Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजमोइन कुरैशी ने हिंदू लड़की से शादी से पहले धर्म नहीं बदलने का किया...

मोइन कुरैशी ने हिंदू लड़की से शादी से पहले धर्म नहीं बदलने का किया वादा, बाद में इस्लाम अपनाने के लिए करने लगा अत्याचार

नयना ने कहा कुरैशी ने उससे वादा किया था कि उसे इस्लाम में धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा और शादी के बाद भी हिंदू धर्म के अनुसार रह सकती है। पहले डेढ़ साल तक कुरैशी ने कुछ नहीं कहा, लेकिन उसके बाद चीजें बदल गई।

अहमदाबाद पुलिस ने मोइन कुरैशी नाम के युवक के खिलाफ उसी की पत्नी के शिकायत पर एफआईआर दर्ज किया है। पत्नी ने अपने शौहर के खिलाफ धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। कुरैशी की पत्नी नयना (बदला हुआ नाम) जन्म से हिंदू है। उसने बताया कि उसके पति ने शादी से पहले उससे वादा किया कि वह कभी भी उसे हिंदू धर्म छोड़ने और इस्लाम अपनाने के लिए मजबूर नहीं करेगा। लेकिन बाद में मोईन कुरैशी ने कथित तौर पर उसपर अत्याचार करना शुरू कर दिया और नयना पर इस्लाम धर्म कबूलने का दबाव डाला।

अहमदाबाद पुलिस ने उसकी शिकायत के आधार पर, मोइन कुरैशी के खिलाफ आईपीसी की धारा 498-ए और 294-बी के तहत मामला दर्ज किया है और मामले की जाँच शुरू कर दी है।

सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो में नयना बताती है कि उसके साथ वास्तव में क्या हुआ था। गुजराती में बोलते हुए, नयना कहती हैं कि शादी से पहले कुरैशी ने उससे अहमदाबाद के पॉश इलाके शाहीबाग में रहने का दावा किया था। लेकिन बाद में यह सामने आया कि कुरैशी दुधेश्वर नामक किसी इलाके में रहते था।

उसने आगे कहा कुरैशी ने उससे वादा किया था कि उसे इस्लाम में धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा और शादी के बाद भी हिंदू धर्म के अनुसार रह सकती है। पहले डेढ़ साल तक कुरैशी ने कुछ नहीं कहा, लेकिन उसके बाद चीजें बदल गई।

पिछले डेढ़ महीने से अपने माता-पिता के साथ रह रही हिंदू लड़की नयना ने कहा कि फरवरी 2017 में उसने मोइन से साथ कोर्ट मैरिज की थी। कुरैशी ने 2018 में रमज़ान के दौरान उसपर इस्लाम अपनाने के लिए दबाव डालना शुरू किया। इसके अलावा छोटी-छोटी बातों पर उसने झगड़े शुरू कर दिए।

वहीं 16 जनवरी, 2020 को उसके बेटे का जन्म हुआ तो कुरैशी ने नयना को अपने बेटे का हिंदू नाम रखने से मना कर दिया। नयना बताया कि बच्चे के जन्म के बाद उनका रिश्ता और अधिक तनावपूर्ण हो गया था। जब उसने अपनी समस्याओं के बारे में अपनी माँ से बात की तो उसे समझौता करने के लिए कहा गया। 23 जुलाई, 2020 को कुरैशी ने नयना और अपने बेटे को उसके माता-पिता के घर ले गया और उन्हें वहाँ छोड़ दिया। तब से नयना, अपने बेटे के साथ अपने माता-पिता के साथ रह रही है। नयना ने अपने पति पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए न्याय माँगा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतीय हॉकी का ‘द ग्रेट वॉल’: जिसे घेर कर पीटने पहुँचे थे शिवसेना के 150 गुंडे, टोक्यो ओलंपिक में वही भारत का नायक

शिवसेना वालों ने PR श्रीजेश से पूछा - "क्या तुम पाकिस्तानी हो?" अपने ही देश में ये देख कर उन्हें हैरत हुई। टोक्यो ओलंपिक के बाद सब इनके कायल।

अफगानिस्तान के सबसे सुरक्षित इलाके में तालिबानी हमला, रक्षा मंत्री निशाना: ब्लास्ट-गोलीबारी, सड़कों पर ‘अल्लाहु अकबर’

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के विभिन्न हिस्सों में गोलीबारी और बम ब्लास्ट की आवाज़ें आईं। शहर के उस 'ग्रीन जोन' में भी ये सब हुआ, जो कड़ी सुरक्षा वाला इलाका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,873FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe