Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाज'हर जगह नहीं हो सकती पुलिस': मुंबई में रेप पीड़िता की मौत के बाद...

‘हर जगह नहीं हो सकती पुलिस’: मुंबई में रेप पीड़िता की मौत के बाद बोले उद्धव के पुलिस कमिश्नर, प्राइवेट पार्ट में घुसा दिया था छड़

मुंबई के साकीनाका इलाके के खैरानी रोड पर दरिंदों की बर्बरता की शिकार हुई महिला ने तीन दिन बाद शनिवार (11 सितंबर) को घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में ‘निर्भया’ जैसी हैवानियत की शिकार हुई 30 वर्षीय महिला की मौत के बाद पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले के बयान से पूरे राज्य में आक्रोश है। मुंबई पुलिस कमिश्नर ने शनिवार (11 सितंबर) को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कंट्रोल रूम में कॉल मिलने के 10 मिनट के भीतर पुलिस मौके पर पहुँच गई। उन्होंने आगे कहा, ”घटना के समय पुलिस हर जगह नहीं हो सकती, लेकिन सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी महिला को फौरन अस्पताल ले गए।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एसीपी ज्योत्सना रसम के नेतृत्व में एक विशेष जाँच दल (एसआईटी) की टीम पीड़िता के साथ बलात्कार और उसकी हत्या की जाँच करेगी। वहीं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आदेश दिया है कि मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट होगी। उन्होंने कहा कि साकीनाका की घटना इंसानियत को शर्मसार करने वाली है।

वारदात को अंजाम देने वाले 45 साल के आरोपित मोहन चौहान को पुलिस ने घटना के कुछ ही घंटों बाद दबोच लिया था। आरोपित को 11 सितंबर को अदालत में पेश किया गया, जहाँ अदालत ने उसे 21 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है। CCTV फुटेज में खुलासा हुआ था कि वारदात को मुंबई के साकीनाका में देर रात 2.30 से 3 बजे के बीच अंजाम दिया गया था।

बता दें कि मुंबई के साकीनाका इलाके के खैरानी रोड पर दरिंदों की बर्बरता की शिकार हुई महिला ने तीन दिन बाद शनिवार (11 सितंबर) को घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। 9 सितंबर को 30 वर्षीय महिला खैरानी रोड पर बलात्कार के बाद बेहोशी की हालत में मिली थी। रेप करने के बाद दरिंदों ने पीड़िता को रॉड से पीटा फिर उसे उसके प्राइवेट पार्ट में डाल दिया। मौके पर पहुॅंची पुलिस ने खून से लथपथ महिला को अस्पताल पहुॅंचाया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe