पाए तो मुश्ताक ने उन्हें पैरों से भी मारा।

पीड़िता के भाई ने दावा किया कि उनकी बहन को जब थूक चटवाया जा रहा था, तब गाँव का सरपंच भी मौके पर मौजूद था। कई महिलाएँ भी वहाँ मौजूद बताई जा रही हैं। इनमें से किसी ने भी मुश्ताक की इस हरकत पर कोई विरोध नहीं किया। उन्होंने यह भी दावा किया कि जब वो सब मुश्ताक की शिकायत लेकर उसके घर गए, तब वहाँ बच्चियों को ही झूठा बताया जाने लगा।


पीड़िता के परिजनों ने पुलिस से आरोपित मुश्ताक पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। पूर्णिया पुलिस ने इस मामले में FIR संख्या 33/2024 के तहत मोहम्मद मुश्ताक को नामजद किया है। उस पर IPC की धारा 323, 341, 354 और 509 के तहत कार्रवाई की गई है। मुश्ताक को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया गया है। पूर्णिया पुलिस के मुताबिक आरोपित ने बच्ची को खम्बे में बाँध कर भी पीटा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -